scriptkamika ekadashi kamika ekadashi vrat kath kamika ekadashi vrat vidhi | kamika ekadashi 2021 घर—बंगला चाहिए तो इस तरह करें विष्णु पूजा | Patrika News

kamika ekadashi 2021 घर—बंगला चाहिए तो इस तरह करें विष्णु पूजा

कामिका एकादशी का व्रत रखने और पूजा करने से पितृ भी प्रसन्न होते हैं।

भोपाल

Published: August 04, 2021 10:12:00 am

भोपाल. सावन मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी कामिका एकादशी कही जाती है। इस दिन व्रत रखकर विष्णु पूजा का बहुत पुण्य लाभ होता है। इस दिन विष्णुजी की पूजापाठ तथा भजन-कीर्तन करने का विधान है। ज्योतिषाचार्य पंडित सोमेश परसाई बताते हैं कि इस व्रत के प्रभाव से कई यज्ञों का फल प्राप्त होता है। एकादशी तिथि पर स्नान आदि के बाद व्रत का संकल्प लेकर भगवान विष्णु की विधिपूर्वक पूजा करनी चाहिए।

kamika ekadashi kamika ekadashi vrat kath kamika ekadashi vrat vidhi
kamika ekadashi kamika ekadashi vrat kath kamika ekadashi vrat vidhi

Sawan 2021 रतलाम में भी विराजमान हैं महाकाल, उज्जैन मंदिर तक है गुफा

इस दिन विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ जरूर करना चाहिए। व्रत के अगले दिन द्वादशी पर जरूरतमंदों को भोजन और अन्न का दान करने के बाद व्रत पारण करना चाहिए। कामिका एकादशी पर व्रत रखनेवालों को एकादशी व्रत कथा जरूर सुनना चाहिए। पूजा के अंत में भगवान विष्णु की आरती करें और पूजन में अनजाने में हुई गल्तियां की क्षमा मांगे. इसके बाद अपनी मनोकामनाएं व्यक्त करें और विष्णुजी से इन्हें पूरा करने का आग्रह करें।

mahakal mandir live दर्शन के लिए एक किमी लंबी लाइन, सभी को करा रहे प्रवेश

कामिका एकादशी 4 अगस्त 2021
एकादशी तिथि प्रारंभ— 3 अगस्त को अपरान्ह 12.59 बजे से।
एकादशी तिथि समापन—4 अगस्त को अपरान्ह 3.17 बजे।
कामिका एकादशी व्रत पारण— 5 अगस्त को प्रात: 05.45 बजे से सुबह 08.26 बजे तक।

Sawan 2021 इस प्राचीन मंदिर में प्रकृति स्वयं करती है शिव का अभिषेक

खास बात यह है कि कामिका एकादशी का व्रत रखने और पूजा करने से पितृ भी प्रसन्न होते हैं। मान्यता है कि पितरों की प्रसन्नता से जीवन में सफलता प्राप्त होती है, हर प्रकार के कष्टों का नाश होता है और सुख समृद्धि प्राप्त होती है। पूर्वजन्म के पाप भी नष्ट हो जाते हैं। द्वापर युग में स्वयं भगवान कृष्ण ने पांडवों को एकादशी के महत्व के बारे में बताया था।

शिवलिंग को नुकसान पहुंचाने आए सैनिकों का नागों ने रोक लिया रास्ता

एकादशी तिथि भगवान विष्णु की प्रिय तिथि है। इस दिन विधिविधान से उनकी पूजा फलदायी साबित होती है। विष्णुजी संसार के पालक हैं, सभी सांसारिक सुखों के कारक हैं। घर—वाहन का सुख चाहनेवालों को विष्णुजी की पूजा अवश्य करना चाहिए। जिन्हें अपना मकान बनवाने, बंगला या फ्लैट आदि खरीदने की चाहत है, वे एकादशी पर विष्णु पूजा जरूर करें.

Sawan Somwar महाकाल का अनूठा श्रृंगार, दर्शन के लिए नियत किया यह समय

सुबह स्नान के बाद व्रत और विष्णुजी की पूजा का संकल्प लें। घर के पूजा स्थल या मंदिर जाकर विष्णुजी की पूजा करें. घी का दीपक जलाएं और विष्णुजी के विग्रह का स्नान, अभिषेक, पूजन करें. इसके बाद विष्णु सहस्त्रनाम स्तोत्र का पाठ करें. सहस्त्रनाम स्तोत्र के पाठ से विष्णुजी प्रसन्न होते हैं। दिनभर व्रत रखें या फलाहार करें और सात्विक आचरण करें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

उत्तर प्रदेश विधान परिषद चुनाव 2022 की डेट का ऐलान, जानें कितने सीटों के लिए और कब आएगा रिजल्टInternet Shutdown: कोई आपका इंटरनेट बंद कर दे तो क्या करेंगेमुस्लिम वोटों को लुभाने के लिए बसपा ने किया बड़ा खेल, बाकी हैरानPandit Jasraj Cultural Foundation: संगीत के क्षेत्र में भी होना चाहिए तकनीक और आईटी का रिवॉल्यूशन: PM Modiरेलवे भर्ती 2022: रेलवे में नौकरी का सुनहरा मौका, इन पदों पर सीधे इंटरव्यू के जरिए हो रही भर्तीमालिक की मौत के बाद भी ड्राइवर-नौकर बैंक खाते से निकालते रहे रकम!काशी विश्वनाथ मॉडल पर बनेगा महांकाल कॉरीडोर, सिंहस्थ-28 पर अभी से कामCovid-19 Update: महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,948 नए मामले, 103 मरीजों की मौत हुई।
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.