50 लाख रुपए खर्च, बावजूद जर्जर हुआ घाट, चारों ओर फैली गंदगी

50 लाख रुपए खर्च, बावजूद जर्जर हुआ घाट, चारों ओर फैली गंदगी

jitendra yadav | Publish: Nov, 10 2018 10:34:08 AM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 10:34:09 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

कलियासोत छठ पूजा घाट: साल में एक बार होती है सफाई, नियमित रख-रखाव की कमी के साथ सुरक्षा का भी अभाव

भोपाल/ मंडीदीप । शहर की आस्था का केन्द्र कलियासोत नदी घाट पर बनाया गया छठ पूजा घाट धीरे-धीरे अपनी खूबसूरती को खो रहा है। घाट का अनियमित रख-रखाव और सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम नहीं होने से यह जगह-जगह से क्षतिग्रस्त हो चुका है। इसके अलावा यहां लोगों को बैठने के लिए लगाई गई बैंच भी असामाजिक तत्वों ने तोड़ दी है। घाट सहित आस-पास गंदगी के ढेर लगे हुए हैं। घाट की यह स्थिति देख लो गों में स्थानीय प्रशासन के प्रति नाराजगी देखने को मिल रही है।

नगर पालिका ने करीब चार वर्ष पूर्व कलियासोत नदी पर सर्वसुविधायुक्त छठ पूजा घाट का निर्माण कराया था। नपा ने इस पर करीब 50 लाख की भारी राशि खर्च की थी। नपा ने घाट पर छाया के लिए शेड,रोशनी के लिए खूबसूरत लाइटों के साथ लोगों के बैठने के लिए बैंचें लगाई थीं। लेकिन महज तीन साल में ही घाट पूरी तरह से अव्यवस्थित हो चुका है। नपा द्वारा यहां साल में एक बार छठ पूजा से पहले साफ-सफाई कराई जाती है। इसके बाद पूरे साल यहां गंदगी का वातावरण बना रहता है। सुकून की तालाश में आने वाले लोगों को यहां गंदगी का सामना करना पड़ता है।

पिकनिक स्पॉट के रूप में किया था विकसित
नगर परिषद ने कलियासोत नदी पर छठ पूजा घाट का निर्माण भोजपुरी समाज के आयोजन के अलावा एक पिकनिक स्पॉट के रूप में किया था। युवा विंध्य समिति के राममणि द्विवेदी बताते हैं कि नगर परिषद ने यहां इतना पैसा खर्च किया था, तो इसके रख-रखाव का इंतजाम भी करना चाहिए था। इससे शहर में लोगों को परिवार के साथ बैठने के लिए एक अच्छा स्थान मिल सकता था।

छठ पूजा पर आते 20 हजार से ज्यादा लोग
भोजपुरी समाज की ओर से प्रतिवर्ष दिवाली के बाद यहां छठ पूजा का आयोजन किया जाता है। जिसमें मंडीदीप के अलावा होशंगाबाद रोड की रहवासी कॉलोनियों से बड़ी संख्या में लोग पूजा करने यहां पहुंचते हैं। भोजपुरी समाज के सचितानंद सिंह बताते हैं कि नपा द्वारा यहां घाट बनाने से बड़े आयोजन को आयोजित किया जाता है, लेकिन घाट का रख-रखाव नहीं होने से यहां गंदगी का आलम है।

- नगर परिषद छठपूजा घाट के रख-रखाव के प्रति गंभीर है, अगर वहां कुछ अव्यस्थाएं है तो उन्हे जल्द ही ठीक करा लिया जाएगा।
राजेश श्रीवास्तव, सीएमओ नगर परिषद

- छठपूजा घाट का नियमित रखरखाव नहीं होने से सभी व्यवस्थाएं चौपट हो रही हंै, यहां गंदगी का वातावरण बना हुआ है। इससे यहां आने वाले लोगों को परेशानी होती है।

राकेश सिंह, अध्यक्ष त्योहार कमेटी भोजपुरी समाज

- हमारी परिषद ने भोजपुरी समाज की मांग को पूरा करते हुए सर्वसुविधायुक्त घाट का निर्माण कराया था, आगे रखरखाव की जिम्मेदारी वर्तमान परिषद की है।
पूर्णिमा जैन, पूर्व अध्यक्ष नपा

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned