scriptMeena, suspended for molesting women, complained to senior officers in | महिलाओं से छेड़छाड़ के आरोप में निलंबित मीणा ने वरिष्ठ अफसरों की सीएम हेल्पलाइन में की शिकायत | Patrika News

महिलाओं से छेड़छाड़ के आरोप में निलंबित मीणा ने वरिष्ठ अफसरों की सीएम हेल्पलाइन में की शिकायत

- एपीसीसीएफ मीणा ने अधिकारियों पर लगाया एकतरफा कार्रवाई का आरोप
- निलंबन बहाल करने की सीएम से की मांग

- दोनों अधिकारियों ने संबंधित महिलाओं के बयान लिए। जिसमें आरोपों का सही होना पाया गया।

भोपाल

Published: December 24, 2021 09:19:16 pm

भोपाल। वन विभाग के निलंबित अपर प्रधान मुख्य वनसंरक्षक (एपीसीसीएफ) मोहनलाल मीणा ने सीएम हेल्पलाइन में विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। मीणा ने शिकायत में विभाग के अधिकारियों पर एकतरफा कार्रवाई करने का आरोप लगाया है। उन्होंने लिखा है कि जिस मामले में उन्हें चार माह पहले निलंबित किया गया था उस प्रकरण में न तो मुझसे स्पष्टीकरण मांगा गया है और न ही मुझे पक्ष रखने का मौका दिया गया है। इसके चलते मेरा निलंबन बहाल किया जाए। मीणा ने सीएम हेल्पलाइन में 16 दिसम्बर को शिकायत दर्ज कराई है।
विभाग ने वर्तमान में मीणा को वन मुख्यालय सतपुड़ा भवन में अटैच कर रखा है। उल्लेखनीय है कि बैतूल में रहते हुए मीणा ने बेटे की फीस के लिए प्रशिक्षु रेंजर अमित साहू से 30 हजार रुपये की मांग फोन पर की थी। इस चर्चा का आडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गया था।
rape.jpg
इस आधार पर वन बल प्रमुख आरके गुप्ता ने मामले की जांच के लिए एपीसीसीएफ विभाष ठाकुर और शुभरंजन सेन का एक दल गठित किया था। इस दल ने बैतूल जाकर संबंधितों के बयान लिए। बयानों के दौरान लेन-देन के तीन अन्य मामले भी सामने आ गए। वहीं चार मामले महिला कर्मचारियों को प्रताडि़त करने के थे। जिनमें महिलाओं ने मीणा पर अश्लील हरकतें करने का आरोप लगाया था। जांच दल ने इन मामलों के लिए अलग से जांच दल गठित करने की अनुशंसा की थी। इस आधार पर एपीसीसीएफ बिंदु शर्मा और अर्चना शुक्ला को जांच सौंपी गई। दोनों अधिकारियों ने संबंधित महिलाओं के बयान लिए। जिसमें आरोपों का सही होना पाया गया।

रेंजर को दी मीणा की शिकायत के निराकरण की जिम्मेदारी
विभाग ने मीणा की इस शिकायत को निराकरण की जिम्मेदारी एक रेंजर हो दी है। विभाग के अफसरों का कहना है कि सीएम हेल्पलाइन की तय प्रक्रिया के तहत मीणा की शिकायत एल-1 अधिकारी यानी भोपाल वनमंडल के रेंजर शिवपाल पिपरदे के पास पहुंच गई है। दरअसल, मामला एपीसीसीएफ का है, जिसमें सिर्फ प्रधान मुख्य वनसंरक्षक स्तर के अधिकारी ही सुनवाई कर सकते हैं। इसलिए मामले का निराकरण एल-4 अधिकारी के पास पहुंचने पर ही हो सकेगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.