scriptMp Toll: Toll News, Toll company | Mp Toll: टोल वसूली कर भर ली जेब, मरम्मत से पीछे हट रहीं कंपनियां | Patrika News

Mp Toll: टोल वसूली कर भर ली जेब, मरम्मत से पीछे हट रहीं कंपनियां

-5 सड़कों की जिम्मेदारी से मुक्त होना चाह रहीं
-गंगोत्री कंपनी ने मरम्मत करने से हाथ खड़े किए
-पाथ-वे कंपनी ने खुद को टर्मिनेट करने लिखा

भोपाल

Published: March 29, 2022 12:31:21 am

भोपाल. वाहन चालकों से भारी भरकम टोल वसूलने के बाद भी राऊ-महू-मंडलेश्वर सहित प्रदेश की पांच सड़कों के निर्माण और रखरखाव से कंपनियों ने हाथ खड़े कर दिए। लंबे समय से टोल वसूली, सड़क निर्माण और मरम्मत कर रही कंपनियां को अब सड़कों का रखरखाव भारी पडऩे लगा है। गंगोत्री कंपनी ने डेहरदा-ईशागढ़, झाबुआ-जोबट-बागकुक्षी और थांदला-लिमड के मरम्मत का काम बंद कर दिया है। अब इन सड़कों पर मरम्मत का काम एमपीआरडीसी गंगोत्री कंपनी की किस्तों से करा रहा है। वहीं पाथ-वे कंपनी ने एमपीआरडीसी को पत्र लिखकर अपने आप को टर्मिनेट करने के लिए कहा है। पाथ-वे कंपनी खंडवा-डेढ़तलाई और महू-राऊ-मंडलेश्वर में मरम्मत का काम जैसे-तैसे कर रही है। अब कंपनी इन सड़कों के निर्माण कार्य से खुद को अलग करना चाह रही है। कंपनी ने एमपीआरडीसी को इसके पीछे की वजह टोल वसूली में लगातार आ रही कमी का हवाला दिया है। उसका कहना है कि टोल वसूली से कंपनी निर्माण कार्य नहीं करा पा रही है। इसी कारण से खुद को टर्मिनेट करने के लिए लिखा है। क्योंकि अगर एमपीआरडीसी उसे टर्मिनेट करता है तो उसे तमाम तरह के पेनाल्टी क्लाज से राहत मिल जाएगी। हालांकि एमपीआरडी ने अभी दोनों में से किसी कंपनी को टर्मिनेट नहीं किया है।
अभी दोनों कंपनी वसूल रही टोल
अभी पाथ-वे और गंगोत्री दोनों कंपनी इन पांचों सड़कों से टोल वसूल रही हैं। इसके बाद भी इन्हें सड़कों के संधारण करने में दिक्कत आ रही है। जानकारों का मानना है कि अब इन सड़कों की स्थिति ज्यादा खराब हो गई है, इस कारण कंपनियों मरम्मत के काम से बचना चाह रही हैं। इस मामले में एमपीआरडीसी का कहना है कि ये कंपनियां जहां सड़क की मरम्मत नहीं कर रही है, वहां एमपीआरडीसी खुद कर रहा है। निर्माण की राशि कंपनियों की किस्तों से वसूल की जा रही है।
पांच कंपनियां पहले छोड़ चुकी हैं सड़कें
पिछले पांच वर्षों में प्रदेश में सड़क बनाने वाली पांच कंपनियां भोपाल बायपास सहित 10 सड़कों के रखरखाव से हाथ खींच चुकी हैं। अब इन सड़कों के निर्माण और मरम्मत करने का काम या तो एमपीआरडीसी कर रहा है या फिर किसी नई एजेंसी को दिया गया है। इनमें सबसे ज्यादा ए-सेल ग्रुप हंै, जिसने सागर-दमोह, दमोह-जबलपुर, महू-घाटा-बिल्लोद, भिंड-मियोना-गोपालपुरा, बीना-खिमलासा-मालथोन सड़कों के रखरखाव से हाथ खीचे हैं। जबकि बलेचा कंपनी ने लेबड-मानपुर, ट्रांसट्राय कंपनी ने भोपाल बायपास और रेमकी कंपनी ने सीहोर-इछावार-कोसमी और इंदौर-उज्जैन के निर्माण से अपने को अलग किया है। सड़क निर्माण नहीं करने को लेकर कई कंपनियों के मामले ट्रिब्युनल और कोर्ट में भी चल रहे हैं।
Mp Toll: टोल वसूली कर भर ली जेब, मरम्मत से पीछे हट रहीं कंपनियां
Mp Toll: टोल वसूली कर भर ली जेब, मरम्मत से पीछे हट रहीं कंपनियां

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

Drone Festival: दिल्ली के प्रगति मैदान में भारत के सबसे बड़े ड्रोन फेस्टीवल का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदीअजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातपहली बार हिंदी लेखिका को मिला अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार, एक मॉं की पाकिस्तान यात्रा पर आधारित है उपन्यासजम्मू कश्मीर: टीवी कलाकार अमरीन भट की हत्या का 24 घंटे में लिया बदला, तीन दिन में सुरक्षा बलों ने मारे 10 आतंकीमहरौली में गैस पाइपलाइन में लीकेज के बाद जोरदार धमाका लगी आग, एक घायलमानसून ने अब तक नहीं दी दस्तक, हो सकती है देरखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचलमहंगाई का असर! परिवहन मंत्रालय ने की थर्ड पार्टी बीमा दरों में बढ़ोतरी, नई दरें जारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.