scriptस्वच्छ मोहन यादव की केबिनेट में कौन है भ्रष्टाचारी! दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर बताया नाम | Mohan Yadav Nursing Scam Digvijay Singh Tweet | Patrika News
भोपाल

स्वच्छ मोहन यादव की केबिनेट में कौन है भ्रष्टाचारी! दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर बताया नाम

Digvijay Singh Tweet मुख्यमंत्री मोहन यादव पर सीधे वार करने की बजाए परोक्ष प्रहार करने की नीति पर चलते दिख रहे हैं।

भोपालJul 03, 2024 / 09:11 pm

deepak deewan

Mohan Yadav Nursing Scam Digvijay Singh Tweet

Mohan Yadav Nursing Scam Digvijay Singh Tweet

Mohan Yadav Nursing Scam Digvijay Singh Tweet मध्यप्रदेश में बुधवार को राज्य का बजट पेश किया गया। विधानसभा में चल रही कार्यवाही और गहमागहमी के बीच सियासती दांव पेंच भी चलते रहे। कांग्रेस की एक और रणनीति सामने आई। कांग्रेस नेता अब राज्य की बीजेपी सरकार के मुखिया यानि मुख्यमंत्री मोहन यादव पर सीधे वार करने की बजाए परोक्ष प्रहार करने की नीति पर चलते दिख रहे हैं। यहां तक कि सीएम मोहन यादव को स्वच्छ बताकर उनके कथित भ्रष्ट साथियों पर निशाना साधा जा रहा है। इधर कांग्रेस के खिलाफ बीजेपी भी हमलावर रुख अपना रही है।
एमपी के नर्सिंग घोटाले में कांग्रेस तत्कालीन चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग को घेरने में जुटी है। पार्टी हर हाल में उनका इस्तीफा चाहती है। ऐसे में कांग्रेस नेताओं ने सीएम मोहन यादव को स्वच्छ और विश्वास सारंग को भ्रष्ट बताकर उनका इस्तीफा लेने का दबाव डालना शुरु कर दिया है। बुधवार को प्रदेश के दो बड़े कांग्रेस नेताओं ने कुछ इसी तर्ज पर बयान दिए।
यह भी पढ़ें : Ladli Behna Yojana एमपी में लाड़ली बहनों को 3000 रुपए देने पर वित्त मंत्री का बड़ा बयान

एमपी कांग्रेस के सबसे वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने नर्सिंग घोटाला पर ट्वीट करते विश्वास सारंग को घेरा। उन्होंने अपने
ट्वीट में सीएम मोहन यादव को संबोधित करते हुए लिखा कि तत्कालीन मंत्री विश्वास सारंग इस घोटाले में शामिल हैं, उनसे इस्तीफ़ा लीजिए अन्यथा आप पर भ्रष्टाचार को छिपाने का आरोप लगेगा। ⁦
नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने भी सीएम मोहन यादव को स्वच्छ बताते हुए विश्वास सारंग पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए और उन्हें हटाने की मांग की। नर्सिंग घोटाले के विरोध में बोर्ड आफिस चौराहे पर यूथ कांग्रेस के दो दिनी सत्याग्रह के समापन पर सिंघार ने कहा कि मुख्यमंत्री मोहन यादव अभी नए हैं और स्वच्छ छवि के हैं। अपनी इस छवि को बरकरार रखने के लिए सीएम मोहन यादव को भ्रष्टाचारी मंत्री को हटा देना चाहिए।

विश्वास सारंग और बीजेपी का भी हमलावर रुख

इधर मंत्री विश्वास सारंग और बीजेपी नेता भी हमलावर रुख अपनाते हुए नर्सिंग घोटाले के लिए कांग्रेस को ही जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। मंत्री विश्वास सारंग का साफ कहना है कि कांग्रेस की कमलनाथ सरकार के समय कई ऐसे नर्सिंग काॅलेजों को मान्यता दी गई थी जोकि दो कमरों के थे। कांग्रेस सरकार और तत्कालीन चिकित्सा शिक्षा मंत्री विजय लक्ष्मी साधौ ने नियमों को ताक पर रखकर कई कॉलेजों को मान्यता दी। ऐसे कॉलेज भी चल रहे थे जिनमें न लैब थी और और न ही फैकल्टी। बीजेपी के वरिष्ठ नेता नरोत्तम मिश्रा भी खुलकर विश्वास सारंग का बचाव कर रहे हैं।
दिग्विजय सिंह का ट्वीट—
नर्सिंग घोटाला के तथ्यों को अवश्य सुनें। विश्वास सारंग तत्कालीन मंत्री इस घोटाले में शामिल हैं। @CMMadhyaPradesh उनसे इस्तीफ़ा लीजिए अन्यथा आप पर भ्रष्टाचार को छिपाने का आरोप लगेगा।

Hindi News/ Bhopal / स्वच्छ मोहन यादव की केबिनेट में कौन है भ्रष्टाचारी! दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर बताया नाम

ट्रेंडिंग वीडियो