scriptKnow when the peak of the third wave will come | जानिए कब आएगा तीसरी लहर का पीक, और खत्म हो जाएगी 'कोरोना महामारी' | Patrika News

जानिए कब आएगा तीसरी लहर का पीक, और खत्म हो जाएगी 'कोरोना महामारी'


-तीन दिनों में नए मरीजों की संख्या स्थिर
- वहीं पॉजिटिविटी रेट का बढ़ना खतरे का संकेत

भोपाल

Updated: January 20, 2022 05:01:58 pm

भोपाल। कोरोना की तीसरी लहर के दौरान नया वैरिएंट अजब खेल खेल रहा है। बीते तीन दिनों से शहर में नए मरीजों में 1 फीसदी से भी कम की वृद्धि हुई है, जबकि एक सप्ताह पहले हर दिन 15 से 20 प्रतिशत मरीज बढ़ रहे थे। विशेषज्ञों के मुताबिक अक्सर पीक के बाद मरीजों की संख्या कम होने लगती है। हो सकता है अब कोरोना के मरीजों की संख्या कम होने लगे। राजधानी में विशेषज्ञ कह रहे हैं कि वर्तमान में पॉजिटिविटी रेट लगातार बढ़ रही है, जो खतरे का संकेत है। ऐसे में लापरवाही से संक्रमण एक बार फिर तेजी से लौट सकता है।

7.png
corona

शहर में कोरोना वायरस की शुरुआत स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ हुई थी। उस दौरान विभाग में 200 से ज्यादा अधिकारी और कर्मचारी कोरोना से संक्रमित हो गए थे। कोरोना की तीसरी लहर में एक बार फिर स्वास्थ्य विभाग में संक्रमण पैर पसार रहा है। इधर, बीते तीन दिनों में स्वास्थ्य विभाग के करीब डेढ़ दर्जन कर्मचारी संक्रमित हो चुके हैं। इनमें आधा दर्जन डिप्टी डायरेक्टर लेवल के अधिकारी पॉजिटिव हुए हैं। यही नहीं कई कर्मचारी भी वायरस की चपेट में आ चुके हैं।

कोलार बना सबसे बड़ा हॉटस्पॉट

कोलार फिर राजधानी में सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बन गया है। राजधानी के आठ हजार एक्टिव केसों में से 34 फीसदी यानि 2643 सक्रिय मामले कोलार में हैं। दूसरे नंबर पर गोविन्दपुरा में 1856, बैरसिया में 1329, टीटी नगर में 926 सिटी सर्किल में 531, एमपी नगर में 649 और बैरसिया हुजूर के ग्रामीण क्षेत्र में 98 सक्रिय मामले हैं।

10 नर्सिंग स्टूडेंट्स मिले संक्रमित तो हॉस्टल से सबकी छुट्टी

बीएमएचआरसी के नर्सिंग कॉलेज में करीब 10 नर्सिंग स्टूडेंट्स की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद दूसरे छात्रों की छुट्टी कर घर भेज दिया गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बीएससी फर्स्ट ईयर और सेकंड ईयर के छात्र कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इन्हें बीएमएचआरसी में ही भर्ती किया गया है।

विभाग के हेल्थ बुलेटिन के अनुसार बीते तीन दिनों से मरीजों की संख्या 1340 के आसपास ही हैं। 16 जनवरी को जहां 1398 मरीज मिले थे, वहीं दो दिन में मरीजों की संख्या कम हो गई। हालांकि डॉक्टरों का यह भी कहना है कि शनिवार रविवार को जांचों की संख्या कम होती है।

11 मार्च तक महामारी खत्म

वहीं देश के कई महानगरों में दैनिक संक्रमण के मामलों में गिरावट के साथ ही कोरोना महामारी से मुक्ति की उम्मीद बढ़ गई है। आइआइटी कानपुर के वैज्ञानिक प्रोफेसर मणिंद्र अग्रवाल ने अपने गणितीय आकलन के आधार पर दावा किया है कि 23 जनवरी (रविवार) को देश में कोरोना की तीसरी लहर का पीक आ सकता है। दूसरी ओर आइसीएमआर के शीर्ष वैज्ञानिक समीरन पांडा ने अनुमान जताया है कि यदि कोई नया वेरिएंट नहीं आया तो 11 मार्च तक महामारी स्थानिक (एंडमिक) हो जाएगी। तीसरी तरफ, विश्व स्वास्थ्य संगठन के इमरजेंसी लैंड डॉ. मडकल रियान में विश्व आर्थिक मंच को महानग संबोधित करते हए उम्मीद जताई है कि इस साल महामारी के आपातकाल से मुक्ति मिल जाएगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

Amarnath Yatra: सभी यात्रियों का 5 लाख का होगा बीमा, पहली बार मिलेगा RIFD कार्ड, गृहमंत्री ने दिए कई अहम निर्देशवाराणसी कोर्ट में का फैसला: अजय मिश्रा कोर्ट कमिश्नर पद से हटे, सर्वे रिपोर्ट पर सुनवाई 19 मई को, SC ने ज्ञानवापी पर हस्तक्षेप से किया इंकारGyanvapi: श्रीलंका जैसे हालात दे रहे दस्तक, इसलिए उठा रहे ज्ञानवापी जैसे मुद्दे-अजय माकनCBI Raid के बाद आया केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम का बयान - 'CBI को रेड में कुछ नहीं मिला, लेकिन छापेमारी का समय जरूर दिलचस्प'कोरोना के कारण गर्भपात के केस 20% बढ़े, शिशुओं में आ रही विकृतिRajya Sabha polls: कौन है संभाजी राजे जिनको लेकर महाविकस आघाडी और बीजेपी में बढ़ा आंतरिक मतभेदतालिबान ने अफगानिस्तान में खत्म किया मानवाधिकार आयोग, कहा- 'गैर-जरूरी संस्थाओं के लिए फंड नहीं'Consumer Court का फैसला : पार्किंग के सात रुपए वसूले थे अवैध, अब निगम और ठेकेदार भुगतेंगे 8-8 हजार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.