scriptMP : Every year more than 12000 newborns die in the hospital itself | सदन में सरकार का कबूलनामा, अस्पताल में ही हर साल दम तोड़ देते हैं 12000 से अधिक नवजात शिशु | Patrika News

सदन में सरकार का कबूलनामा, अस्पताल में ही हर साल दम तोड़ देते हैं 12000 से अधिक नवजात शिशु

हर रोज औसतन 37 नवजात शिशुओं की मौत

भोपाल

Updated: December 22, 2021 09:47:22 am

भोपाल। प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की स्थिति कैसी है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि राज्य में प्रतिवर्ष 12 हजार से अधिक नवजात अस्पतालों में ही दमतोड़ देेते हैं। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी ने कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी को लिखित उत्तर में यह जानकारी दी। उन्होंने लिखित उत्तर में बताया कि पिछले पांच वर्ष में 68 हजार 301 नवजात शिशुओं की मौत हुई है। इस सरकारी आंकड़े के मुताबिक यानी हर रोज औसतन 37 नवजात शिशुओं की मौत हुई।
सदन में विधायकों के लिए लागू होगी आचार संहिता, सवाल दोहराने की नहीं होगी अनुमति
सदन में विधायकों के लिए लागू होगी आचार संहिता, सवाल दोहराने की नहीं होगी अनुमति
कांग्रेस विधायक ने पूछा था कि चाइल्ड इनटेंसिव केयर यूनिट में इलाज के दौरान पिछले पांच साल में कितने नवजात शिशुओं की मौत हुई। साथ ही इन्होंने पिछले दिनों भोपाल के हमीदिया अस्पताल में हुए हादसे की जांच को लेकर सवाल किए थे, लेकिन इसका जवाब मंत्री डॉ. चौधरी ने नहीं दिया। उन्होंने कहा कि इसकी जानकारी एकत्र की जा रही है।
हमीदिया हादसे की जांच पर जानकारी जुटाने की बात
भोपाल के हमीदिया हादसे को लेकर सरकार से पूछा था कि पिछले माह आग लगने और उसमें नवजात शिशुओं के मृत होने की घटना की जांच करने किस अधिकारी को नियुक्त किया था। क्या स्वास्थ्य विभाग ने अपने स्तर पर कोई जांच की है। इस हादसे के लिए किन-किन दोषी अधिकारियों पर क्या कार्रवाई की गई। इस पर मंत्री कोई जवाब नहीं दिया, सिर्फ इतना ही कहा कि जानकारी एकत्रित की जा रही है।
सरकारी अस्पतालों के ऐसे हैं हाल
वर्ष ---- उपचारत नवजात शिशु ---- मृत नवजात शिशु
2016-17 ---- 93630 ---- 12952
2017-18 ---- 95231 ---- 13106
2018-19 ---- 101854 ---- 13954
2019-20 ---- 111133 ---- 14759
2020-21 ---- 99148 ---- 13530
कुल ---- 500996 ---- 68301

सामने आई अधिकारियों की लापरवाही
विधानसभा के जवाब देने में भी विभाग कितने जिम्मेदार होते हैं, इसका उदाहरण मंगलवार को देखने को मिला। विधायक जीतू पटवारी द्वारा सरकारी अस्पतालों में नवजातों की मौत पर पूछे गए सवाल पर विभाग के अधिकारियों ने जवाब में हमीदिया अस्पताल में बीते पांच वर्ष में 68 हजार से ज्यादा बच्चों की मौत की जानकारी दे दी। 2020-21 में 13530 नवजातों की मौत बताई गई। हालांकि यह आंकड़ा प्रदेशभर का है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां

बड़ी खबरें

यूपी की हॉट विधानसभा सीट : गुरुओं की विरासत संभालने उतरे योगी आदित्यनाथ और अखिलेश यादवक्या चुनावी रैलियों पर खत्म होंगी पाबंदियां, चुनाव आयोग की अहम बैठक आजदेशभर में नकली नोट व नकली सोना चलाने वाला गिरोह पकड़ा, एक महिला सहित पांच गिरफ्तारदेश विरोधी कंटेंट के खिलाफ सरकार की बड़ी कार्रवाई, 35 यूट्यूब चैनल किए ब्लॉकCo-WIN में बदलाव, अब एक मोबाइल नंबर पर 6 लोग कर सकेंगे रजिस्ट्रेशनसावधान! कोरोना वायरस फैला रहा टीबी, बढ़ती संख्या पर आइसीएमआर ने चेतायाweather forecast news today live updates: दिल्ली-UP समेत उत्तर भारत में शीतलहर, कई राज्यों में आज भी बारिश की सम्भावनाpetrol diesel price today: 79वें दिन पेट्रोल-डीजल के दाम स्थिर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.