scriptmp local body election 2022 bans exhibition of animals in election cam | mp local body election 2022: चुनाव प्रचार में इनके उपयोग पर लगाई रोक | Patrika News

mp local body election 2022: चुनाव प्रचार में इनके उपयोग पर लगाई रोक

चुनाव प्रचार में पशुओं की नुमाइश करना माननीयों को पड़ेगी भारी

भोपाल

Published: July 04, 2022 06:32:48 pm

भोपाल. मध्य प्रदेश पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव के चुनाव प्रचार अब अंतिम चरण में हैं. इसको देखते हुए चुनावी रणभेरी में ताल ठोकने वाले उम्मीदवार अपने चुनावी प्रचार में कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं. ताजा मामला भोपाल में सामने आया था जहां चुनावी रैली में ऊंट से करतब कराया गया था।

patrika_mp_mp_state_election.jpg

अब शिकायत मिलने पर मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग ने नगरीय निकाय व पंचायत चुनाव में प्रचार के लिए पशुओं के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है. इस संबंध में सभी जिला कलेक्टर और जिला निर्वाचन अधिकारियों को आदेश जारी किए गये हैं. आदेश का उल्लंघन करने वाले प्रत्याशियों पर राज्य निर्वाचन आयोग सख्त कार्यवाही करेगा।

भोपाल में शनिवार को कोलार क्षेत्र में चुनावी रैली के दौरान ऊंट से करतब कराकर आचार संहिता की धज्जियां उड़ाई गई थी। बीजेपी की महापौर प्रत्याशी मालती राय की चुनावी रैली में ऊंट के मुंह में आग रखकर करतब कराए गए और उठक-बैठक कराई गई। इतना ही नहीं निर्दयी तरीके से ऊंट को घुटनों के बल भी चलाया गया. हैरानी की बात यह है कि यह सब रैली में मौजूद भाजपा के दिग्गज नेताओं की आँखों के सामने होता रहा लेकिन किसी ने आपत्ति नहीं की।

आयोग की तरफ से जारी किए आदेश में भारत के संविधान के अनुच्छेद-51 क (छ) के मूल कर्त्तव्य के रूप में सजीव प्राणियों के प्रति करुणा दिखाने की अपेक्षा की गई है। संविधान में पशुओं के प्रति क्रूरता का निवारण अधिनियम-1960 और वन्य-जीव संरक्षण अधिनियम-1972 में प्रताड़ना पर प्रतिबंध लगाया गया है.

बेजुबान पर हुए अत्याचार की शिकायत कांग्रेस के महामंत्री और चुनाव आयोग कार्य प्रभारी जेपी धनोपिया ने चुनाव आयोग से की थी. कांग्रेस नेताओं की ओर से इस मामले को लेकर बीजेपी नेताओं के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की मांग की गई थी. निर्वाचन आयोग ने इस मामले पर तत्काल संज्ञान लेते हुए चुनाव प्रचार में पशुओं के इस्तेमाल पर रोक लगा दी। आयोग के सचिव राकेश सिंह ने जानकारी देते हुए कहा है कि नगरीय निकायों और पंचायतों के निर्वाचन के दौरान किसी भी राजनैतिक दल अथवा अभ्यर्थी द्वारा प्रचार के लिए पशुओं का इस्तेमाल नहीं किया जा सकेगा। इस संबंध में सभी जिला कलेक्टर को भी आदेश जारी हुए हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कॉमनवेल्थ गेम्स के पदकवीरों से आज करेंगे मुलाकातसलमान रुश्दी ने ऐसा क्या लिखा, मुस्लिम कट्टरपंथी बन गए जान के दुश्मन, जानिए पूरा मामलाTrump Search Warrant: एफबीआई ने ट्रंप के मार-ए-लागो आवास से जब्त की Top Secret फाइलें, हो सकती है 5 साल की सजाकांग्रेस MLA का आपत्तिजनक बयान, कहा- "सरकारी नौकरी के लिए महिलाओं को किसी के साथ सोना पड़ता है"मनीष सिसोदिया का BJP पर निशाना, कहा - 'रेवड़ी बोलकर मजाक उड़ाने वाले चला रहे दोस्तवादी मॉडल'भोजपुरी का मशहूर सिंगर कर रहा था ड्रग्स की तस्करी, दिल्ली पुलिस ने 21 किलो गांजे के साथ किया गिरफ्तारसोनिया गांधी से मुलाकात के बाद बोले तेजस्वी यादव- 'नीतीश जी का हमसे हाथ मिलाना BJP के मुंह पर तमाचे की तरह''स्मोक वार्निंग' के कारण मालदीव जा रही 'गो फर्स्ट' की फ्लाइट की हुई कोयंबटूर में इमरजेंसी लैंडिंग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.