अल्टरनेट प्रोजेक्ट फाइनेंसिंग में मोंटेक सिंह ने दिए बजट के ये टिप्स

भोपाल के मिंटो हॉल में अल्टरनेट प्रोजेक्ट फाइनेंसिंग पर सेमिनार का आयोजन...।

By: Manish Gite

Updated: 18 Feb 2020, 06:49 PM IST

भोपाल। मुख्यमंत्री कमलनाथ एवं योजना आयोग के पूर्व अध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलूवालिया ने मंगलवार को अल्टरनेट प्रोजेक्ट फाइनेंसिंग पर आयोजित सेमिनार का शुभारंभ किया। इस सेमिनार में विकास परियोजनाओं के लिए बजट के परंपरागत स्रोतों पर निर्भरता कम करने के वैकल्पिक वित्तीय स्रोत पर चर्चा शुरू हुई।

राजधानी के मिंटो हाल में आयोजित सेमिनार में मुख्यमंत्री कमलनाथ, वित्त मंत्री तरुण भनोत, जयवर्धन सिंह, पीसी शर्मा, मुख्य सचिव एसआर मोहंती भी मौजूद हैं।

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि आज युवाओं के लिहाज से से चुनौती हैं। अहलूवालिया अर्थशात्री भी हैं और समझते भी हैं। दुनिया बदल रही है भारत बदल रहा है। आर्थिक तौर पर नई चुनौतियों का सामना कर रहे हैं। एमपी में सबसे बड़ा फारेस्ट एरिया है। मध्यप्रदेश में 70 फीसदी लोग कृषि पर निर्भर है। आजकल बैंकों के काम करने का तरीका बदल गया है। बैंक आईटी कंपनी की तरह काम कर रही हैं।

कमलनाथ ने कहा कि हमें मध्यप्रदेश को आगे लेकर जाना है। खेती के क्षेत्र में भी कई चुनौतियां हैं। हमें धोती-कुर्ता वाले किसानों को जींस-टी शर्ट वाला किसान बनाना है।

और क्या बोले कमलनाथ
-हम मिनरस्ल के मामले में सबसे मजबूत हैं।
-देश में एमपी हार्टिकल्टचर का कैपिटल है।
-एक साल में सरकार ने कई लोन लिए।
किसानों को फायदा पहुंचाना हमारा मकसद है।
सरकार अपने संसाधनों का कैसे इस्तेमाल करे, यह सोचना है।
पारंपरिक खेती को आधुनिक खेती में कैसे बदला जाए, यह भी सोचना है।
बदलते मौसम की चुनौतियों से भी निपटने के लिए सोचना होगा।
विजन टू डिलीवरी 2020 के रोड मैप को पूरा करना है।

 

क्या बोले अहलूवालिया
विकास का फायदा सबको मिलता है।
प्राइवेट सेक्टर में काफी संभावनाएं हैं।
समस्याओं का समाधान ढूंढने की जरूरत है।
इंफ्रास्ट्रक्टर के अलावा भी कई चुनौतियां हैं।
सरकार के पास सीमित संसाधन होते हैं।
सरकार को बजट के कई काम करने होते हैं।
पीपीपी माडल के फायदे हैं तो कमियां भी हैं।

 

इन मुद्दों पर भी हुई चर्चा
मिंटो हाल में आयोजित सेमिनार में मोंटेक सिंह अहलूवालिया के साथ प्रदेश सरकार ने अहम मुद्दों पर चर्चा की। इसमें सामाजिक क्षेत्र, सिंचाई, कृषि, अधोसंरचना, ऊर्जा और औद्योगिक विकास प्रमुख हैं। इन मुद्दों पर विभिन्न सत्रों में चर्चा हुई। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने संबंधों के आधार पर अहलूवालिया को वित्तीय प्रबंधन बेहतर बनाने के लिए बुलाया है।

Kamal Nath
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned