लाखों की हाईटेक बस रखने वाले शंकराचार्य मांग रहे टैक्स में छूट, जानें क्यों...

लाखों की हाईटेक बस रखने वाले शंकराचार्य मांग रहे टैक्स में छूट, जानें क्यों...
shankaracharya swaroopanand saraswati, exclusive interview, controversial statement, shankaracharya swaroopanand saraswati exclusive interview on their controversial statement

कैबिनेट बैठक मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में बुधवार को होगी।

भोपाल. प्रदेश सरकार शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती के निजी उपयोग में आने वाले बस को टैक्स फ्री करेगी। इसका प्रस्ताव कैबिनेट बैठक में आ सकता है। कैबिनेट बैठक मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में बुधवार को होगी। इसमें शंकराचार्य ज्योतिषपीठ बद्रीकाश्रम के निजी उपयोग के लिए बस को टैक्स फ्री करने का प्रस्ताव भी रखा जाएगा।


इसलिए सरकार कर रही टैक्स फ्री
परिवहन विभाग इस बस के लिए शंकाराचार्य से साढ़े आठ लाख रुपए टैक्स मांग रहा है, लेकिन शंकराचार्य इसे देने से मना कर रहे हैं। उन्होंने गृह मंत्री बाबूलाल गौर से टैक्स मांफ कराने को कहा है। गौर ने इस संबंध में एक चि_ी परिवहन विभाग को भी भेजी। शंकराचार्य का कहना है कि बस का चेचिस 15 लाख रुपए का था, इसलिए उस हिसाब से टैक्स वसूला जाए, लेकिन परिवहन विभाग बस के सड़क पर आने की लागत के हिसाब से टैक्स लेगा।


लग्जरी सुविधाओं से लैस है सभी बसें
शंकराचार्य ने ये बसें डीसी कंपनी से असेंबल कराईं हैं। बस में शंकराचार्य की सुविधाओं का पूरा ख्याल रखा गया है। बस के पिछले हिस्से में एक ऑटोमेटिक लिफ्ट लगाई गई है। शंकराचार्य चल नहीं सकते, इसलिए यह सुविधा दी गई है। यह लिफ्ट जमीन से टिकी रहेगी और शंकराचार्य की व्हीलचेयर यहां आकर लग जाएगी। लिफ्ट अपने आप उन्हें बस में ले जाएगी। इसके अलावा बस में शंकाराचार्य के लिए बिस्तर, टीवी और वॉश रूम की भी व्यवस्था की गई है। बस में आगे और पीछे हाईक्वालिटी के कैमरे लगे हैं, जो 500 मीटर तक की गतिविधि पर नजर रखते हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned