ये हैं आपकी राशि के इष्टदेव, एक उपाय जो खोल देगा आपकी किस्मत

ये हैं आपकी राशि के इष्टदेव, एक उपाय जो खोल देगा आपकी किस्मत

Deepesh Tiwari | Publish: Sep, 09 2018 09:13:50 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

इष्ट आपके जीवन में मजबूती देने के साथ ही आपके भाग्यमें भी अत्यधिक भूमिका निभाता है...

भारत। ज्योतिष शास्त्र में जहां एक ओर ग्रहों का महत्व होता है, वहीं ग्रह स्वामी की स्थिति ही आपके सभी कार्यों को प्रभावित करने वाली मानी जाती है।
क्या आप जानते हैं कि चंद्र की स्थिति जहां आपकी राशि निर्धारण में मुख्य भूमिका निभाती है, वहीं आपकी राशि आपके इष्टदेव को निश्चित करती है।

पंडित सुनील शर्मा के अनुसार आपका इष्ट ही जहां एक ओर आपके जीवन में मजबूती देते है, वहीं आपके भाग्य के मामले में भी इनकी अत्यधिक भूमिका होती है।

इसी कारण माना जाता है कि जो लोग अपने इष्टदेव की पूजा-अर्चना कर उन्हें प्रसन्न रखते हैं उनका भाग्य बलवान होने के साथ ही कभी उनसे नहीं रूठता। लेकिन बात यहीं खत्म नहीं होती है मान्यता के अनुसार तो इष्ट ही आपकी तरक्की का रास्ता साफ करने के साथ ही उसे आसान भी बनते हैं।

ऐसे में यदि आप भी अपने भाग्य को लेकर परेशान हैं और अपने इष्ट देवता को प्रसन्न करना चाहते हैं। तो जानकारों के अनुसार आपको भी अपनी राशि के अनुसार इनकी पूजा करनी चाहिए इससे स्वास्थ और समृद्धि में वृद्धि के योग प्रबल हो सकते हैं।

ऐसे जाने अपने इष्टदेव...
1. मेष राशि
मेष राशि का स्‍वामी ग्रह मंगल है। ऐसे में हनुमानजी की पूजा के अलावा इस राशि के जातक सूर्य देव या फिर भगवान विष्णु को अपना इष्टदेव मानकर इनकी पूजा कर सकते है। ऐसा करने से हमेशा आपका कल्याण होगा।

2. वृषभ
इस राशि वालों की इष्ट देवी मां लक्ष्मी हैं, अत: इन्हें मां लक्ष्मी की पूजा करनी चाहिए। शुक्र की इस राशि वालों को देवी लक्ष्मी के साथ नारायण की नियमित पूजा से सुख-शांति की प्राप्ति होती है।

3. मिथुन
मिथुन राशि के व्यक्ति के इष्ट देव श्री गणेश हैं, अत: उनकी पूजा करें। वहीं कुछ लोग मां लक्ष्मी को ही इस राशि की इष्ट देवी भी मानकर पूजा करते हैं। गणेश जी की पूजा जहां किसी भी समस्या से बाहर आने में आपकी सहायता करेगी। वहीं मां लक्ष्मी से आपको भौतिक सुखों की प्राप्ति होगी।

4. कर्क
हनुमानजी इस राशि के इष्टदेव माने जाते हैं और घर की दक्षिण दिशा में पंचमुखी हनुमानजी की तस्वीर लगाएं। इनकी आराधना करने से आपकी कभी जीवन में असफलता नहीं मिलेगी और आपके आसपास हमेशा सकारात्मक ऊर्जा बनी रहेगी।

5. सिंह
आपकी राशि के स्वामी सूर्य है और आप गणेशजी को अपना इष्ट मानकर पूजन करना चाहिए। गणेशजी को इष्ट मानकर पूजा करने से आपके सारे विघ्न दूर हो जाएंगे। जीवन में कभी किसी चीज की कमी नहीं होगी।

6. कन्या
कन्या राशि के जातकों मां काली को अपना इष्टदेव मान सकते हैं, इनकी पूजा करना आपके लिए बहुत हितकर है। कन्‍या राशि के जातकों का स्‍वामी है बुध है। माना जाता है कि इस राशि के मां काली के इष्टदेव होने से कभी भी नकारात्मकता और असफलता और कभी कोई बुराई आपके आसपास भी नहीं आएगी।

7. तुला
इस राशि के जातक शिव का दूसरा रूप कालभैरव या शनिदेव को अपना इष्टदेव मान सकते हैं। इससे आपके जीवन में कभी कोई शत्रु आपको परेशान नहीं कर सकता है। जिसके इष्टदेव खुद शनिदेव हैं, उन्हें कभी किसी चीज की कमी नहीं होगी। समाज में आपको हमेशा मान-सम्मान मिलेगा। तुला के जातकों का राशि स्‍वामी शुक्र है।

8. वृश्चिक
वृश्चिक राशि के जातक कार्तिकेयजी को अपना इष्टदेव मान सकते हैं, हर रोज इनकी पूजा करने से आपके आत्‍मबल में बढ़ोतरी होने के साथ उसकी शक्तियों में इजाफा होता है। वृश्चिक राशि के जातकों का स्‍वामी मंगल है।

9. धनु
धनु राशि के जातक हनुमानजी को अपना इष्टदेव मान सकते हैं। इनकी पूजा करने से आपके साथ हमेशा मंगल ही मंगल होगा। धनु राशि का स्‍वामी गुरु होता है और गुरु को पीली वस्‍तुएं प्रिय होती हैं।

10. मकर
मकर राशि के जातक दुर्गाजी को अपना इष्टदेव मान सकते हैं। दुर्गाजी की पूजा करना इस राशि के लिए विशेष लाभकारी रहेगा। मकर राशि के स्‍वामी शनि हैं।

11. कुंभ
कुंभ राशि के जातक भगवान विष्णु या मां सरस्वती को अपना इष्टदेव मान सकते हैं। कुंभ राशि के व्‍यक्तियों का शनि स्‍वामी होता है। इससे आपके किसी भी काम में कोई बाधा नहीं आएगी। आपका जीवन हमेशा सुखमय रहेगा।

12. मीन
मीन राशि के जातक शिवजी को अपना इष्टदेव मान सकते हैं, साथ में हर पूर्णिमा को चांद को अर्घ्य जरूर दें। मीन राशि का स्‍वामी होता है गुरु। इससे आप और आपका परिवार नकारात्मक ऊर्जा से दूर रहते हैं। आपके किसी भी कार्य में कोई भी बाधा नहीं आता।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned