रात को सोते समय भूलकर भी अपने पास न रखें ये चीजें, साक्षात् मौत बुलाती है ये वस्तुएं, यहां पढ़ें पूरी खबर

Astha Awasthi

Publish: Dec, 07 2017 02:16:13 (IST)

Bhopal, Madhya Pradesh, India
रात को सोते समय भूलकर भी अपने पास न रखें ये चीजें, साक्षात् मौत बुलाती है ये वस्तुएं, यहां पढ़ें पूरी खबर

सोने से पहले जरूर देख ले कि ये चीजें आपके आस-पास न हो...

 

 

भोपाल। बदलती लाइफस्टाइल में नींद का समय पर न आना कोई बड़ी बात नहीं रह गई है। लोगों के जीवन में कई तरह के सुख और दुख हैं। जीवन में कई बार जब बुरा समय आता है तो हम कई बार अपने आप को शांत नहीं रख पाते है, जिसके कारण कई तरह की विपरीत परिस्थितियों का सामना भी करना पड़ता है। कहा जाता है कि व्‍यक्ति की दिन दशा उसकी दिनचर्या के अनुसार ही तय होती है। शास्‍त्रों के अनुसार कुछ नियम ऐसे है जिसे अगर आप नहीं मानते हैं तो आपका हर दिन बुरा बीतता है। ये नियम आपके रोज की दिनचर्या में आते हैं। आज हम आप को बताने जा रहे है की आप सोते समय ये गलतियां कभी भी न करें अथवा आपका जीवन बिखर सकता है और सुख चैन सब कुछ ख़त्म हो जाता है। आप रात को सोते समय कुछ चीजों को अपने पास रखते हैं जिससे आप नकारात्‍मक उर्जा को बुलावा देते हैं। ये चीजे ऐसी होती हैं जिनको पास रखने से सुख चैन सब खत्म हो जाता है तो कुछ ऐसी जो मौत को बुलाती हैं। कुछ वस्तु अगर आप सोने के वक़्त आप अपने पास रखते हैं तो आपकी मृत्यु भी हो सकती है। जानिए क्या हैं वे चीजें....

 

 

सिर के नीचे न रखें पानी

 

bhoot pret aatma in hindi

कभी भी रात को सोने से पहले पानी को सिरहाने पर न रखें। कहा जाता है कि सिर के नीचे पानी रखने पर चंद्रमा पीड़ित होता है। चंद्रमा पीड़ित होने पर व्यक्ति में नकारात्‍मकता बढ़ती है। इससे व्‍यक्ति को मनोरोग जैसी समस्‍याएं भी उत्‍पन्‍न होती है। इसलिए कभी भी रात को सोने से पहले अपने बैड के नीचे किसी भी बर्तन में पानी भरकर न रखें।

तकिए के नीचे न रखें पर्स


bhoot pret aatma in hindi

कई लोग रात को सोते समय अपने पर्स को अपने तकिए के नीचे रख देते हैं। लेकिन कहा जाता है कि ऐसा कभी भी नहीं करना चाहिए। ज्‍योतिष शास्‍त्रों में कहा गया है कि इससे घर पर अनावश्‍यक खर्च बढ़ता है साथ ही दुर्भाग्‍य भी जागता है।

सिरहाने पर न रखें जूते चप्‍पल


kya bhoot pret sach me hote hai

सिरहाने पर सोने चांदी के जेवरात नहीं रखना चाहिए भाग्‍य कमजोर पड़ जाता है और हर काम में असफलता मिलती है। साथ ही किसी भी धातु से बनी चाभी रखकर नहीं सोनी चाहिए इससे चोरी की संभावना बढ़ जाती है साथ ही सिरहाने पर जूते चप्‍पल को रखकर नहीं सोना चाहिए क्‍योंकि इससे बुरे सपने आते हैं।

न रखें तेल

 

kya bhoot pret sach me hote hai

ऐसी मान्यता है कि कभी भी रात को सोते समय सिरहाने के पास तेल रखने से मनुष्य का जीवन कठीनाईयों से भर जाता है और उसे कभी शांति नहीं नसीब होती है।

न रखें नमक

 

kya bhoot pret sach me hote hai

सोते समय सिरहाने के पास नमक रखने की गलती कभी नहीं करनी चाहिए क्योंकि बिस्तर और सिरहाने पर नमक रखकर सोने से रखने से रिश्तों में लड़ाई झगड़े बढ़ते हैं।

कभी न रखें झाड़ू

 

kya bhoot pret sach me hote hai

वास्तु के अनुसार सोते समय सिरहाने के पास कभी भी झाड़ू नहीं रखनी चाहिए। इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश आसान हो जाता है। साथ ही इससे धन और जन की हानि का खतरा बढ़ जाता है। इसके अलावा, इससे किस्मत भी इंसान से रुठ जाती है।

आटे की चक्की के पास न सोएं

 

kya bhoot pret sach me hote hai

कभी भी आटे की चक्की के पास नहीं सोना चाहिए। आटे की चक्की के पास सोने से मौत के सपने आते हैं। कहा जाता है कि चक्की गोल-गोल धूमती है जिसके कारण ये व्यक्ति के दिमाग में नकारात्मकाता को लाती है और सपने में मौत के दृश्य दिखाई देते हैं।

न रखें खाली लोटा

 

kya bhoot pret sach me hote hai

हम सभी ये बात अच्छी तरह से जानते है कि तांबे के बर्तन का पानी पीने से हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद है। इसका सेवन करने से आपको कई गंभीर बीमारियों से निजात मिल जाता है। तांबे के बर्तन में पानी रखने की शुरुआत अभी से नहीं प्राचीन काल से चली आ रही है। लेकिन आप जानते है कि अगर इस लोटे को बैड के नीचे खाली रख दे तो रात में अजीब से सपने आते है। इसलिए कभी भी तांबे के लोटे को बैड के नीचे खाली न रखें।

सपने में आई मौत

भोपाल में रहने वाले नवनीत सिंह बताते है कि उनके साथ सच में ऐसा हुआ है। कई बार उनको ऐेसे सपने आए है जिसमें उन्होंने अपनी मौत को देखा है। उनका कहना है कि रात में सपने में देखा की मेरी मौत हो गई है और लोग मुझे सपने में उठा कर ले जा रहे हैं। इसके बाद से मैं कभी भी अपने बैड के नीचे कुछ भी नहीं रखता हूं।

क्या भूत-प्रेत सच में होते हैं (kya bhoot pret sach me hote hai) -


भूत-प्रेत के नाम से एक अनजाना भय लोगों के मन को सताता है। इसके किस्से भी सुनने को मिल जाते है और लोग बहुत रुचि व विस्मय के साथ इन्हें सुनते है और इन पर बनें सीरियल, फिल्मे देखते है व कहानियां पढ़ते हैं। भूत-प्रेत का काल्पनिक मनः चित्रण भी लोगों को भयभीत करता है-रात्रि के बारह बजे के बाद, अंधेरे में, रात्रि के सुनसान में भूत-प्रेत के होने के भय से लोग डरते हैं।

परंपरागत तौर पर यही माना जाता है कि भूत उन मृतको की आत्माएं हैं, जिनकी किसी दुर्घटना, हिंसा, आत्महत्या या किसी अन्य तरह के आघात आकस्मिक मृत्यु हुई है। मृत्यु हो जाने के कारण इनका अपने स्थुल शरीर से कोई संबंध नहीं होता। इस कारण ये भूत-प्रेत देखे नहीं जा सकते। चूँकि हमारी पहचान हमारे शरीर से होती हैं और जब शरीर ही नहीं है तो मृतक आत्मा को देख पाना और पहचान पाना मुश्किल होता हैं। भूत-प्रेतों को ऐसी नकारात्मक सत्ताएं माना गया है, जो कुछ कारणों से पृथ्वी और दूसरे लोक बीच फंसी रहती हैं। इन्हे बेचैन व चंचल माना गाया है, जो अपनी अप्रत्याशित मौत के कारण अतृप्त हैं। ये मृतक आत्माएं कई बार छाया, भूतादि के रूप में स्थानों के पीछे लग जाती हैं, जिनसे जीवितावस्था में इनका संबन्ध या मोह था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned