scriptMore than four and a half thousand people got publication dose done | साढ़े चार हजार से अधिक लोगों ने लगवाया publication dose | Patrika News

साढ़े चार हजार से अधिक लोगों ने लगवाया publication dose

- महंगे दामों में खरीदा था टीका अब सरकार ने रेट किए कम, इसलिए अस्पताल ले रहे हैं रूचि

- डोज की भी बुकिंग अन्य डोजेंज की तरह कोविन पार्टल के जरिए की जाएगी

 

भोपाल

Published: April 11, 2022 10:15:03 pm

- महंगे दामों में खरीदा था टीका अब सरकार ने रेट किए कम, इसलिए अस्पताल ले रहे हैं रूचि

भोपाल। प्रदेश में 18 वर्ग से अधिक आयु वर्ग के लोगों को कोरोना का publication doseलगना प्रारंभ हो गया है। सोमवार को दूसरे दिन प्रदेश में साढ़े चार हजार से अधिक लोगों ने टीका लगवाया। सिर्फ 12 अस्पताल ही प्रिकोशन डोल लगाने में रूचि ले रहे हैंँ। इसका एक कारण अस्पतालों ने इन टीकों को पहले महंगे दामों में खरीद लिया था, लेकिन सरकार ने 386 रुपए की दरें तय कर दीें, इसलिए अस्पताल इसे घाटे का सौदा मान रहे हैं। मालूम हो सरकार ने प्रिकाशन डोज के vaccination की पूरी स्वयत्तता private hospitals को दे रखी है, इसके चलते लोग यह डोज अपनी सुविधा के अनुसार अस्पतालों में जाकर लगवा सकते हैं। इस डोज की भी बुकिंग अन्य डोजेंज की तरह कोविन पार्टल के जरिए की जाएगी।
covid_scam.jpg
वर्तमान में यह सुविधा जिला स्तर पर स्थित के बड़े निजी अस्पतालों ने ले रखी है। इस डोज की बुकिंग टीके की उपलब्धता के अनुसार की जाएगी। बताया जाता है कि प्रिकाशन डोज की जैसे-जैसे उपलब्धता और मांग बढ़ती जाएगी, वैसे-वैसे टीकाकरण करने वाले निजी अस्तपतालों की संख्या भी बढ़ेगी। बताया जाता है कि अब तक प्रदेश में 9 लाख 87 हजार लोगों को प्रिकाशन डोज लगाया जा चुका है। सरकार ने डाक्टरों और फ्रंट लाइन वर्करों को यह डोज सरकारी टीकाकरण केन्द्रों पर मुफ्त में लगाया है। अब सामान्य वर्ग के लिए vaccination ओपन कर दिया गया है, लेकिन इसके लिए सरकार ने 386 रुपए निर्धारित किया है। निजी अस्पलात इससे ज्यादा राशि लोगों से नहीं वसूल सकेंगे। यह राशि ऑन लाइन और कैश दोनों में भुगतान किया जा सकेगा। प्रिकाशन डोज उन्हीं वर्गों को लगाया जा सकेगा, जिसका जन्म वर्ष 1963 अथवा उसके बाद और वर्ष 2004 से पहले हुआ हो।
पांच करोड़ 99 लाख लोगों को लगा पहला डोज

कोरोना टीकाकरण शुरूआत से लेकर अब तक प्रदेश में पांच करोड़ 99 लाख लोगों को पहला डोज लगाया जा चुका है। जबकि अब तक दोनों डोज 11 करोड़ से अधिक लोगों को लगाया जा चुका है। हालांकि तमाम अभियानों के बाद भी करीब दो करोड़ से अधिक लोगों ने टीके लगवाने के लिए सामने नहीं आ रहे हैं। वर्तमान में टीकाकरण की गति काफी धीमी है। पिछले कई दिनों का आंकड़ों का ऑकलन किया जाए तो 9 से दस हजार लोग ही रोज टीके लगवाने के लिए केन्द्रों पर पहुंच रहे हैं।
अब तक हुआ टीकाकरण

आयु वर्ग--- संख्या

12-14--- 1865748

15-17----7159825

18-44---70542507

45-60---23460474

60 वर्ष से अधिक --13742290

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

आय से अधिक संपत्ति मामले में ओम प्रकाश चौटाला दोषी करार, 26 मई को सजा पर होगी बहसअरुणाचल प्रदेश पहुंचे अमित शाह, स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा का अनावरण कर बोले- मोदी सरकार ने दिल्ली व नॉर्थ-ईस्ट के अंतर को खत्म कियाबेटी की 'अवैध' नियुक्ति को लेकर CBI ने बंगाल के मंत्री परेश अधिकारी से तीसरे दिन भी की पूछताछRajiv Gandhi 31st Death Anniversary: अधीर रंजन ने ये क्या कह दिया, Tweet डिलीट कर देनी पड़ रही सफाई, FIR तक पहुंची बातभीषण गर्मी : देश में 140 में से 60 बड़े बांधों का पानी घटा, राजस्थान के भी तीन बांधNCP प्रमुख शरद पवार आज पुणे में ब्राह्मण समुदाय के नेताओं से क्यों मिल रहे हैं?जून के अंत में आएगी कोरोना की चौथी लहर? जानिए AIIMS के पूर्व डायरेक्टर ने क्या दिया जवाब01 जून से दुर्लभ संधि योग में शुरू होगा राम मंदिर के गर्भगृह का निर्माण, वर्षों बाद बन रहा शुभ मुर्हूत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.