भोपाल फिर असुरक्षित: रेलवे स्टेशन के पास विवाहिता से सामूहिक दुष्कर्म, पुलिस पर सवाल

भोपाल फिर असुरक्षित: रेलवे स्टेशन के पास विवाहिता से सामूहिक दुष्कर्म, पुलिस पर सवाल

Deepesh Tiwari | Updated: 11 Oct 2019, 02:19:53 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

महिलाओं की सुरक्षा का दावा करने वाली पुलिस इन दिनों फिर से नींद में...

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में रेलवे स्टेशनों के पास की कई जगहें दुष्कर्म ( Rape ) मामलों को लेकर हमेशा बदनाम ( sexually harassed ) रहीं हैं। ऐसे में एक बार फिर 20 साल की एक विवाहिता के साथ भोपाल रेलवे स्टेशन के पास चार सफाई कर्मियों ने कथित रूप से दुष्कर्म ( Gang Rape ) किया।

वहीं जानकारों की माने तो ऐसा लगता है कि मानों मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में महिलाओं की सुरक्षा का दावा करने वाली पुलिस इन दिनों फिर से नींद में चली गई है।

जिसके चलते महिलाओं के लिए असुरक्षित शहर के नाम से चर्चित हो रही इस राजधानी में एक बार फिर असामाजिक तत्व ( gang rape in mp ) सक्रीय होने शुरू हो गए हैं।

जानकारों का यह भी कहना है कि जब लंबे समय से दुष्कर्म के मामले लगातार रेलवे स्टेशन क्षेत्रों के पास से आ रहे हैं। तो आखिर ऐसी क्या वजह है कि इन क्षेत्रों में पुलिस की चौकसी नहीं बढ़ाई जा रही।

जबकि इससे पहले भोपाल स्टेशन में एक नाबालिग व हबीबगंज स्टेशन के पास एक कोचिंग जाने वाली छात्रा के दुष्कर्म के मामले भी सामने आ चुके हैं। वहीं भोपाल स्टेशन के पास से तो दुष्कर्म की व छेड़छाड़ से जुड़ी कई शिकायतें भी आ चुकीं हैं। इसके बावजूद इस क्षेत्रों में पुलिस की गश्त की कमी कई सवाल खडें करने के साथ ही संदेह भी पैदा कर रही है।


ये है मामला..
दरअसल रेलवे यार्ड वॉशिंग पिट के पास चल-समारोह देखने गई एक महिला के साथ चार युवकों द्वारा सामूहिक बलात्कार का मामला सामने आया है।

इस मामले को लेकर जहां जीआरपी पुलिस का कहना है कि बलात्कार एक युवक ने किया, जबकि तीन उसके सहयोगी रहे। वहीं पुलिस के इस बयान पर आम लोग तंज कसते हुए कह रहे हैं कि पुलिस को अपने अंदर झांक कर देखने चाहिए, क्योंकि यदि वह सतर्क होती तो ऐसा काम ही शहर में नहीं हो पाता।

वहीं सामने आ रही जानकारी के अनुसार पीडित महिला पहले हनुमानगंज थाने पहुंची थी। जिसके बाद थाना प्रभारी उसे लेकर घटनास्थल पहुंचे, लेकिन वह क्षेत्र जीआरपी के तहत आता था इस कारण वे उस मामले में कार्रवाई करने की बजाय पीडिता को वहीं छोड़ आए।

ऐसे समझें घटनाक्रम..
जीआरपी पुलिस के अनुसार को बताया कि 20 वर्षीय पीडि़ता बुधवार रात करीब 10 बजे छोटी और बड़ी भाभी के साथ चल-समारोह देखने के लिए निकली थी। सब एक ऑटो में सवार थे। छोला मंदिर पुलिया के पास सभी उतर गए, भीड़ अधिक होने के कारण पीडि़ता उनसे अलग होकर गुम हो गई।

वहीं पीडि़ता ने पुलिस को दिए बयानों में बताया कि ऑटो से उतरने के बाद वह रेलवे यार्ड वॉशिंग पिट की तरफ लघुशंका करने चली गई थी। इस कारण वह परिजनों से बिछड़ गई थी।

यहां वॉशिंग पिट के पास चांदबड़ निवासी धर्मेन्द्र राय (42), द्वारिका नगर निवासी राकेश बाल्मिकी (40), राजेन्द्र नगर निवासी राजेश खरे उर्फ गट्टू (40) और विक्रम बजेरिया आ गए।

पीडि़ता के अनुसार चारों ने मिलकर उसे दबोच लिया और बलात्कार किया। इसके बाद आरोपी फरार हो गए। वह किसी तरह हनुमानगंज थाने पहुंची, और वहां से फिर जीआरपी थाने में आकर रिपोर्ट दर्ज कराई।


आरोपी पकड़े...
पुलिस ने बताया कि यह घटना बुधवार-गुरुवार रात की थी और चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। जबकि चर्चा है कि लगातार आ रहे दबाव के आगे कमजोर पड़ी पुलिस को मजबूरन मामले को लेकर त्वरित कार्रवाई करनी पड़ी। जिसके चलते आरोपी पकड़े जा सके। वहीं इससे पहले तक पुलिस का रवैया ढिला ढाला सा देखने को मिला था।

राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) की ओर से जारी एक विज्ञप्ति के मुताबिक आरोपितों धर्मेंद्र राय (45), विक्रम करोसिया (32), राजेश खरे (40) और राकेश करोसिया (40) को गुरुवार को सामूहिक दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार किया गया।

जीआरपी ने बताया कि चारों आरोपितों को रेलवे स्टेशन परिसर और प्लेटफॉर्म की सफाई के लिए एक निजी एजेंसी द्वारा भर्ती किया गया था। पुलिस ने बताया इनमें से धर्मेद्र राय सुपरवाइजर है।

हनुमानगंज थाना प्रभारी पीडि़ता को लेकर घटनास्थल देखने गए थे, लेकिन घटनास्थल जीआरपी थाना क्षेत्र में आता है। इसलिए वो उसे खुद जीआरपी थाने तक छोडऩे गए।
- इरशाद वली, डीआईजी

चारों आरोपी पकड़े
जिस पीडि़ता ने यह एफआईआर दर्ज कराई है। उसमेें चारों आरोपी युवकों को गिरफ्तार कर लिया गया है। घटना देर रात की है। महिला परिजनों के साथ झांकी देखने गई थी। एक मुख्य आरोपी है, तीन उसके सहयोगी हैं।
- दुष्यंत जोशी, थाना प्रभारी जीआरपी भोपाल

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned