बड़ी कार्रवाईः शराब पीकर वाहन चालाने पर FIR, 55 हजार से अधिक वाहन चालकों पर कार्रवाई

Manish Gite

Publish: Dec, 07 2017 11:52:55 (IST) | Updated: Dec, 10 2017 01:20:11 (IST)

Bhopal, Madhya Pradesh, India
बड़ी कार्रवाईः शराब पीकर वाहन चालाने पर FIR, 55 हजार से अधिक वाहन चालकों पर कार्रवाई

मध्यप्रदेश में वाहन चालकों पर अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई हुई है। दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए वाहन चैकिंग का अभियान चलाया गया


भोपाल। मध्यप्रदेश में वाहन चालकों पर अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई हुई है। दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए वाहन चैकिंग का अभियान चलाया गया था। जुलाई से सितंबर मात्र तीन माह के अभियान में ही 55 हजार से अधिक वाहन चालकों पर कार्रवाई की गाज गिरी है। माना जा रहा है कि यह मध्यप्रदेश के इतिहास में मात्र तीन माह में ही सबसे बड़ी कार्रवाई है।


-जुलाई से सितंबर के बीच शराब पीकर वाहन चलाने वालों के लाइसेंस ही निरस्त कर दिए गए। 1405 चालकों पर गाज गिरी। यह कार्रवाई अब भी जारी है। इसके अलावा पिछले 9 माह में हेलमेट नहीं पहनने वाले 5,40161 वाहन चालकों के खिलाफ कार्रवाई की गई। उनके चालन बनाए गए।


मंत्रालय ने दिए कड़ी कार्रवाई के निर्देश
सोमवार को मंत्रालय में हुई एक बैठक में यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए गए है। यह निर्देश राज्य सड़क क्रियान्वयन समिति की बैठक में दिए गए। अधिकारियों ने बताया कि नियम तोड़ने वाले वाहन चालकों पर सख्ती इसलिए भी जरूरी है कि यह लोग दूसरे लोगों के लिए खतरा बन रहे हैं और वे बार-बार नियम तोड़ने की हिम्मत नहीं कर पाएं।


शराब पीकर वाहन चलाने वालों पर सख्ती
बैठक में जुलाई से सितंबर 2017 की अवधि तक शराब पीकर वाहन चलाने वाले 1405 चालकों के लाइसेंस निलंबित कर दिए गए। इसी तरह जनवरी-सितंबर 2017 के बीच हुई कार्रवाई में 5,40161 वाहन चालकों को बगैर हेलमेट पहने पकड़ा।


जिगजेक लगाकर चैकिंग
मध्यप्रदेश के कई जिलों में पुलिस इन दिनों भी जिगजेक जैकिंग प्वाइंट लगाकर हर वाहनों की पड़ताल कर रही है। इसमें संदिग्धों पर कार्रवाई हो रही है, वहीं शराब पीकर वाहन चलाने वाले या बगैर हेलमेट पहने वाहन चालकों के भी चालान बनाए जा रहे हैं।


शराब पीने पर 10 हजार वाहन चालकों पर FIR
इससे पहले पिछले साल 5 अगस्त से 16 अगस्त तक चले विशेष अभियान में शराब पीकर वाहन चलाने वाले 10 हजार 608 लोगों पर FIR भी दर्ज की जा चुकी है।

 

पुलिस ने पिछले साल 9788 टू व्हीलर, 524 चार पहिया वाहन, 16 बस और 69 ट्रकों के चालकों के खिलाफ एक्शन लिया। इसके साथ ही परिवहन विभाग ने 1127 चालकों के ड्राइविंग लाइसेंस भी सस्पेंड कर दिए। इन सबसे करीब 40 लाख का जुर्माना वसूला गया था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned