प्रदेश में राज्यसभा चुनाव के लिए खींचतान शुरू

दिल्‍ली से आ सकता है चौंकाने वाला नाम, प्रदेश में दर्जनभर से ज्यादा दावेदार। गहलोत के राज्यपाल बनने से खाली हुई है सीट।

By: Hitendra Sharma

Published: 14 Sep 2021, 09:09 AM IST

भोपाल. मध्यप्रदेश में राज्यसभा की एक सीट खाली होते ही दाबेदारों की खींचतान शुरू हो गई है। केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत के कर्नाटक का राज्यपाल बनने के कारण यह सीट खाली हुई है। इस सीट के लिए एक दर्जन से ज्यादा दावेदार जुगत में लग गए हैं, लेकिन सियासी गणित का आकलन दिल्ली से किसी चौंकाने बाले नाम की उम्मीद जताता है।

दरअसल, भाजपा संगठन को अभी उत्तरप्रदेश चुनाव सहित आगे की सियासी स्थिति को भी साधना है। मध्यप्रदेश में अभी राज्यसभा सीट के हिसाब से किसी को मौका न देने पर भी कोई नुकसान नजर नहीं आता।

Must See: आदिवासी गांव में 'पीपली लाइव' जैसा नजारा

इस कारण इस बार राज्यसभा सीट पर जितनी उम्मीद यहां के किसी दावेदार की है, उतनी ही किसी बाहरी नाम की भी है। चेहरे की अस्पष्टता के कारण इसी कारण दावेदारों की जोर-आजमाइश ज्यादा रहेगी। इसके अलावा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्तर पर चेहरे पर सहमति व सिफारिश का गणित काम करेगा। शीर्ष नेतृत्व की लाइन व संघ की सहमति से ही नाम फाइनल होगा।

इनकी दावेदारी शुरू
अलग-अलग स्तर पर जुगत में वरिष्ठ नेता विनोद गोंटिया, ओमप्रकाश धुर्वे, लाल सिंह आर्य, माया सिंह जैसे नाम सामने आए हैं। इनके अलावा भी कुछ नेता कोशिश कर रहे हैं, लेकिन बाहरी उम्मीदवार की भी पूरी संभावना है।

Must See: कांग्रेस संगठन में जिला स्तर पर कसावट, समीक्षा शुरू

कांग्रेस के पाले से बाहर बहुमत
प्रदेश में भारजा का बहुमत होने से चुनाव की स्थिति में बीजेपी की सीट लगभग तय है। कांग्रेस सियासी उत्साह बनाए रखने के लिए बाद में भले ही चेहरा तय करके चुनाव लड़े, लेकिन अभी दावेदार सामने नहीं आए हैं। भाजपा में दावेदार बढ़ने की वजह पिछली बार जैसे कोई कद्दावर नेता का चेहरा सामने नहीं है।

तब से जुदा हालात
पिछली बार ज्योतिरादित्य सिंधिया का चेहरा सीधे तौर पर सामने था बाद में टिकट भी मिला और अब वे केंद्रीय मंत्री हैं। तब ज्योतिरादित्य सिंधिया की दावेदारी के कारण दूसरे दावेदार जोर-आजमाइश नहीं कर रहे थे। इस बार कोई बड़ा चेहरा सीधे तौर पर फिलहाल सामने नहीं है। यही वजह है कि दावेदार ज्यादा हैं।

Must See: चुनावी मोड में सरकार शिवराज ने रैगांव से फूंका उपचुनाव का बिगुल

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned