mp vidhan sabha: कोरोना को लेकर विपक्ष ने सरकार को घेरा, सीएम ने मांगा विपक्ष का साथ

मध्यप्रदेश विधानसभा का एक दिवसीय सत्र, कई प्रस्तावों और विधेयकों को मिली मंजूरी...।

By: Manish Gite

Published: 21 Sep 2020, 12:08 PM IST

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा का एक दिवसीय सत्र सोमवार को हो गया। कोरोनाकाल में सुरक्षा इंतजामों के बीच एक दिन में ही सारे काम निपटाने के लिए एक दिवसीय सत्र आयोजित किया गया था। विधानसभा में फिजिकली उपस्थित होने के लिए सीमित संख्या रखी गई। इनमें विधानसभा में 61 और वर्चुअल रूप से 141 विधायक शामिल होंगे। सीएम, 16 मंत्री समेत 32 विधायक भाजपा की ओर से शामिल हुए, जबकि कांग्रेस की ओर से कमलनाथ समेत 22 विधायक शामिल हुए बसपा की तरफ से विधायक संजीव सिंह, सपा विधायक राजेश शुक्ला और निर्दलीय विधायक प्रदीप जायसवाल भी शामिल थे। जबकि शेष विधायक वर्चुअल रूप से विधानसभा की कार्यवाही में शामिल हुए।

 

Live Updates

12.50 pm

विधानसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के स्थगित...।

12.48 pm

यह प्रस्ताव पारित

  • मध्यप्रदेश विनियोग विधेयक 2020
  • मध्यप्रदेश वेट संशोधन विधेयक पारित।
  • मप्र साहूकार संशोधन विधेयक 2020
  • मध्यप्रदश वेट (संशोधन) विधेयक 2020
  • मध्यप्रदेश माल और सेवाकर संशोधन विधेयक 2020
  • मध्यप्रदेश वित्त विधेयक 2020
  • मध्यप्रदेश नगर पालिका विधि संशोधन विधेयक 2020
  • अनुसूचित जनजाति ऋण विमुक्ति विधेयक 2020

12.45 pm

मुख्यमंत्री चौहान ने सदन में कहा कि विपक्ष भी कोरोना से निपटने में सहयोग प्रदान करें। हम सब मिलकर इस महामारी से लड़े और उसे परास्त करें। मध्य प्रदेश की स्थिति अन्य राज्यों से बेहतर है। मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य में रिकवरी रेट 77% है।आवश्यक ऑक्सीजन बेड और व्यवस्थाएं सुनिश्चित की गई है। कोरोना की स्थिति की प्रतिदिन समीक्षा वे खुद कर रहे हैं। 23 मार्च से अब तक उपचार और रोगियों की देखरेख के सभी उत्तम प्रबंध सुनिश्चित किए गए हैं।

12.30 pm
काफी देर हंगामे के बीच सभी विधेयक पारित कर दिए गए। सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई।

12.15 pm
नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया, कि वे कोरोना की जानकारी दें। उन्होंने निजी अस्पताल में हो रही लापरवाही के आरोप लगाए। इस पर सदन में हंगामा शुरू हो गया।

12.12 pm
विधायक दल कांग्रेस के मुख्य सचेतक गोविंद सिंह ने और नेता प्रतिपक्ष ने चर्चा कराने का अनुरोध किया। इसके बाद भोपाल दक्षिण से विधायक पीसी शर्मा ने कोरोना का मुद्दा उठाया।

12.10 pm
विधानसभा की कार्यवाही दिवंगतों के सम्मान में 5 मिनट के लिये स्थगित।


12.05 pm
नेता प्रतिपक्ष ने निजी अस्पताल हो रही लापरवाही का मुद्दा उठाया।
संसदीय कार्य मंत्री अध्यादेशों/पत्रों का पटल पर रखा गया।

11.45 am

विधानसभा के एक दिवसीय सत्र में आधा दर्जन अध्यादेश और चार विधेयक पेश किए जाएंगे।

11.30 an

सभी मंत्री और विधायकों की सीमित संख्या थी। उन्हें डिस्टेंसिंग के साथ विधानसभा के सदन में बैठाया गया था।

11.15 am

सोशल डिस्टेंगिंग के साथ विधानसभा में पहुंचे मंत्री और विधायक। विधानसभा में प्रवेश से पहले सभी की हुई स्क्रीनिंग। सभी को सैनेटाइजर से हाथ साफ कराने के बाद प्रवेश मिला। सभी नेता मास्क के साथ पहुंचे थे।

11.00 am
विधायकों का विधानसभा परिसर में पहुंचने का सिलसिला शुरू।

vidhansabha1.png

10.50 am
विधानसभा सत्र शुरू होने के पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा से मुलाकात की।

10.45 am
धरना प्रदर्शन को देख विधानसभा के आसपास धारा 144 लगाई गई है। पुलिस बल भी तैनात।

10.30 am
विधानसभा सत्र से धरने पर कांग्रेस विधायक

-विधानसभा सत्र शुरू होने से पहले गाडरवारा की कांग्रेस विधायक सुनीता पटेल धरने पर हैठ गईं। वे गांधीगीरी करते हुए नजर आईं। वे गांधीजी की प्रतिमा के समक्ष बैठ गई। उन्होंने नरसिंहपुर जिले के एएसपी राजेश तिवारी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। वे एएसपी को हटाने पर अड़ गई हैं।

-उनका आरोप है कि वे अवैध खनन करवाते हैं। गौरतलब है कि कुछ विधायक सीमित मात्रा में विधानसभा पहुंचे हैं। जबकि बाकी क्वारंटीन विधायक वर्चु्अल रूप से इस सत्र में शामिल हो रहे हैं।

-उन्होंने राजेश तिवारी को हटाने के लिए विधायक विश्राम गृह में भी पोस्ट लगा दिए थे। अधिकारियों ने उन्हें समझाने का काफी प्रयास किया, लेकिन वे अपनी बात पर अड़ी हुई हैं।

photo.jpg

किसानों का प्रदर्शन

प्रदेश के कुछ इलाकों से आए किसानों ने प्रदेश भाजपा कार्यालय से विधानसभा तक रैली निकालकर प्रदर्शन किया। किसान भूमिअधिगृहण कानून को वापस लेने की मांग कर रहे थे। साथ ही सरकार पर किसान विरोधी नीति लागू करने के नारे लगा रहे थे। हालांकि विधानसभा जाने से पहले ही उन्हें रास्ते में ही रोक लिया गया।

विधानसभा का वर्चुअल सत्र कराने का फैसला, पत्रिका ने प्रमुखता से उठाया था यह मुद्दा

Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned