मंत्रीजी के बिगड़े बोल, दिव्यांगों को कह दिया लंगड़ा-लूला और अंधा

कमलनाथ सरकार के जल संसाधन मंत्री हुकुम सिंह कराड़ा के बिगड़े बोल...।

 

भोपाल। कांग्रेस सरकार के मंत्री का विवादित बयान सामने आया है। उन्होंने दिव्यांगों के लिए जो कहा उसके बाद से वे ट्रोल हो रहे हैं। इधर, दिव्यांगों ने भी मंत्री से माफी मांगने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया।

15 साल बाद सत्ता में आई कांग्रेस सरकार के मंत्री ( kamal nath cabinet minister ) अपने बड़बोलेपन पर लगाम नहीं लगा पा रहे हैं। ताजा मामला मंदसौर का है। यहां कमलनाथ सरकार के जल संसाधन मंत्री हुकुम सिंह कराड़ा ( hukum singh karada ) के बोल उस समय बिगड़ पड़े जब वे किसान कर्ज माफी सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने दिव्यांगों के लिए लंगड़े-लूले और अंधे कहकर संबोधित कर दिया। उन्होंने सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कह दिया कि अंधे, लूले और लंगड़ों की पेंशन 300 से एक हजार रुपए कर दी। क्या यह काम गलत है।

 

मंदसौर में किसान को डांटा, सीतामऊ में दिव्यांगों को कहा अंधे, लुले, लंगडों की पेंशन राशि बढ़ाई

जल संसाधन मंत्री हुकुम सिंह कराड़ा मंदसौर जिले के प्रभारी मंत्री भी हैं। उन्होंने सीतामऊ में आयोजित किसान सम्मेलन को संबोधत करते हुए सरकार की अनेक उपलब्धियां गिनाई। इसी बीच विपक्ष पर हमला करते हुए उनके बोल बिगड़ गए ( controversial statements ) और दिव्यांग जनों को लंगड़े-लूले और अंधे कहकर संबोधित कर दिया।

 

यहां भी दिखे तेवर
मंत्रीजी के भाषण में आगे भी तेवर नजर आए। जब किसान सत्यनारायण ने नामांतरण न होने की समस्या बताई। तो उन्होंने किसान को चुपकरवाकर बैठा दिया। भाषण खत्म होने के बाद मंत्रीजी किसान पर भड़क गए। उन्होंने किसान से कहा कि तू वही है ना जो भाषण के दौरान बीच-बीच में बोल रहा था। यदि यह हरकत मेरे क्षेत्र में की होती तो वहीं जूते मारता। इस दौरान किसी ने मंत्रीजी का वीडियो बना लिया, जो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गया है।

 

भाजपा ने किया हमला
इधर, मंत्रीजी के इस तेवर पर भाजपा विधायक यशपाल सिंह सिसौदिया ने ट्वीट कर कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विकलांग पुकारे जाने वालों को निःशक्त, फिर दिव्यांग के नाम से पुकारकर सम्मान दिया है। मंदसौर जिले के प्रभारी मंत्री दिव्यांगों को लंगड़े-लूले और अंधे कहकर क्या संदेश देना चाहते हैं?


मंदसौर के दिव्यांगों ने किया प्रदर्शन
इधर, मंत्री के बयान के बाद जिले के दिव्यांग एकत्र होकर मंत्री के खिलाफ प्रदर्शन करने लगे। काफी देर तक वे मंत्रीजी के दिव्यांगों से माफी मांगने के नारे लगाते रहे। बाद में बड़ी मुश्किल से शांत हुए।

Kamal Nath
Show More
Manish Gite Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned