भाजपा सांसद ने टवीट कर दी सुप्रीम कोर्ट को चुनौती, कहा रात 10 के बाद चलाउंगा फटाखे

भाजपा सांसद ने टवीट कर दी सुप्रीम कोर्ट को चुनौती, कहा रात 10 के बाद चलाउंगा फटाखे

Harish Divekar | Publish: Oct, 23 2018 08:49:06 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

बोले धार्मिक परंपरा मनाने के लिए जेल जाना भी मंजूर

मध्यप्रदेश भाजपा सांसद चिंतामणी मालवीय ने ट्वीट कर सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश को चुनौती दी है, जिसमें कहा गया है कि रात 8 से 10 बजे तक ही पटाखे चलाए जा सकते हैं।

सांसद मालवीय ने ट्वीट कर कहा है कि "मैं अपनी दीवाली अपने परम्परागत तरीके से मनाऊंगा और रात में लक्ष्मी पूजन के बाद 10 बजे के बाद ही पटाखे जलाऊंगा । हमारी हिन्दू परंपरा में किसी की भी दखलंदाजी में हरगिज बर्दाश्त नही कर सकता । मेरी धार्मिक परम्पराओं के लिए यदि मुझे जेल भी जाना पड़े तो में खुशी खुशी जेल भी जाऊंगा"
सांसद के खुले आम सोशल मीडिया पर देश की सर्वोच्य अदालत के फैसले को चुनौती देने के बाद पटाखे फोड़ने को लेकर देश भर में बहस शुरू हो गई है।

 

उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट ने इस सम्बन्ध में फैसला सुनते हुए पटाखों की बिक्री पर पूरी तरह से बैन लगाने से साफ इनकार किया है, हालांकि, कोर्ट ने इसके साथ कुछ शर्तें भी रखी हैं जिसे ना सिर्फ आम लोगों को बल्कि दुकानदारों को भी मानना होगा।

इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट ने समय भी निर्धारित किया है| जिसके अनुसार केवल रात आठ बजे से 10 बजे तक ही पटाखे चला सकते हैं। इस फैसले के बाद जहां पटाखा विक्रेताओं में हड़कंप है, वहीं राजनीति में भी हलचल है|
दरअसल, मंगलवार को SC ने अपने फैसले में शर्तों के सात पटाखों की बिक्री और पटाखे चलाने की अनुमति दी है| कोर्ट ने कहा कि पटाखों की ऑनलाइन बिक्री नहीं की जा सकती है।

कोर्ट ने ई-कॉमर्स पोर्टल्स को पटाखे बेचने से रोक दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि पटाखों को केवल लाइसेंस पाए ट्रेडर्स ही बेच सकते हैं।

 

आपको बता दें कि वायु प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए देशभर में पटाखों के उत्पादन और बिक्री पर रोक लगाने की मांग की गई थी। याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को इस पर अहम फैसला दिया। कोर्ट ने कम आवाज वाले पटाखे जलाने का आदेश दिया है ताकि प्रदूषण से मुक्ति मिल सके जस्टिस एके सीकरी की अध्यक्षता वाली पीठ ने मंगलवार को ये फैसला सुनाया है।

सुप्रीम कोर्ट की शर्तें और फैसले की बड़ी बातें :
-केवल रात आठ बजे से 10 बजे तक ही पटाखे चला सकते हैं।
-जिन विक्रेताओं के पास लाइसेंस है केवल वही पटाखे बेच सकते हैं।
-ऑनलाइन पटाखों पर लगी रोक अब भी जारी रहेगी।
-अगर कोई पटाखे की ऑनलाइन बिक्री करता है तो उसके खिलाफ कोर्ट की अवमानना का केस चलेगा।

-क्रिस्मस पर रात 12 बजे पटाखे चला सकते हैं। लेकिन नए साल और क्रिसमस के मौके रात 11:55 से 12:30 बजे तक ही पटाखे चला सकते हैं।

-दिवाली से पहले पटाखे बनाने वाली फैक्ट्री की जांच की जाए।
केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के वकील विजय पंजावाणी ने कहा, सुप्रीम कोर्ट का आदेश बहुत सख्त नहीं है। हम पूर्ण प्रतिबंध की उम्मीद कर रहे थे लेकिन ऐसा नहीं हुआ है। पटाखों की अनुमति होगी लेकिन समय तय किया गया है क्योंकि इसे 8 बजे से शाम 10 बजे के बीच अनुमति दी जाएगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned