सिंधिया ने कर्जमाफी पर कमलनाथ सरकार को घेरा, कहा, वादा 2 लाख की कर्ज माफी का, लेकिन माफ सिर्फ 50 हजार

सिंधिया ने कर्जमाफी पर कमलनाथ सरकार को घेरा, कहा, वादा 2 लाख की कर्ज माफी का, लेकिन माफ सिर्फ 50 हजार
jyotiradity scindhiya

Harish Divekar | Updated: 11 Oct 2019, 01:06:16 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

कहा, वादा 2 लाख की कर्ज माफी का, लेकिन माफ सिर्फ 50 हजार

कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कमलनाथ सरकार को एक बार फिर सार्वजनिक तौर पर कटघरे में खड़ा करके अंदरुनी गुटबाजी को उजागर किया है। उन्होंने अपनी ही कांग्रेस सरकार पर किसानों की कर्जमाफी का वादा पूरा न करने का आरोप लगाया है। सिंधिया ने गुरुवार को भिंड में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि अभी सभी किसानों की कर्जमाफी नहीं की गई है। सिर्फ 50 हजार रुपये का कर्ज माफ किया गया, जबकि हमने 2 लाख रुपये तक का कर्ज माफ करने का वादा किया था। उन्होंने कहा कि हमें 2 लाख रुपए तक के किसान कर्ज को माफ करने का वादा किया था। उन्होंने कहा कि हमें 2 लाख रुपए तक के किसान कर्ज को माफ करना चाहिए, इससे हम पीछे नहीं हट सकते। सिंधिया ने कहा कि क्षेत्र के लिए सिंधिया परिवार अपनी जान की बाजी लगाने के लिए भी तैयार रहता है। यही मेरी जिंदगी की सबसे बड़ी पूंजी है।

सिंधिया ने कहा किसानों को चिंता करने की जरुरत नहीं है, मैं उनके हित के लिए सदैव लड़ा हूं और जिंदगी की आखरी सांस तक लड़ता रहूंगा। सिंधिया ने कहा कि
सरकार की जिम्मेदारी है कि संकट के समय में किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी रहे। इस सरकार की पहली जिम्मेदारी प्रदेश के अन्नदाताओं के प्रति है। साथ ही उन्‍होंने कहा कि मैंने मुख्‍यमंत्री कमलनाथ को भी कहा है कि बाढ़ से प्रभावित किसानों को राजस्व विभाग के नियमानुसार आठ से लेकर 30 हजार रुपये प्रति बीघा के हिसाब से मुआवजा मिलना चाहिए। राजस्व विभाग के साथ ही जिन बीमा कंपनियों ने अन्नदाताओं के खातों से बीमा के पैसे काटे हैं उन बीमा कंपनियों से भी मुआवजा राशि किसानों को मिलनी चाहिए।

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस ने मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले अपने वचनपत्र में किसानों का दो लाख रुपये तक का कर्ज माफ करने का वादा किया था. कमलनाथ ने राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही एक घंटे के भीतर किसान कर्जमाफी के आदेश पर हस्ताक्षर किए थे। इस योजना की प्रक्रिया शुरू हुई और किसानों से तीन रंग के अलग-अलग फॉर्म भरवाए गए। सरकार ने 55 लाख किसानों का कर्ज माफ करने का वादा किया था.
इससे पहले भारतीय जनता पार्टी मध्य प्रदेश की सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगा चुकी है। हालांकि एमपी सरकार की ओर से लगातार दावा किया जा रहा है कि अब तक 20 लाख से अधिक किसानों का कर्ज माफ किया जा चुका है। इन किसानों के कर्ज की 7000 करोड़ की राशि माफ की गई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned