दिग्विज बोले भाजपा और संघ ने मुझे बनाया पंचिंग बैग

दिग्विज बोले भाजपा और संघ ने मुझे बनाया पंचिंग बैग

Harish Divekar | Publish: Nov, 19 2018 11:28:34 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

भीमा कोरेगांव मामले पर बोले दिग्विजय, प्रमाण हैं तो मुझे गिरफ्तार करें

दिग्विजय सिंह ने कहा कि भाजपा और संघ ने मुझे पंचिंग बैग बना रखा है।

उन्होंने कहा कि मेरे पास इन दोनों संगठनों की बहुत सी कमजोरियां हैं।

वे जानते हैं कि मैं इसे कभी भी उजागर कर सकता हूं, इसलिए भाजपा के लोग मुझसे डरे रहते हैं।

यही कारण है कि दोनों संगठनों को जब भी किसी बात पर गुस्सा निकालना होता है तो वे मुझे पंचिंग बैग समझ कर पंच मारते हैं।

यह बात दिग्विजय सिंह ने भोपाल में आयोजित एक कार्यक्रम में कही।

कांग्रेस सांसद और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि केंद्र में भाजपा की मोदी सरकार और महाराष्ट्र में फणनवीस सरकार है, इनके पास प्रमाण हैं तो गिरफ्तार करें।

पहले मध्यप्रदेश सरकार भी उन पर देशद्रोही होने का आरोप लगा चुकी है,लेकिन जब वो आत्मसमर्पण करने थाने पहुंचे तो पुलिस ने इस तरह के किसी भी मामले से इनकार कर दिया।

 

दिग्विजय ने कहा कि उनके जिस नंबर के आधार पर उन पर ये आरोप लगाया जा रहा है वो चार साल से बंद है।

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने उज्जैन में मीडिया से कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े इस गंभीर मामले में उनका नाम आने के बाद क्या राहुल गांधी जांच पूरी होने तक दिग्विजय सिंह को पार्टी से बर्खास्त करेंगे।

चुनावी समय में कांग्रेस नेता पर इस तरह के आरोप लगना पार्टी के लिए शर्मनाक है।

संबित पात्रा के आरोपों पर दिग्विजय ने कहा कि संबित की बातों को वे गंभीरता से नहीं लेते।

इस मामले की जांच कर रही पुणे पुलिस को दिग्विजय सिंह के तार नक्सलियों से जुड़ते नजर आ रहे हैं।

पुणे पुलिस के डीसीपी सुहास बावचे ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी, तो पुलिस दिग्विजय को समन भेज सकती है।
- क्या है पूरा मामला -

 

पुणे पुलिस का कहना है कि जनवरी में हुई इस हिंसा में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह की भूमिका की जांच कर रही है।

पुणे पुलिस के मुताबिक, इस मामले में जून में गिरफ्तार एक्टिविस्ट रोना विल्सन को वॉन्टेड नक्सली नेता मिलिंद टेल्टुम्ब्डे ने खत लिखा था, जिसमें कहा गया था कि कई कांग्रेसी नेता हमारी मदद को तैयार हैं।

इसी जांच में पुलिस ने जब गिरफ्तार माओवादी समर्थक नेताओं प्रकाश उर्फ रितुपन गोस्वामी और सुरेंद्र गाडलिंग के मोबाइल नंबरों की पड़ताल की, तो एक नंबर पर उनकी जिनसे बात हुई थी, वह कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह का निकला। डीसीपी बावचे ने माना कि पुलिस की यह जांच बहुत संवेदनशील और हाई प्रोफाइल लोगों से जुड़ी है।

उन्होंने कहा कि हम इस मामले में सभी पहलुओं पर बारीकी से पड़ताल कर रहे हैं।



 

भाजपा की बातों से कुछ कांग्रेसी भी प्रभावित

दिग्विजय ने यह भी कहा कि भाजपा ये प्रचार करती है कि मेरे भाषण देने से उसको फायदा होता है। भाजपा की इस बात से कुछ कांग्रेसी भी प्रभावित होकर ये बात बोलने लगे हैं। जबकि एेसा नहीं है। मैं लगातार संगठन को मजबूत बनाने के लिए काम कर रहा हूं, आगे भी करता रहूंगा।

मोदी कांग्रेस की ले लें सदस्यता
उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी को इतनी चिंता है कि कांग्रेस का अध्यक्ष कौन बने तो वे कांग्रेस की सदस्यता ले लें, फिर अपनी बात कहें। राहुल गांधी के समय भी निर्वाचन प्रक्रिया हुई थी, लेकिन किसी भी कार्यकर्ता ने फार्म नहीं भरा इसलिए राहुल अध्यक्ष चुने गए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned