ट्रेन के इंजन में लगी मशीनें ही कर देगी ट्रैक की सफाई

asif siddiqui

Publish: Nov, 14 2017 06:35:46 (IST)

Bhopal, Madhya Pradesh, India
ट्रेन के इंजन में लगी मशीनें ही कर देगी ट्रैक की सफाई

पंजाब के स्टूडेंट लाए प्रकल्प, प्रशासन अकादमी में चल रही 44वीं जवाहरहालाल नेहरू राष्ट्रीय विज्ञान, गणित तथा पर्यावरण प्रदर्शनी।

भोपाल। प्रशासन अकादमी में चल रही 44वीं जवाहरलाल नेहरू राष्ट्रीय विज्ञान, गणित तथा पर्यावरण प्रदर्शनी-2017 में आए पंजाब की स्टूडेंट्स नेहा और सुरभि ने रेलवे ट्रैक को साफ रखने और वाहनों से होने वाले प्रदूषण को रोकने वाला मॉडल तैयार किया है। उन्होंने इस प्रोजेक्ट को ऑटोमैटिक रोड/रेलवे लाइन क्लीनर एण्ड स्मोक फिल्टर नाम दिया है। स्टूडेंट्स के मुताबिक रोड पर चलने वाले हैवी वाहनों के कारण प्रदूषण होता है, हमने गाड़ी के पिछले हिस्से में एक फिल्टर लगाया है। इस फिल्टर से पास होते ही गैस के जहरीले कण साफ होकर हवा में घुल जाएंगे।

बनाया मल्टीपरपस क्लिनर
पंजाब के इन्हीं स्टूडेंट्स ने मल्टीपरपस क्लिनर भी तैयार किया है। जिसे ट्रेन और ट्रक दोनों में यूज किया जा सकता है। इसमें आगे की तरफ एक प्रेशर पंप लगाया गया, इसमें प्रेशर से पानी निकलेगा जो रोड की साफ करेगा। वहीं ट्रेन के निचले के हिस्से लगा क्लिनर ट्रैक पर फैली गंदगी को सोख लेगा। पिछले हिस्से में भी एक क्लिनर लगाया गया है। इस क्लिनर की गंदगी इंजन में लगे एक बॉक्स में जमा हो जाएगी। इंजन के अगले हिस्से में एक बॉक्स लगाया जो पटरी की देखभाल भी करेगा।

गियर बॉक्स से चार्ज होगी हाईब्रिड कार
वहीं गुजरात से आए जाधव मल्हार ने हाईब्रिड कार का एक प्रोजेक्ट बनाया है। इसकी रूफ टॉप पर उन्होंने सोलर यंत्र लगाया है। दिन के समय कार की बेटरी इससे चार्ज होगी। वहीं कार के चारों पहिए में एक डायनेमो लगाया है, अलगे हिस्से में एक सोलर पंप भी फिट किया। गाड़ी चलने पर हवा के प्रेशर से इसका पंखा घुमेगा। इससे उत्पन्न ऊर्जा से कार की बेटरी चार्ज होगी। वहीं पहिए में लगा डायनेमा भी बिजली पैदा करेगी। यानी इस हाईब्रिड कार को किसी भी मौसम में चलाया जा सकता है।

योग और मलखंभ का प्रदर्शन
वैज्ञानिकों के व्याख्यान की श्रृंखला में सोमवार को वैज्ञानिक डॉ. आरके रावले (जीसीएसआईआर, एम्प्री) ने अपने व्याख्यान में डीएनए टेस्ट के बारे में बताया। वहीं डीएनए वंशागति किस प्रकार होती है इसके बारे में स्टूडेंट्स को समझाया। शाम को शाउमावि, बैरागढ़ के स्टूडेंट्स ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। शारदा बिहार विद्या भारती मध्य भारत के शिव वंदना एवं संगीत व अन्य प्रतिभागियों द्वारा योग, नृत्य, मलखंभ, नवदुर्गा नृत्य, रूप स्कीपिंग, वंदे मात्रम व स्व'छता पर आधारित नाटक प्रस्तुत किए गए।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned