थोक किराना बाजारों की सड़कें खराब, ग्राहक परेशान

शहर के थोक किराना बाजार जनकपुरी, जुमेराती, हनुमानगंज और घोड़ा नक्कास में सड़कों की हालत लंबे अरसे से खराब है, लेकिन शासन की तरफ से ध्यान नहीं दिया जा रहा है

By: Pradeep Kumar Sharma

Published: 30 Oct 2020, 12:23 AM IST

भोपाल. शहर के थोक किराना बाजार जनकपुरी, जुमेराती, हनुमानगंज और घोड़ा नक्कास में सड़कों की हालत लंबे अरसे से खराब है, लेकिन शासन की तरफ से ध्यान नहीं दिया जा रहा है। भोपाल किराना व्यापारी महासघ के महासचिव अनुपम अग्रवाल बताते हैं कि सड़कों की मरम्मत न होने से यहां व्यापारियों के अलावा ग्राहकों, हाथ ठेला हम्मालों और वाहन चालकों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ता है। क्षेत्र में कई जगह सड़कों पर बड़े-बड़े गड्ढे होने से कई बार वाहन पलट चुके हैं और लोग घायल हो चुके हैं। हाथ ठेले से सामान लाने-पहुंचाने वालों को तो हर वक्त संकट बना रहता है। इस बाजार में दाल, चावल शक्कर, तेल और किराना सामग्री का थोक व्यापार होता है। ऐसे में बाहर से भी कई व्यापारी आते हैं, उन्हें मुश्किल होती है।

अग्रवाल बताते हैं कि इस त्योहारी सीजन में यहां दिनभर भारी भीड़ रहती है। खराब सड़कों की वजह से कई बार दिनभर यहां जाम लगा रहता है। उन्होंने स्थानीय व्यापारियों की तरफ से मांग की है कि जुमेराती पोस्ट आफिस से लेकर हनुमानगंज तक और जुमेराती गेट से लेकर घोड़ा नक्कास तक की पूरी सड़क का बेहतर तरीके से डामरीकरण कराया जाए।
इन क्षेत्रों के बुजुर्गों का कहना है कि यहां व्यापारियों की तरफ से सरकार को बतौर टैक्स बड़ी रकम दी जाती रही है, तो सरकार से कुछ अपेक्षाएं भी हैं। यदि व्यवस्थाएं दुरूस्त नहीं होंगी, तो यहां व्यापार कैसे चल सकेगा। वैसे भी लॉकडाउन के दौर के बाद बाजार अब तक तेजी नहीं पकड़ सका है। उनका कहना है कि बाजार से हजारों लोगों की रोजी-रोटी जुड़ी है, इसलिए सरकार को ध्यान देना चाहिए।

Pradeep Kumar Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned