देश के इतिहास को बनाए रखने के लिए पक्ष-विपक्ष साथ काम करें: आचार्यश्री

देश के इतिहास को बनाए रखने के लिए पक्ष-विपक्ष साथ काम करें: आचार्यश्री

स्पीकर सीताशरण शर्मा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, डिप्टी स्पीकर राजेंद्र सिंह, संसदीय कार्यमंत्री नरोत्तम मिश्रा समेत कई मंत्रियों ने आचार्यश्री की अगवानी की

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में चातुर्मास कर रहे जैन मुनि आचार्य विद्यासागर जी महाराज ने गुरुवार को एक अनोखा काम किया। उन्होंने मध्य प्रदेश विधानसभा में नेताओं को प्रवचन दिए। प्रवचन में महाराज ने राज्य सरकार को शासन-प्रशासन के संचालन के नए सूत्र बताए।

उन्होंने कहा कि पक्ष-विपक्ष मिलकर राष्ट्रपक्ष को देखें। मिलकर काम करें, लोगों की भलाई का काम करें। अतीत को लेकर उन्होंने कहा कि हमें भारत का खोया हुआ अतीत वापस लाना होगा। उन्होंने कहा कि 70 साल में देश की जो उन्नति होनी चाहिए थी। इससे हम दोगुना पीछे रह गए। हमारे इतिहास को भुलाया जा रहा है। भारत लोकतंत्र का दुनिया में सबसे बड़ा देश है। पक्ष और विपक्ष इसके दो हाथ हैं। इसलिए दोनों कंधे से कंधा मिलाकर कार्य करें, ताकि भारत की प्रतिष्ठा बरकरार रहे। किसी राष्ट्र का विकास बिल्डिंग से उन्नत नहीं होता, बल्कि जहां पर संस्कृति जितने वक्त तक जीवित रहती है, यही राष्ट्र के विकास का सही परिचायक है। 

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश विधानसभा के स्पीकर सीताशरण शर्मा ने सोमवार को आचार्य श्री के पास पहुंचकर विधानसभा आने का आमंत्रण दिया था।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned