कमलनाथ के मंत्री ने कहा- बुजुर्गों के बीड़ी पीने और तंबाकू खाने के लिए पेंशन दे रही है हमारी सरकार

कमलनाथ के मंत्री ने कहा- बुजुर्गों के बीड़ी पीने और तंबाकू खाने के लिए पेंशन दे रही है हमारी सरकार

By: Pawan Tiwari

Published: 03 Mar 2019, 09:28 AM IST


भोपाल. कमलनाथ कैबिनेट के मंत्री इन दिनों विवादित बयान देने के कारण सुर्खियों में हैं। अक्सर आपने सुना और देखा होगा लोगों की नशे की लत को छुड़ाने के लिए सरकार नशा मुक्ति अभियान चलाती है। नशा छोड़ने के लिए उन्हें प्रेरित करती है और इसके लिए कई तरह की योजनाएं भी चलाती है। लेकिन मध्यप्रदेश की सरकार इसके उलट बीड़ी पीने और तंबाकू खाने के लिए पेंशन दे रही है। जी हां, यह हम नहीं बल्कि कमलनाथ सरकार के मंत्री का कहना है। कमलनाथ सरकार के मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने शनिवार को शिवपुरी जिले के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ये बात कही है।

 

सरकार दे रही है पेंशन
मध्यप्रदेश के खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने पोहरी में आयोजित किसान सम्मेलन को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस सरकार के कामकाज और फैसलों का बखान करते हुए कहा कि घर में जो बूढ़े, बुजुर्ग हैं, जो अब काम नहीं कर सकते, जिन्हें बीड़ी पीने और तंबाकू खाने की आदत है लेकिन उन्हें उनके बच्चे इसके लिए रुपये नहीं देते हैं इसलिए हमारी सरकार ऐसे बुजुर्गों को एक हजार रुपये पेंशन के तौर पर दे रही है। जिससे वो बीड़ी पी सकें और तंबाकू खा सकें। मंत्रीजी का यह कहते हुए वीडियो वायरल हो रहा है, जिसके बाद अब मंत्रीजी अपने बयान को लेकर ट्रोल हो रहे हैं। वहीं एक बार फिर मंत्रियों की बयानबाजी से सरकार की किरकिरी हो गई।

 


काफिले की गाड़ी पलटी
शिवपुरी जिले के पिछोर व भौती में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे प्रभारी मंत्री के काफिले में शामिल एक लग्जरी गाड़ी अनियंत्रित होकर पलट गई थी। घटना में गाड़ी में सवार लोगों में से 5 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए जिन्हें पुलिस वाहन से जिला अस्पताल लाया गया। यहां से दो सगे भाईयों को ग्वालियर रैफर किया गया है। चूंकि मामला प्रभारी मंत्री से जुड़ा हुआ था, इसलिए अस्पताल प्रबंधन के सभी डॉक्टर से लेकर सीएस व सीएमएचओ व अन्य अधिकारी व पुलिस अस्पताल में पूर्व से ही मौजूद थे।

Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned