MP BOARD EXAM 2020: 10वीं और 12वीं की परीक्षा मार्च में, जल्द घोषित होगा टाइम टेबल

MPBSE- 12वीं की परीक्षा 2 मार्च से और 10वीं की परीक्षाएं 3 मार्च से हो सकती है, टाइम टेबल दो-तीन दिन में जारी होगा...।


भोपाल। मध्यप्रदेश बोर्ड की परीक्षाएं 2 मार्च से शुरू हो सकती है। इस परीक्षा में 19 लाख परीक्षार्थी बैठेंगे। सूत्रों के मुताबिक 12वीं की परीक्षा 2 मार्च से और 10वीं की परीक्षाएं 3 मार्च से हो सकती है। इसी सप्ताह दोनों ही परीक्षा के टाइम टेबल दो-तीन दिन में घोषित होने जा रहे हैं।

 

माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) की ओर से इस बार भी 12वीं और 10वीं की परीक्षाएं मार्च माह में ही कराई जाएंगी। बोर्ड ( Board of Secondary Education, Madhya Pradesh ) ने इसकी तैयारी पूरी कर ली है। एक दो दिन में टाइम टेबल भी घोषित कर दिया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक इस बार भी हायर सेकंडरी की परीक्षा 2 मार्च और हाई स्कूल की परीक्षा 3 मार्च से कराई जाने की तैयारी है। मंडल दो-तीन दिनों में टाइम टेबल भी जारी कर सकता है।

अधिक जानकारी के लिए बोर्ड की अधिकृत वेबसाइट mpbse .nic.in पर भी देख सकते हैं।

 

19 लाख छात्र देंगे परीक्षा
10वीं और 12वीं की परीक्षा के लिए इस बार 19 लाख से अधिक छात्र परीक्षा देंगे। इनमें करीब 4 लाख छात्र प्राइवेंट हैं। परीक्षा केंद्रों की सूची और टाइम टेबल इसी सप्ताह जारी होने वाला है। इस परीक्षा में प्राइवेट छात्रों को भी प्रोजेक्ट के 20 अंक अलग से देने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए माध्यमिक शिक्षा मंडल ने शासन से अनुमति मांगी है।

 

80 अंकों के होंगे पेपर
माध्यमिक शिक्षा मंडल की परीक्षा में एनसीईआरटी के विषयों के पेपर 80 अंकों के होंगे। 20 प्रतिशत अंक प्रोजेक्ट और प्रैक्टिकल के मिलेंगे।

 

कक्षा 10वीं के लिए खास
मध्य प्रदेश बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (MPBSE) हर साल 10वीं की परीक्षा आयोजित करता है। एमपी बोर्ड 10वीं परीक्षा में एमपी बोर्ड 10वीं परीक्षा में 12 लाख छात्र रजिस्ट्रेशन करवाते हैं।
-पिछले साल 10वीं कक्षा का रिजल्ट 15 मई को घोषित हुआ था।
-एमपी बोर्ड 10वीं का रिजल्ट 61.32 फीसदी रहा था।
-10वीं में छात्राओं का रिजल्ट छात्रों से काफी बेहतर था।
-63.69% लड़कियां और 59.15% लड़के उत्तीर्ण हुए थे।
-सागर जिले के गगन दीक्षित और आयुष्मान ताम्रकार ने टॉप किया था। दोनों के 500 में से 499 मार्क्स थे।
-इस बार भी 10वीं का रिजल्ट मई के मध्य में जारी करने की प्लानिंग है।



5वीं और 8वीं के लिए
-10 साल बाद दोबारा 5वीं और 8वीं कक्षा की परीक्षाएं बोर्ड पैटर्न पर होंगी।
-मुख्य परीक्षा में फेल छात्रों के लिए शिक्षकों की अतिरिक्त क्लास लगाई जाएगी। इसके बाद फिर से परीक्षा होगी।
-यदि इस परीक्षा में भी छात्र फेल हो जाते हैं तो उसे दोबारा उसी क्लास में रहना होगा।
-मप्र में अभी कक्षा 5वीं और 8वीं क्लास में बच्चों को फेल नहीं किया जाता है। स्कूल शिक्षा मंत्री प्रभुराम चौधरी ने यह घोषणा की थी।

Show More
Manish Gite
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned