लाखों युवाओं को बड़ा झटका, फिर अटकी पुलिस भर्ती और संविदा शिक्षक भर्ती परीक्षा

एजेंसी की ओर से अभ्यर्थियों के आधार कार्ड का वेरिफिकेशन नहीं किए जाने के कारण अटकी पुलिस भर्ती और संविदा शिक्षक परीक्षा..

By: Shailendra Sharma

Updated: 21 Feb 2021, 06:34 PM IST

भोपाल. मध्यप्रदेश के पुलिस भर्ती और संविदा शिक्षक पात्रता परीक्षा की तैयारी कर रहे लाखों युवाओं के लिए एक बुरी खबर है। प्रदेश में होने वाली ये दोनों बड़ी परीक्षाएं फिर अटक गई हैं और अब परीक्षा की तारीखों को फिर से आगे बढ़ा दिया गया है। भर्ती प्रकिया में परीक्षा के नियमों का पालन करने के कारण एग्जाम एजेंसी को एक नोटिस जारी हुआ है जो प्रदेश के करीब 18 लाख अभ्यार्थियों के लिए भी एक बड़ा झटका है।

 

 

एग्जाम एजेंसी को जारी हुआ नोटिस, अटकी परीक्षा
बताया जा रहा है कि पुलिस भर्ती और संविदा शिक्षक पात्रता परीक्षा की जिम्मेदारी मुंबई की एक एजेंसी को दी गई थी। एजेंसी ही अभ्यार्थियों के आवेदन ले रही थी और उनका वेरिफिकेशन करने का जिम्मा भी उसी का था। लेकिन अब पता चला है कि एजेंसी की ओर से अभ्यार्थियों के आधार कार्ड का वेरिफिकेशन नहीं किया है जिसके कारण प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड ने उसे एक नोटिस जारी किया है जिसमें भर्ती प्रक्रिया पर रोक लगाने के निर्देश दिए गए हैं। प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड ने इससे पहले इस संबंध में एजेंसी से जानकारी भी मांगी थी तब कंपनी की ओर से कहा गया था कि कंपनी का आधार वेरिफेकशन का सर्वर अपडेट नहीं है।


क्या कहते हैं जिम्मेदार ?
परीक्षा एजेंसी के एमपी प्रोजेक्ट डायरेक्टर का कहना है कि कंपनी का आधार सर्वर एग्जाम इंजन सॉफ्टवेयर से कनेक्ट नहीं था। जिसकी जानकारी पीईबी (PEB) को दी गई थी। वहीं प्रोफेशनल एग्जाम बोर्ड के चेयरमैन केके सिंह का कहना है कि जेल भर्ती परीक्षा एग्जाम बोर्ड के द्वारा बीते दिनों आयोजित की गई थी उसमें आधार वेरिफिकेशन यूआईडीएआई के सर्वर पर किया गया था और अब से जो भी प्रोफेशनल एग्जाम बोर्ड आयोजित करेगा उसमें एग्जाम इंजन का सॉफ्टवेयर आधार सर्वर से इंटीग्रेशन आवश्यक है।

देखें वीडियो- खेल मैदान की भूमि पर कब्जा

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned