scriptJail security tight, but ignored in colonies, guards don't even have I | जेल की सुरक्षा सख्त,लेकिन कॉलोनियों में अनदेखी, गार्डो के पास आईकार्ड तक नहीं | Patrika News

जेल की सुरक्षा सख्त,लेकिन कॉलोनियों में अनदेखी, गार्डो के पास आईकार्ड तक नहीं

सिमी आंतकियों में छह को फांसी की सजा सुनाए जाने के साथ जेल का आंतरिक व बाहरी व्यवस्था में बढ़ाई सख्ती।

भोपाल

Published: March 03, 2022 09:38:29 pm

भोपाल। अहमदाबाद सीरियल बम ब्लास्ट केस में गुजरात की अदालत के फैसले के बाद भोपाल सेंट्रल जेल की सुरक्षा व्यवस्था मजबूत करने के लिए नये सिरे से विचार किया जा रहा है। सिमी आतंकी और अहमदाबाद सीरियल ब्लास्ट के मास्टरमाइंड सफदर नागौरी सहित अन्य दोषी भोपाल सेंट्रल जेल में बंद हैं। गुजरात की एक अदालत ने यहां बंद 10 कैदियों में से तीन को बरी कर 6 को फांसी की सजा और 1 को मौत तक उम्रकैद की सजा सुनायी है। अदालत के फैसले के बाद इन आतंकियों की सुरक्षा को लेकर सरकार की चिंता ही नहीं बड़ी है, बल्कि सोमवार को प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भोपाल में हाई लेवल मीटिंग ली गई। किसी भी क्षेत्र में होने वाले प्रायोजित घटना की जानकारी के लिए सीसीटीवी कैमरे व प्राइवेट सुरक्षा की मदद मिल की पत्थर साबित होती है, जबकि मामले की गंभीरता तो समझते हुए पुलिस व प्रशासन की संख्ती के बाद जेल से लगे रहवासी व व्यवसायिक क्षेत्र की पड़ताल की तो सामने आया कि यहां का सुरक्षा अमला अपडेट ही नहीं था। कई के पास इमरजेंसी नम्बर आई कार्ड तो दूर चल रही सख्ती की जानकारी तक नहीं थी। करीब चार जेल से भागे कैदियों की बाद व उनके एनकाउंटर की जानकारी उन्हे थी। वह बताते है कि आईटी पार्क व तालाब से लगी पगडंडी से निकलते हुए कैदी आचारपुरा की पहाड़ी तक पहुंच गए थे। जेल के सामने की उस पगडंडी का निरीक्षण किया तो वहां अब भी सन्नाटा रहता है। जेल के कैदियों को उस हिस्से में बागवानी के लिए जरूर ले जाया जाता है।
-बैठक में यह हुआ तय
सोमवार की बैठक में तय हुआ कि जेल में हॉटलाइन लगायी जाए, जो सीधे नजदीकी थाने में कनेक्ट रहेगी. जेल के बाहर की सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी भोपाल कमिश्नर को दी गई है. पुलिस यहां लगातार गश्त करेगी। अंडा सेल के लिए एक वॉच टावर बनाया जाएगा, ताकि आतंकी डायरेक्ट निगरानी में रहें। जेल के चारों तरफ इलेक्ट्रिक फेंसिंग लगायी जा रही है। यहां एसएफ की चार सोलह की गार्ड तैनात की जाएगी। जेल कर्मियों के पुराने वायरलेस सेट बदले जाएंगे। भोपाल सेंट्रल जेल में नागौरी सहित सिमी के करीब 24 आतंकी बंद हैं।
bhopal_jail
जेल की सुरक्षा सख्त,लेकिन कॉलोनियों में अनदेखी, गार्डो के पास आईकार्ड तक नहीं
जेल के बाहर गश्त
प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मंत्रालय में जेल और पुलिस विभाग के अधिकारियों की हाई लेवल बैठक ली। इस बैठक में सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता करने के निर्देश दिए गए। जेल एडीजी की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई गई। यह कमेटी हर रोज सुरक्षा व्यवस्था की मॉनिटरिंग करेगी। इसके अलावा अंडा सेल की निगरानी पर भी जोर दिया गया. जेल कर्मियों को भी सुरक्षा के लिहाज से हाईटेक किया जा रहा है. स्थानीय पुलिस जेल के बाहर लगातार गश्त करेगी।
-भोपाल जेल में नागौरी सहित सिमी के करीब 24 आतंकी बंद हैं।
अभी भोपाल की जेल में सिमी के 24 आतंकी बंद हैं। इनमें से बम ब्लास्ट मामले में फांसी की सजा पाए सिमी के 6 आतंकी भी शामिल हैं। जिसमें ब्लास्ट का मास्टरमाइंड सफदर नागौरी भी इसी जेल में बंद है। भोपाल सेंट्रल जेल के अधीक्षक दिनेश नरगावे ने बताया कि सेंट्रल जेल में 5 साल पहले नागौरी को शिफ्ट किया गया था। सफदर नागौरी के साथ जेल में बंद शिवली, शादुली, आमिल परवेज, कमरुद्दीन नागौरी, हाफिज को भी फांसी की सजा मिली है. जबकि जेल में बंद सातवें आतंकी अंसाब को मरते दम तक जेल में रहने की सजा अदालत ने सुनायी है। तीन कैदी डॉक्टर अहमद मिर्जा बेग, यासीन और कामरान को बरी कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि सिमी के आतंकियों को हाई सिक्यूरिटी सेल में रखा गया है। नागौरी जेल की सख्ती की वजह से दूसरी जेल में शिफ्ट करने के लिए कोर्ट में पिटीशन भी लगा चुका है।
-सुरक्षा गार्डो का कहना
हादसे के समय १०० नम्बर के अलावा इमरजेंसी में किसी फोन किया जाएं, वह नम्बर सूची भी नहीं हमारे पास। सिक्युरिटी गार्ड के रूप में आईकार्ड भी हमारा नहीं बना है। अभी तक कोई पूछने नहीं आया है। जेल के सामने से नयापुरा गांव से होते हुए गोकुलधाम से होते हुए आईटी पार्क में जाने वाली ८० फीट सडक़ पर लाइट ही नहीं रहती है।
-राकेश यादव, सिक्युरिटी गार्ड गोकुलधाम
-करीब ११२ एकड़ में आईटी पार्क में अभी कुछ ही फैक्ट्रिया आई है। ११२ एकड़ में फैले क्षेत्र में सन्नाटा रहता है। गेट तो हम आने-जाने वालों को चेक करते है। वैसे अंदर आने के यहां कई रास्ते है। आईकार्ड हमारे पास है, नाम थोड़ा मिट गया है। इमरजेसी में डॉयल१०० के अलावा गांधी नगर थाने का नम्बर दिया है।
राकेश अहिरवार, सुरक्षा गार्ड, आईटी पार्क
-छह दिन पहले गांधी नगर से पुलिस द्वाराघाम की सुरक्षा इंतजाम व व्यवस्था की जानकारी के लिए आई थी। हमने एक पेज की पूरी जानकारी कॉलोनी के दे दी थी। इमरजेंसी में पुलिस ने नम्बर दिए थे। आईकार्ड अभी हमारे पास नहीं है।
-उदयचंद, सिक्युरिटी इंचार्ज, द्वारकाधाम कॉलोनी
इनका कहना
-सेंट्रल जेल के अंदर व बाहर सुरक्षा व्यवस्था मजबूत करने के निर्देश दिए गए है। सभी इंतजामों की लगातार समीक्षा की जा रही है।
मकरंद देउसकर, पुलिस कमिश्नर, भोपाल

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Gujarat News: जामनगर के होटल में लगी भयानक आग, स्टाफ सहित 27 लोग थे मौजूद, सभी सुरक्षितत्रिपुरा कांग्रेस विधायक सुदीप रॉय बर्मन पर जानलेवा हमला, गंभीर रूप से हुए घायलबांदा में यमुना नदी में डूबी नाव, 20 के डूबने की आशंकाCM अरविंद केजरीवाल ने किया सवाल- 'मनरेगा, किसान, जवान… किसी के लिए पैसा नहीं, कहां गया केंद्र सरकार का धन'SCO समिट में पीएम मोदी के साथ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की हो सकती है बैठकबिहारः 16 अगस्त को महागठबंधन सरकार का कैबिनेट विस्तार, 24 को फ्लोर टेस्ट, सुशील मोदी के दावे को नीतीश ने बताया बोगसझारखंड BJP ने बिहार के नए उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को गिफ्ट में भेजा पेन, कहा - '10 लाख नौकरी देने वाली फाइल पर इससे करें हस्ताक्षर'Karnataka High Court: एक्सीडेंट में माता-पिता की मौत होने पर विवाहित बेटियां भी मुआवजे की हकदार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.