कमलनाथ की दिल्ली में बढ़ेगी जिम्मेदारी

शीतकालीन सत्र में मिल सकता है कांग्रेस को नया नेता प्रतिपक्ष

अहमद पटेल के निधन का असर

 

By: Arun Tiwari

Published: 29 Nov 2020, 06:18 PM IST

भोपाल : कांग्रेस के चाणक्य और पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल के निधन के बाद कांग्रेस में कुछ बड़े बदलाव अपेक्षित हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की जिम्मेदारी बढ़ सकती है। कांग्रेस के अंदरखाने के सूत्रों की मानें तो सोनिया गांधी के करीबी और विश्वासपात्र होने के कारण कमलनाथ को एआईसीसी में विशेष जिम्मा सौंपा जा सकता है। अहमद पटेल के निधन से खाली हुई जगह को भरने के लिए कमलनाथ की विशेष भूमिका रह सकती है। कमलनाथ की भूमिका तय करने के लिए उनको दिल्ली भी बुला लिया गया है।

ऐसा माना जा रहा है कि प्रदेश अध्यक्ष के साथ-साथ वे एआईसीसी में भी प्रमुख भूमिका में रह सकते हैं। इसके लिए उनको दिल्ली में ज्यादा समय गुजारना पड़ सकता है। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को पहले ही आर्थिक मामलों से संबंधित समिति का सदस्य बनाया जा चुका है।

इसी सत्र में नया नेता प्रतिपक्ष :
कमलनाथ अभी प्रदेश अध्यक्ष के साथ नेता प्रतिपक्ष की भूमिका में भी हैं। उपचुनाव के बाद ऐसा माना जा रहा है कि वे एक पद छोड़ सकते हैं। कांग्रेस के सूत्रों की मानें तो कमलनाथ विधानसभा के इसी शीतकालीन सत्र में किसी और नेता को नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी सौंप सकते हैं। नेता प्रतिपक्ष के लिए डॉ गोविंद सिंह, सज्ज्र सिंह वर्मा और बाला बच्चन के नाम प्रमुखता से लिए जा रहे हैं। हालांकि इस संबंध में कोई खुलकर कुछ नहीं बोल रहा है। विधानसभा सत्र 28 दिसंबर से शुरु होगा। ये सत्र तीन दिन का रहेगा जिसमें विधानसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का निर्वाचन होगा। इस बारे मेंं कांग्रेस ने अभी फैसला नहीं लिया है। इसके अलावा प्रदेश के कुछ युवा विधायकों को राष्ट्रीय सचिव की जिम्मेदारी देकर दूसरे राज्यों का प्रभार भी दिया जा सकता है।
..........................

mp kamalnath
Arun Tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned