जीतू पटवारी के सरकार से सवाल

कालाबाजारी करने वाले गिद्धों पर सरकार रवैया नरम क्यों : जीतू पटवारी

 

By: Arun Tiwari

Published: 12 May 2021, 04:04 PM IST

भोपाल : कांग्रेस ने एक बार फिर कोरोना नियंत्रण को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस ने ऑक्सीजन,रेमडेसिविर समेत सभी जीवन उपयोगी दवाओं की कालाबाजारी करने वालों के प्रति सरकार की भूमिका पर सवाल खड़े किए हैं। कांग्रेस विधायक और मीडिया विभाग के अध्यक्ष जीतू पटवारी ने वर्चुअल प्रेस कान्फ्रेंस में सवाल उठाया कि लोगों की जान के साथ खेल रहे मौत के सौदागरों और कालाबाजारी करने वाले गिद्धों के प्रति सरकार का रवैया नरम क्यों है। जबलपुर का सरबजीत सिंह हो या उज्जैन का अभय विश्वकर्मा या फिर रतलाम का आरोपी, इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही। गृह मंत्री सुबह-सुबह सिर्फ मेकअप कर भाषण देते हैं। सरकार कोविड की चेन तोडऩे की बजाय मौतों की चेन बना रही है। नदी में शव बहते हुए मिल रहे हैं। पटवारी ने कहा कि हाईकोर्ट जज की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन हो जो रेमडेसिविर घोटाले की जांच करे। कैसे एक लाख नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बने और उनको बेचा गया। पटवारी ने सरकार पर भ्रम फैलाने का आरोप लगाते हुए सर्वदलीय बैठक की मांग की है। वहीं विधायक पीसी शर्मा ने चेतावनी दी है कि यदि व्यवस्थाएं नहीं सुधरीं तो वे कोरोना काल के बाद धरने पर बैठेंगे।

पटवारी के सरकार से सवाल :
-फंगल इंफेक्शन रोकने के लिए सरकार की क्या कार्ययोजना है।
- दवाई और इंजेक्शन की कमी पर सरकार क्या कर रही है।
- गांव में फैल रहे कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए सरकार का प्लान क्या है।
- कोरोना टेस्टिंग में कमी को लेकर कौन जिम्मेदार है।
-10 लाख जनसंख्या पर 50 हजार से ज्यादा टेस्ट की व्यवस्था कराने की मांग.
-कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर रोकने के लिए सरकार ने क्या तैयारी की है।
- टीकाकरण के लिए वैक्सीन की इतनी कमी क्यों।
-8 करोड़ 64 लाख वैक्सीन डोज की जरूरत के एवज में अब तक 90 लाख लोगों को ही लगाया गया वैक्सीन।
-क्या सरकार वैक्सीन की कमी पूरा करने के लिए करेगी ग्लोबल टेंडर।
-सरकारी लापरवाही के कारण कोरोना काल में हुई मौतों में पीडि़त परिवारों को 10-10 लाख का मुआवजा दिया जाए।
- निजी अस्पतालों में भारी बिल भरने वाले मरीजों को आयुष्मान योजना के तहत राशि दे सरकार और बिल की भरपाई करे।

Arun Tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned