तेलिया तालाब अतिक्रमण को लेकर राजधानी में जल सत्याग्रह

तेलिया तालाब अतिक्रमण को लेकर राजधानी में जल सत्याग्रह

Yogendra Sen | Publish: Mar, 14 2018 01:55:45 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

शिव सेना ने मंदसौर के तेलिया तालाब को बचाने के लिए किया आंदोलन

भोपाल। राजधानी भोपाल के कमला पार्क स्थित शीतल दास बगिया बड़ा तालाब पर बुधवार को शिवसेना ने तेलिया तालाब को लेकर जल सत्याग्रह शुरू किया। यह आंदोलन मप्र के शिवसेना उपराज्य प्रमुख सुनिल शर्मा के नेत्रत्व में किया जा रहा है। शिव सेना उपराज्य प्रमुख सुनिल ने बताया कि मंदसौर तेलिया तालाब के मामले मे राज्य सरकार द्वारा जाँच के आदेश देने के बाद भी जांच नहीं की जा रही है। दरअसल, मंदसौर के तेलिया तालाब पर संसाद और विधायक ने अतिक्रमण कर लिया है। अतिक्रमण के विरोध में शिवसेना ने राजधानी भोपाल में सरकार के ध्यान आकर्षण कराने को लेकर शिवसेना प्रदेश उपाध्यक्ष सुनील शर्मा, युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष कुलदीप ने जल समाधि ली।

कांग्रेस ने चलाया था आंदोलन
तेलिया तालाब के संरक्षण, अतिक्रमण हटाने व षड्यंत्रकारियों पर अपराध दर्ज करने की मांग के समर्थन में आमजन का समर्थन जुटाने के लिए कांग्रेस ने गांधी चौराहे पर हस्ताक्षर अभियान चलाया था। जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रकाश रातडिय़ा ने कहा था कि 125 साल पहले निर्मित तेलिया तालाब का आकार 484 बीघा भूमि का था। आज इसका आकार बहुत छोटा हो गया है। पूर्व कलेक्टर स्वतंत्रकुमार सिंह ने जिस नक्शे को स्वीकृत किया। इसमें तालाब के आकार व डूब क्षेत्र को और कम कर दिया गया है। इससे जनता में भारी रोष है इस सबके पीछे भूमाफियाओं, अधिकारियों व नेताओं का अनैतिक गठबंधन है। कांग्रेस जनता से सहयोग प्राप्त कर तालाब के संरक्षण का अभियान आगे चलाएगी।

भूमि ही गायब हो गई तालाब की

तालाब की कम हुई भूमि कहां गई, कब गई व किसके आदेश से गई यह जनता जानना चाहती है। तालाब में पानी आने के रास्तों को किसने बंद किया इसका खुलासा जरुरी है। पूर्व मंत्री नरेंद्र नाहटा, पूर्व विधायक नवकृष्ण पाटिल, जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष महेंद्रसिंह गुर्जर, लोस युकां अध्यक्ष सोमिल नाहटा, कांतिलाल राठौर, अजा प्रकोष्ठ अध्यक्ष तरुण खिंची सहित अन्य लोग उपस्थित थे। हस्ताक्षर अभियान में 2 हजार से अधिक लोगों ने हस्ताक्षर कर तेलिया तालाब को बचाने की मुहिम का समर्थन किया था।

Ad Block is Banned