एक्शन मोड में 'महाराज', भाजपा में कद बढ़ते ही कांग्रेस पर हावी हुए ज्योतिरादित्य

मध्यप्रदेश में अभी भी विभागों का बंटवारा नहीं हुआ है।

By: Pawan Tiwari

Updated: 07 Jul 2020, 03:30 PM IST

भोपाल. ज्योतिरादित्य सिंधिया मध्यप्रदेश में एक बार फिर से एक्टिव हो गए हैं। 24 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा का सबसे बड़े चेहरे हैं। शिवराज कैबिनेट में ज्योतिरादित्य सिंधिया खेमे के 9 नेताओं को मंत्री बनाया गया है। सूत्रों का कहना है कि सिंधिया अपने समर्थक नेताओं के लिए पसंदीदा विभाग चाहते हैं जिस कारण से शिवराज कैबिनेट में विभागों का बंटवारा नहीं हो पा रहा है।


विभाग के बंटवारे पर अड़े
मंत्रिमंडल विस्तार के बाद अब विभागों का फैसला भी केंद्रीय नेतृत्व के हाथ में चला गया है। दिल्ली में दो दिन की मशक्कत के बाद भी यह तय नहीं हो सका कि भाजपा के पास कौन से विभाग रहेंगे और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया खेमे में क्या जाएगा? बताया जा रहा है कि ज्यादा झगड़ा नगरीय विकास, पीडब्ल्यूडी, राजस्व, स्वास्थ्य, परिवहन, जल संसाधन, पीएचई, वाणिज्यिक कर, आबकारी, स्कूल शिक्षा और महिला एवं बाल विकास विभाग को लेकर है। सिंधिया अपने खेमे के नेताओं को कई बड़ा पद दिलाना चाहते हैं।

कांग्रेस पर हमला
भाजपा में शामिल होने के बाद सिंधिया अब कांग्रेस पर हमलावर हो गए हैं। सिंधिया पूर्व सीएम कमलनाथ और दिग्विजय सिंह पर खुले मंच से हमलावर हो गए हैं। कमलनाथ सरकार को भ्रष्ट सरकार बताने की कोशिश कर रहे हैं।

वर्चुअल रैली
सिंधिया 24 सीटों पर होने वाले उपचुनाव को देखते हुए मध्यप्रदेश में वर्चुअल रैली भी कर रहे हैं। मुंगावली विधानसभा के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सिंधिया ने कहा था- कार्यकर्ताओं से अपील है कि की जनता से पूछियेगा कि उन्हें मेरी और शिवराज जी की जोड़ी चाहिए या दिग्विजय – कमलनाथ की बंटाधार जोड़ी? ये चुनाव जनता की प्रतिष्ठा, विकास और प्रगति का मुद्दा है क्योंकि मैं और शिवराज जी ही मुंगावली की जनता के लिये सदा समर्पित रहे हैं।

मैं हमेशा सत्य की लड़ाई लड़ता हूं। कभी छल - कपट वाली राजनीति मैंने नहीं की। पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी जी के संकल्प "आर- पार की लड़ाई" को हम आत्मसात कर भाजपा के सभी कार्यकर्ताओं को मिलकर हमें लड़ना है और कांग्रेस को परास्त करना है।

एकजुटता का संदेश
सिंधिया अपने समर्थक और भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ एकजुटता की भी कोशिश कर रहे हैं। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा था- हम सब एक परिवार के सदस्य हैं, हमारे यहां कोई नेता या कार्यकर्ता नहीं है। इस भावना के साथ हमें मिलकर काम करना है। मुंगावली के सभी कार्यकर्ताओं से अपील करना चाहूंगा कि हमसब मिलकर इस चुनाव में विजयश्री हासिल करेंगे और कांग्रेस को बुरी तरह परास्त करेंगे।

बड़े नेताओं से मुलाकात
सिंधिया दिल्ली में भाजपा के बड़े नेताओं से मुलाकात कर रहे हैं। हाल ही में सिंधिया ने भाजपा के कई बड़े नेताओं से मुलाकात की है। वहीं, भोपाल दौरे में भी उन्होंने भाजपा के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की थी।

Jyotiraditya Scindia
Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned