scriptmedicines worth 38 thousand crores sold cold and antibiotic in 1 month | स्वास्थ की तरफ बढ़ी सजगता : एक माह में सर्दी-जुकाम और एंटीबायोटिक में 38 हजार करोड़ की दवाएं बिकीं | Patrika News

स्वास्थ की तरफ बढ़ी सजगता : एक माह में सर्दी-जुकाम और एंटीबायोटिक में 38 हजार करोड़ की दवाएं बिकीं

विश्व स्वास्थ्य दिवस विशेष: महामारी के तीन दौर झेलने के बाद डर के बीच लोग अतिरिक्त सजग, फरवरी में देश का दवा कारोबार 1,56,642 करोड़ पर पहुंचा बिकी।

भोपाल

Published: April 07, 2022 01:40:55 pm

भोपाल. कोरोना काल के बाद श्वसन रोग और एंटीबायोटिक दवाओं की मांग में तेजी आई है। देश में दवाओं का कारोबार बढ़ा है। हेल्थ केयर के लिए काम करने वाली कंपनी एआइओसीडी अवाक्स की मार्केट रिफ्लेक्शन रिपोर्ट के अनुसार, फरवरी में देश का दवा बाजार 1,56,642 करोड़ का रहा। इसमें 38 हजार करोड़ का हिस्सा सिर्फ एंटी इंफेक्टिव (एंटीबायोटिक्स) और रेस्पिरेटरी (सर्दी जुकाम व सांस से जुड़ी बीमारी) की दवाओं का था।

News
स्वास्थ की तरफ बढ़ी सजगता : एक माह में सर्दी-जुकाम और एंटीबायोटिक में 38 हजार करोड़ की दवाएं बिकीं

कोरोना के बाद इन दवाओं की मांग में क्रमशः 36 फीसदी और 40 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। स्टेरॉयड और विटामिन सप्लीमेंट्स की मांग भी तेजी से बढ़ी है। ऑल इंडिया ड्रगिस्ट एंड केमिस्ट एसोसिएशन के महासचिव राजीव सिंघल के अनुसार, श्वसन के साथ मल्टी विटामिन और एंटीबायोटिक ग्रुप में ज्यादा इजाफा हुआ है।

यह भी पढ़ें- फसल पर डांस करते हुए किसान का वीडियो वायरल, बोला- खुशी में नहीं विरोध में नाच रहा हूं, जानिए वजह


मप्र में 12,500 करोड़ का बाजार

मध्य प्रदेश ड्रगिस्ट एंड केमिस्ट एसोसिएशन के मुताबिक, कोरोना के बाद प्रदेश का दवा करोबार करीब 12,500 करोड़ का हो गया है, पहले यह 900 से 1000 करोड़ के आसपास होता था। बढ़ोतरी में सबसे बड़ा सेंटर इंदौर है, जहां फरवरी 2022 में 890 करोड़ की दवाएं बिकीं। भोपाल के गांधी मेडिकल कॉलेज के श्वसन रोग विशेषज्ञ डॉ. पराग शर्मा का कहना है, लोग स्वास्थ्य को लेकर सजग हुए हैं। सर्दी-खांसी की दवाओं के अलावा सिट्राजिन, एजिश्रोमाइसिन व कफ सिरप की मांग बढ़ी है। यही वजह है कि, एंटी इंफेक्टिव दवाओं का बाजार 36.1% तक बढ़ा है।

यह भी पढ़ें- अजब-गजब : इस राज्य में मरने और रिटायर होने के बाद भी पुलिस अफसरों का हो जाता है तबादला, जानिए कैसे


सावधानी जरूरी

भोपाल में लिवर रोग विशेषज्ञ -डॉ. प्रणव रघुवंशी का कहना है कि, लोग सेहत को लेकर खासा सजग हुए हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि, बिना डॉक्टरी सलाह के दवाएं लें, ये सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। हमारे पास कई मरीज आते हैं तो ओवरडोज के कारण दूसरी बीमारियों से घिर जाते हैं।

दूसरी बार नर्मदा परिक्रमा पर निकले सलीम पठान, देखें वीडियो

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

पंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंद्वारकाधीश मंदिर में पूजा के साथ आज शुरू होगा BJP का मिशन गुजरात, मोदी के साथ-साथ अमित शाह भी पहुंच रहेVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्मओडिशा में "भ्रूण लिंग" जांच गिरोह का भंडाफोड़, 13 गिरफ्तारमां की खराब तबीयत के बावजूद बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे ओबेड मैकॉय, संगकारा ने जमकर की तारीफRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चAnother Front of Inflation : अडानी समूह इंडोनेशिया से खरीद राजस्थान पहुंचाएगा तीन गुना महंगा कोयला, जेब कटना तयसुकन्या समृद्धि योजना में सरकार ने किए बड़े बदलाव, जानें क्या है नए नियम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.