कांग्रेस में दो राय: सोनिया गांधी के पक्ष में कमलनाथ, दिग्विजय बोले- राहुल जिद छोड़कर बनें अध्यक्ष

दिग्विजय सिंह ने कहा- गांधी परिवार के बिना कांग्रेस की कल्पना नहीं की जा सकती।

By: Pawan Tiwari

Published: 24 Aug 2020, 08:44 AM IST

भोपाल. कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व में बदलाव की मांग के बीच आज कांग्रेस कार्य समिति की बैठक है। कहा जा रहा है कि इस बैठक में सोनिया गांधी पार्टी के अंतरिम अध्यक्ष का पद छोड़ सकती हैं। वहीं, मध्यप्रदेश कांग्रेस के दो दिग्गज नेताओं की राय अलग-अलग है। कांग्रेस का अध्यक्ष कौन होगा इसको लेकर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और दिग्विजय सिंह एकमत नहीं हैं।

दिग्विजय सिंह ने कहा कि सोनिया गांधी अगर कांग्रस का अंतरिम अध्यक्ष पद छोड़ना चाहती हैं तो राहुल गांधी को कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया जाना चाहिए। वहीं, कमलनाथ ने कहा है कि इस स्थिति में सोनिया गांधी को ही कांग्रेस का अध्यक्ष रहना चाहिए।

क्या कहा कमलनाथ ने?
पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा- मुझे इंदिरा गांधी जी, संजय गांधी, राजीव गांधी, सोनिया गांधी और राहुल गांधी के साथ काम करने का सौभाग्य मिला है। मुझे लगभग 40 वर्षों तक, लंबे समय के रूप में संसद सदस्य के रूप में कांग्रेस पार्टी की सेवा करने का सौभाग्य मिला है। मैं कई वर्षों तक अखिल भारतीय कांग्रेस पार्टी का महासचिव भी रहा। हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि सोनिया गांधी के खिलाफ तमाम झूठी अफवाहों के बावजूद उन्होंने 2004 में कांग्रेस पार्टी की जीत का नेतृत्व किया और अटल बिहारी वाजपेयी को घर पर बैठाया।

कमलनाथ ने कहा- सोनिया गांधी के नेतृत्व पर कोई भी सुझाव या आक्षेप बेतुका है। मैं सोनिया गांधी से अपील करता हूं कि वे अध्यक्ष के रूप में कांग्रेस पार्टी को मजबूती प्रदान करें और कांग्रेस का नेतृत्व करती रहें।


दिग्विजय सिंह- राहुल के समर्थन में
वहीं, मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने कहा- सोनिया जी का नेतृत्व सर्व मान्य है। यदि सोनिया जी कांग्रेस अध्यक्ष का पद छोड़ना ही चाहती हैं तो राहुल जी को अपनी ज़िद छोड़ कर अध्यक्ष का पद स्वीकार कर लेना चाहिए। देश का आम कांग्रेस कार्यकर्ता और किसी को स्वीकार नहीं करेगा। यह समय कांग्रेस को एक मत होने का है। मत भिन्नता का नहीं। जिस परिवार ने देश की आज़ादी और उसके बाद जो देश के लिए त्याग और बलिदान किया है वह सर्व विदित है। मीडिया में जो कुछ आ रहा है मैं उस से सहमत नहीं हूं। नेहरू गांधी परिवार के बिना कांग्रेस की मैं कल्पना भी नहीं कर सकता।

Congress Kamal Nath
Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned