शोभायात्रा में जय-जय गुरुदेव के जयघोष के साथ की अगवानी

चातुर्मास के लिए मुनि संभव सागर महाराज का मंगल प्रवेश

 

By: govind agnihotri

Published: 12 Jul 2021, 01:46 AM IST

भोपाल. जैन मुनि संभव सागर महाराज का ससंघ चातुर्मास राजधानी में होगा। रविवार को मुनि संघ की जैन समाज के श्रद्धालुओं ने बोर्ड ऑफिस चौराहे पर अगवानी की। इस मौके पर अगवानी शोभायात्रा निकाली गई, जिसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे।

बोर्ड ऑफिस चौराहे पर समाज के श्रद्धालुओं ने पाद प्रक्षालन कर मुनि संघ की अगवानी की। इसके बाद जय जय गुरुदेव के जयकारों के साथ अगवानी शोभायात्रा निकाली। शोभायात्रा बोर्ड ऑफिस चौराहे से प्रारंभ हुई जिसमें आस्था महिला परिषद की अध्यक्ष शोभा हाथी शाह की अगुवाई में महिला सदस्य हे स्वामी नमोस्तु, हे स्वामी नमोस्तु, वाद्य यंत्रों से गुरु भक्ति के गीत गा रही थी।

जिनालय का अवलोकन
सुसज्जित बग्घी में आचार्य विद्यासागर महाराज का चित्र स्थापित था। सुबल सन्मति दिव्य घोष शंकराचार्य नगर के युवा, जय अरहंत देव की, जय जिनेंद्र देव की, भक्तिमय स्वर लहरियों के साथ जयकारे लगा रहे थे। बोर्ड ऑफिस चौराहे से शोभायात्रा हबीबगंज जैन मंदिर पहुंची। यहां मुनि संघ ने भगवान आदिनाथ की प्रतिमा के दर्शन कर निर्माणाधीन सहस्त्रकूट जिनालय का अवलोकन किया।

कल्याण चाहते हो तो मैं और मेरेपन से ऊपर उठ जाओ
इस मौके पर आयोजित प्रवचन में मुनि निष्पक्ष सागर महाराज ने कहा कि स्वयं को एकता के सूत्र में बांधकर समाज और देश के प्रति उत्तरदायित्व का निर्वहन करे। जीवन में कल्याण चाहते हो तो मैं और मेरेपन से ऊपर उठ जाओ। एक से नहीं एकता से काम लो, जिससे काम कम हो। कोई काम छोटा या बड़ा नहीं होता, मन को विशाल करो।

govind agnihotri Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned