जानिए... सिर पर पल्लू डाले महिला कार्यकर्ता क्यों चलाने लगी साइकिल

भोपाल में महिला कांग्रेस की नेता और कार्यकर्ताओं ने किया अनोखा प्रदर्शन, साइकिल पर सवार होकर निकलीं सड़क पर।

By: आसिफ सिद्दीकी

Published: 04 Jan 2018, 07:17 PM IST

भोपाल। कैबिनेट में पेट्रोल और डीजल के दामों की वृद्धि की घोषणा के बाद इसके विरोध की कमान महिला कांग्रेस ने थाम ली है। गुरुवार को राजधानी भोपाल में महिला कांग्रेस कार्यकर्ता साइकिलों पर सवार होकर निकली और डीजल—पेट्रोल के दामों की गई वृद्धि का विरोध किया। महिला कार्यकर्ता हाथों में तख्तियां लिए हुए थीं जिसमें सरकार विरोधी नारे लिखे हुए थे। महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं को इस तरह साइकिल पर सवार होकर विरोध प्रदर्शन करता देख शहर में कौतुहल का केंद्र बन गया। काफी देर तक महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने साइकिल पर ही सवार होकर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और डीजल—पेट्रोल पर की गई वृद्धि को खत्म करने की मांग की।

सिर पर पल्लू, पैर पैडल पर
रोशनपुरा चौराहे पर किए इस प्रदर्शन में उस समय रोचक स्थिति निर्मित हो गई जब महिला कार्यकर्ता सिर पर पल्लू रखकर साइकिल चलाने लगीं। इस कार्यकर्ता और पदाधिकारियों में कई नेता ऐसी थीं जो सिर पर पल्लू रखकर ही रहती हैं। ऐसे में प्रदर्शन के दौरान भी उनके सिर पर पल्लू नजर आए। इनमें से कुछ महिला कार्यकर्ता तो साइकिल चलाना तक नहीं जानती थीं। इस संबंध में सवाल पर वे बोलीं पेट्रोल और डीजल के दाम इसी तेजी से बढ़ते रहे तो एक दिन उन्हें साइकिल का ही सहारा लेना ही पड़ेगा। इसलिए प्रदर्शन के जरिए ही वे साइकिल पर हाथ आजमा रही हैं इससे दो काम हो जाएंगे विरोध का विरोध और प्रदर्शन का प्रदर्शन। वहीं कांग्रेस अब ऐसे ही प्रदर्शन प्रादेशिक स्तर पर भी करने जा रही है। अगर प्रदर्शन लगातार बढ़े तो सरकार के मुश्किल खड़ी हो सकती है।

इसलिए हो रहा विरोध
बुधवार को भोपाल में आयोजित कैबिनेट की बैठक में सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर 50 पैसा सेस लगाने का ऐलान किया। सरकार ने कहा है कि सेस का पैसा मध्यप्रदेश की सड़कों पर खर्च किया जाएगा। इधर, सेस लगाने का असर पेट्रोल-डीजल पर भी पढ़ेगा। इनके दाम बढ़ जाएंगे। राज्य सरकार के प्रवक्ता एवं मंत्री नरोत्तम मिश्र ने मीडिया को यह जानकारी दी थी। इस घोषणा के साथ ही प्रदेश में पेट्रोल—डीजल के दाम बढ़ाने का हर विरोध शुरू हो गया। आमजन ने तो घोषणा होते ही सोशल मीडिया के माध्यम से सरकार को घेरना शुरू कर दिया था।

आसिफ सिद्दीकी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned