कोरोना काल में उपजा भू माफिया, किसी ने घेरी थाने की जमीन तो किसी ने सरकारी जमीन पर काटे प्लॉट

- प्रशासन ने ऐसे 30 से ज्यादा माफियाओं पर कार्रवाई की, अब फिर से अपडेट हो रही सूची में 32 और सामने आए

 

भोपाल. कोरोना काल में एक और जहां बड़ी संख्या में आबादी महामारी से जुझ रही थी। वहीं भू माफिया अपने अलग ही काम में व्यस्त रहा। बाबू बंजारा नामक भू माफिया ने नगर निगम की तरफ से कोकता में थाने के लिए आरक्षित की गई सरकारी जमीन पर ही कब्जा कर दुकानें बना दीं। सेवनिया ओमकारा में माफिया शैतान सिंह ने चार एकड़ जमीन की घेराबंदी कर डाली। यही नहीं हुजूर तहसील में ही कई स्थानों पर पेड़ों को काटकर कब्जे की पहली स्टेज के अनुसार वहां तार फेंसिंग की गई। ऐसे एक नहीं करीब 30 से ज्यादा कब्जों को प्रशासन ने कोरोना की पहली और दूसरी लहर के बाद जमीदोज किया। इसके बाद भी सर्किलों में अपडेट हो रही सूची में 32 नाम और सामने आए हैं। जिनमें कार्रवाई होना शेष है। इसमें कुछ पुराने और कुछ नए माफिया के नाम शामिल हैं तो कुछ हिस्ट्रीशीटर भी हैं।

सरकारी जमानों को प्रशासन ने अब अलग से चिन्हित करना शुरू कर दिया है। जिससे सरकारी नक्शों पर वे अलग से देखी जा सकें। इसके बाद भी माफिया साठगांठ कर कोई न कोई रास्ता खोजकर अवैध कब्जा शुरू कर देता है। प्रशासन को इसके लिए सख्त मॉनीटरिंग सिस्टम भी बनाना होगा। ताकि ऐसे कब्जों को होने ही नहीं दिया जाए।

कोरोना की पहली लहर में हुए कब्जे
- 12 मार्च: चौपड़ा गांव में 12 एकड़ भूमि पर नूरिन रजा की तरफ से किए गए अवैध कब्जे को हटाया गया। इसी दिन कुख्यात सटोरिया जहूर के टीलाजमालपुरा स्थित अवैध मकान को ढहाया गया।

- 15 मार्च: पटटे की जमीन ही बेची: ग्राम मुगालिया कोट में 10 एकड़ पटेट की जमीन पर 270 अवैध प्लॉटिंग कर बेचा जा रहा था। शिकायत के बाद प्लॉटिंग को हटाया गया।
16 मार्च: थाने के लिए आरक्षित जमीन घेरी: ट्रांसपोर्ट नगर कोकता में ही नगर निगम की तरफ से आरक्षित की गई थाने की जमीन को ही साठगांठ कर भू माफिया बाबू बंजारा ने घेर लिया। कार्रवाई कर हटाया।

17 मार्च: सेवनिया ओमकारा में सेंट स्वीट्स कॉलोनाइजर द्वारा 10 एकड़ जमीन पर अवैध रूप से कब्जा किया गया। माफिया मांगी लाल और शैतान सिंह ने भी 4 एकड़ सरकारी जमीन पर कब्जा किया।
18 मार्च: भू माफिया खूबचंद कुशवाहा, फैजान बिल्डर की तरफ से ओमकारा तारा सेवनिया में कब्जा कर प्लॉटिंग की गई।

यहां भी हुए अवैध कब्जे
इनके अलावा सेवनिया रोड, भैंरोपुरा, नीलबड़, रातीबड़, नगर निगम क्षेत्र, आशियान विहार कॉलोनी में पदम सिंह और गोपाल की तरफ से किए गए कब्जों के अलावा गोलखेड़ी में असलम खान की तरफ से भी 4 एकड़ जमीन घेरी गई। इन पर प्रशासन ने डंडा चला। इसके बाद दूसरी लहर में हुए कब्जों में कोकता कान्हासैया, टीला जमालपुरा में नाले के पास माफिया राजू द्वारा किए गए कब्जों को तोड़ा गया। अभी की अवैध कब्जों की की सूची अलग-अलग सर्किल में अपडेट की जा रही है। जिन पर जल्द कार्रवाई होनी है। अभी ऐसे 32 कब्जे और प्रशासन की सूची में हैं।

वर्जन

अवैध कब्जों को लेकर पूर्व में काफी कार्रवाई हुईं हैं, कई बड़े अतिक्रमण हटाए गए हैं। अभी भी लगातार जारी हैं।
अविनाश लवानिया, कलेक्टर

प्रवेंद्र तोमर Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned