Weather Report: भीषण गर्मी की चपेट में कई जिले, अब 47 के पार होगा तापमान, देरी से आएगा मानसून

मौसम विभाग का पूर्वानुमान- अभी और बढ़ेगी गर्मी, पांच दिन देरी से आगे बढ़ रहा है मानसून...।

By: Manish Gite

Published: 28 May 2020, 03:33 PM IST


भोपाल। मध्यप्रदेश में अब तक का सबसे अधिक तापमान 46 डिग्री के पार पहुंच गया है। पारे की यही रफ्तार रही तो अगले सप्ताह तक 47 डिग्री तक पहुंचने की आशंका है। मौसम विभाग (imd) के पूर्वानुमान के मुताबिक इस बार झुलसा देने वाली गर्मी लोगों को सहना पड़ेगी। आने वाले 48 घंटों के दौरान कई स्थानों पर लू चलने की चेतावनी दी गई है। प्रदेश के 7 जिलों में पारा 46 डिग्री के पार निकल गया। इधर, भीषण गर्मी से त्रस्त प्रदेश को मानसून का इंतजार करना पड़ेगा। मौसम विभाग के मुताबिक मानसून ( Monsoon 2020 Update ) पांच दिनों की देरी से आगे बढ़ रहा है।

मध्यप्रदेश के 7 जिले इस समय भीषण गर्मी की चपेट में हैं। यहां का पारा 46 डिग्री के पार निकल गया है। यही आलम रहा तो आने वाले दो-चार दिनों में गर्मी का पारा 47 के पार निकल सकता है। प्रदेश के खजुराहो, नौगांव, रीवा, सीधी, ग्वालियर, दतिया और मुरैना जिले में 46 डिग्री से. तापमान दर्ज किया गया। आगे आने वाले दिनों में दिन के साथ ही रातें भी गर्म होंगी।

weather_1.jpg

इन जिलों में पड़ेगी लू
प्रदेश के छतरपुर, होशंगाबाद, ग्वालियर, खंडवा और खरगौन जिलों में भी गर्मी अधिक बढ़ सकती है। मौसम विभाग ने यलो अलर्ट जारी कर इन जिलों लू चलने की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग की यह चेतावनी अगले 24 घंटों के लिए हैं, यानी शुक्रवार को भी लू की चपेट में कई जिले आ सकते हैं।

यहां हो सकती है हल्की बारिश
मौसम विभाग ( India Meteorological Department ) ने रीवा और चंबल संभागों के जिलों में कहीं-कहीं हल्की बारिश का पूर्वानुमान लगाया है। इस दौरान गरज-चमक के साथ बौछारें भी पड़ सकती हैं।

 

 

Weather Update || चूरू में दस साल में दूसरी बार पारा 50 पर

पिछले 24 घंटों का हाल
प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान जबलपुर और रीवा संभागों के जिलों में हल्की बारिश दर्ज की गई, जबकि शेष जिलों में मौसम शुष्क रहा। प्रदेश के रीवा, सीधी, सतना, छिंदवाड़ा, छतरपुर, टीकमगढ़, दमोह, राजगढ़, खरगौन, ग्वालियर, दतिया, गुना और मुरैना जिलों में लू का प्रभाव रहा। भीषण गर्मी से जूझ रहे मध्यप्रदेश में मानसून का इंतजार लंबा खिंच सकता है। विशेषज्ञों के मुताबिक मध्यप्रदेश में यह 5 से 8 दिनों की देरी से पहुंच सकता है। मानसून में देरी की वजह चक्रवाती तूफान अम्फान को बताया जा रहा है। मौसम विभाग की ताजा रिपोर्ट में कहा गया है कि बादल छाने के साथ ही दक्षिण-पश्चिम हवाओं को मजबूत करने और अन्य अनुकल परिस्थितियों के निर्माण के साथ अगले 48 घंटों के दौरान बंगाल की दक्षिण और मध्य खाड़ी पर मानसून के रफ्तार पकड़ने की संभावना है। इसके साथ ही 5 जून को यह केरल के तट पर पहुंच सकता है। हालांकि इस साल यह पांच दिन देरी से पहुंचेगा।

weather.jpg
weather report
Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned