उत्तरी हवाओं को आगे नहीं बढऩे दे रहे मानसूनी सिस्टम, इसलिए अटक गई मानसून की विदाई

एक डिपे्रशन की विदाई हुई नहीं, 19 को फिर बनने जा रहा एक और सिस्टम, नवरात्रि में हो सकती है बूंदा-बांदी
पिछले वर्ष 16 अक्टूबर को 19 डिग्री था रात का तापमान, शुक्रवार को रहा 24, दिन और रात दोनों गर्म

By: Rohit verma

Published: 17 Oct 2020, 12:11 AM IST

भोपाल. हर साल नवरात्रि तक वातावरण में हल्की ठंडक आ जाती थी। झांकियों के दर्शन और गरबे खेलकर लौट रहे शहरवासियों को हल्की ठंडक का एहसास होता था। लेकिन इस वर्ष अब तक दिन और रात दोनों गर्म बने हुए हैं। शहर में शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 24.4 डिग्री दर्ज किया गौरतलब है कि पिछले पांच दिनों से रात का तापमान 23 डिग्री तो दिन का 33 डिग्री से ऊपर बना हुआ है। मौसम विभाग ने 19 अक्टूबर को खाड़ी में एक और सिस्टम बनने का अनुमान व्यक्त किया है जिससे आने वाले दिनों में बौछारें पड़ सकती हैं।

पिछले वर्ष 16 अक्टूबर को रात का तापमान 19.4 डिग्री दर्ज किया गया था जबकि दिन का तापमान भी 31 डिग्री से नीचे रहकर 30.8 डिग्री रहा था। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला बताते हैं, इस वर्ष ठंड लाने वाले पश्चिमी विक्षोभ तो आने शुरू हो गए हैं, लेकिन बंगाल की खाड़ी में बनने वाले सिस्टम बंद नहीं हुए हैं। दोनों की टकराहट में सिस्टम भारी पड़ रहे हैें इसलिए उत्तर से ठंडी हवाओं का आना रुका हुआ है, जिससे शीत ऋतु का आगमन भी अटक गया है। आने वाले दिनों में भी सिस्टम बनने का आसार है जिससे बादल छाएंगे और बौछारें पडऩे के बीच बूंदा-बांदी के साथ उमस और गर्मी बनी रहने का अनुमान है, जिससे शरद ऋतु का आगमन कुछ दिन और टल सकता है।

Rohit verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned