सुबह बिस्तर छोड़ने के बाद इन 3 में से कर लें 1 काम, पूरी तरह से बदल जाएगा नसीब

सुबह बिस्तर छोड़ने के बाद इन 3 में से कर लें 1 काम, पूरी तरह से बदल जाएगा नसीब
kismat chamkane ke upay

Astha Awasthi | Updated: 04 Jun 2019, 02:19:41 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

सुबह उठने के बाद जरूर करने चाहिए ये काम.....

भोपाल। जब भी कभी कुंडली के दोष और दुर्भाग्य जैसी बातें सामने आती है तो इस तरह की समस्या को दूर करने के लिए ज्योतिष में बताए गए कई उपाय आपकी सहायता करते हैं। जिन लोगों की कुंडली में नौ ग्रहों से संबंधित कोई दोष होता है, उन्हें देवी-देवताओं की कृपा भी नहीं मिल पाती है। इसकी वजह से कार्यों में असफलता मिलती है, भाग्य साथ नहीं देता, घर-परिवार में अशांति रहती है। कुंडली के दोष और दुर्भाग्य को दूर करने के लिए ज्योतिष में कई उपाय बताए गए हैं। ज्योतिष में बताए गए ज्यादातर उपाय सामान्यत नहाने के बाद ही किए जाते हैं, मगर कुछ ऐसे शुभ काम भी होते हैं जो बिना नहाए किए जा सकते हैं। आज आपको भोपाल शहर के पंडित जगदीश शर्मा ऐसे ही कुछ खास शुभ कार्यों के बारे में बताने जा रहे है जिनको सुबह उठने के बाद करने से आपकी भी किस्मत चमक जाएगी।

pandit ji

पहला उपाय

सुबह जागने पर सबसे पहले अपनी दोनों हथेलियों को देखना चाहिए। हाथों को देखते समय यह मंत्र बोलना चाहिए- कराग्रे वसते लक्ष्मी, करमूले सरस्वती, करमध्ये तू गोविंद प्रभाते कर दर्शनं। इस मंत्र से लक्ष्मी, सरस्वती और भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त होती है।

मंत्र-

कराग्रे वसते लक्ष्मीः करमध्ये सरस्वती।
करमूले तू गोविंद: प्रभाते करदर्शनम्॥

kismat chamkane ke upay

दूसरा उपाय

पलंग से पैर नीचे रखते समय भूमि माता से क्षमा मांगें। भूमि भी देवी हैं, इन्हें पैर लगने से हमें दोष लगता है। इस दोष को दूर करने के लिए धरती माता से क्षमा मांगनी चाहिए।

तीसरा उपाय

सुबह ब्रह्म मुहूर्त में उठें। ब्रह्म मुहूर्त यानी सूर्योदय से ठीक पहले। अगर ये संभव ना हो तो ज्यादा से ज्यादा 6 से 7 बजे तक जरूर उठ जाना चाहिए। इससे धर्म लाभ के साथ ही स्वास्थ्य में भी लाभ होगा।

मंत्र

ब्रह्मा मुरारिस्त्रिपुरान्तकारी भानुः शशी भूमिसुतो बुधश्च।
गुरुश्च शुक्रः शनि राहुकेतवः कुर्वन्तु सर्वे ममसुप्रभातम्॥

इस मंत्र का जाप करने से सभी देवी-देवता और नौ ग्रहों की कृपा मिलती है। इस मंत्र का अर्थ यह है कि ब्रह्मा, विष्णु, शिव, सूर्य, चंद्र, मंगल, बुध, बृहस्पति, शुक्र, शनि, राहु और केतु ये सभी मेरे प्रातःकाल यानी सुबह को मंगलमय बनाएं।

kismat chamkane ke upay

चौथा उपाय

स्नान करते समय सभी तीर्थों का और सभी पवित्र नदियों के नामों का जाप करना चाहिए। ऐसा करने से सभी तीर्थों में स्नान का पुण्य मिलता है।

पांचवां उपाय

घर के मंदिर में पूजा करनी आवश्यक है, तुलसी को जल चढ़ाएं, अगर संभव हो सके तो गाय को घास या रोटी खिलाएं।

छठा उपाय

स्नान के बाद साफ कपड़े पहनकर सूर्य को तांबे के लोटे से चल चढ़ाएं। जल चढ़ाते समय ऊँ सूर्याय नम: मंत्र का जाप कम से कम 11 बार करें।

सांतवां उपाय

घर से निकलने से पहले अपने माता-पिता का आर्शीवाद अवश्य लें। माता-पिता का आदर करने वाले लोगों को सभी देवी-देवताओं की कृपा मिलती है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned