निर्दलीय विधायक का दावा, इस शर्त पर दिया था कांग्रेस को समर्थन

निर्दलीय विधायक का दावा, इस शर्त पर दिया था कांग्रेस को समर्थन

By: Faiz

Published: 07 Jan 2019, 04:30 PM IST

भोपालः मध्य प्रदेश में कांग्रेस को सरकार बनाते समय चार निर्दलीय, दो बसपा और एक सपा विधायक का समर्थन मिला है। इसके बाद कांग्रेस अपनी बहुमत सिद्ध करने में कामयाब हुई। आज शीतकालीन सत्र के पहले दिन प्रदेश के सभी नवनिर्वाचित विधायकों ने शपथ ग्रहण की। इसके बाद निर्दलीय विधायकों ने एक बड़ा खलासा किया है। बीजेपी की दिग्गज नेता अर्चना चिटनीस को हराने वाले निर्दलीय विधायक शेरा ने कहा कि, कांग्रेस ने उन्हें मंत्री पद देने की बात कही थी। इसलिए उन्होंने पार्टी को समर्थन दिया है। उन्होंने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष चुने जाने पर हम कांग्रेस के साथ हैं। पार्टी को हम पूरा समर्थन देंगे साथ ही और भी निर्दलीय विधायक हैं वह भी कांग्रेस के साथ हैं।

भाजपा की दिग्गज नेता से जीता था मैदान

आपको बता दें कि, कांग्रेस ने टिकट ना मिलने से नाराज़ होकर बुरहानपुर सीट से निर्दलीय खड़े हुए ठाकुर सुरेंद्र सिंह, ‘शेरा भैया’ ने बीजेपी के कद्दावर नेता और पूर्व मंत्री अर्चना चिटनिस को हराकर इस सीट पर कब्जा़ जमाया था। इस सीट पर उनके खड़े होने से कांग्रेस को भारी नुकसान हुआ। शेरा ने चिटनीस को 5,120 वोट से हराया था। हालांकि, निर्दलीय जीतने के बाद उन्होंने कांग्रेस को ही समर्थन दे दिया था। शेरा सिंधिया खेमे के नेता माने जाते हैं। सूत्रों की माने तो टिकट वितरण के दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया से अदावत के चलते उन्हें टिकट नहीं मिल पाया था, जिसके बाद उन्होंने निर्दलीय खड़े होकर भाजपा की दिग्गज नेता को चुनाव हराया था।

मंत्री पद का मिला आश्वासन

विधायक शेरा ने बताया कि, सत्ता में आने के बाद कांग्रेस को उन्होंने समर्थन देने का ऐलान किया था। पार्टी ने भी उनका स्वागत किया। जब कांग्रेस को बहुमत से दो सीट दूर रहना पड़ा तो सपा और बसपा समेत निर्दलीयों पर कांग्रेस ने अपनी टिकटिकी लगाई। विधायक शेरा ने तो इस बात का भी दावा किया कि, समर्थन देने के दौरान उन्हें आश्वासन दिया गया था कि, उन्हें मंत्री पद दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि, अगर ऐसा नहीं होता तो वो एक बार फिर अपने निर्णय पर विचार कर सकते हैं।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned