MP में है 10 लाख से अधिक पढ़े-लिखे बेरोजगार, जो बनना चाहते हैं पटवारी

प्रदेश में बेरोजगारी की भयावह तस्वीर पटवारी भर्ती परीक्षा में सामने आई है। 9235 पदों के लिए करीब १० लाख २० हजार अभ्यर्थियों ने फार्म भरा। यानी प्रदेश

By: Manish Gite

Published: 09 Dec 2017, 03:57 PM IST

 

 

भोपाल. प्रदेश में बेरोजगारी की भयावह तस्वीर पटवारी भर्ती परीक्षा में सामने आई है। 9235 पदों के लिए करीब १० लाख २० हजार अभ्यर्थियों ने फार्म भरा। यानी प्रदेश का हर 70वां नागरिक पटवारी बनने की दौड़ में है। अभ्यर्थियों में इतना कड़ा मुकाबला है कि एक पद के लिए १०९ अभ्यर्थी कतार में हैं। वे भी ऐसे-वैसे नहीं। कोई बीटेक या एमबीए डिग्रीधारी है तो कोई पीएचडी और एमटेक। अनुमान के मुताबिक इस परीक्षा के लिए बेरोजगारों की जेब से अब तक ४०० करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च हो चुका है। इसमें परीक्षा फीस, कोचिंग फीस, किताबों का खर्च आदि शामिल है।

सबधाणी कोचिंग के संचालक आनंद सबधाणी का मानना है कि मध्यप्रदेश के इतिहास में अभी तक की सबसे बड़ी भर्ती परीक्षा है। अभी प्रदेश में करीब सात हजार पटवारी कार्यरत हैं। करीब ९३०० इस परीक्षा से भर्ती होंगे। इसमें पीएचडी डिग्रीधारियों के अलावा पीएससी और आईएएस की तैयारी करने वाले युवाओं ने भी आवेदन किया है। अब परेशान करने वाली बात यह है कि चयन सिर्फ ९३०० का ही होना है। उधर परीक्षा नियंत्रक डॉ. एकेएस भदौरिया ने बताया कि आधार से उम्मीदवारों का सत्यापन होगा।

उम्मीद है इस बार आधार वेरीफिकेशन में कोई दिक्कत नहीं आएगी। परीक्षा के दौरान सर्वर ठीक रहे इसलिए यूआईडीए प्रबंधन को पत्र भी लिखा है। कलेक्टर और आयुक्त समन्वयक होंगे। परीक्षा केंद्र में दो पर्यवेक्ष रहेंगे। इसके अलावा दो पुरुष और एक महिला गार्ड तैनात रहेगी। सुरक्षा की मॉनीटरिंग के लिए भी सेल बनाया गया है।

 

9235 पटवारी के कुल पद निकाले गए

1020000 आवेदन करने वाले उम्मीदवार

परीक्षा चलेगी, 29 दिसंबर तक


१९ लाख : प्रदेश के दर्ज रोजगार कार्यालयों में बेरोजगारों की संख्या
आ वेदन करने की न्यूनतम योग्यता स्नातक थी। पिछली भर्ती परीक्षा में यह योग्यता १२वीं पास थी। यदि इस बार भी योग्यता १२वीं ही होती तो यह आंकड़ा ढ़ाई गुना अधिक हो सकता था।


प्रदेश में आखिरी बार २०१२ में करीब ढ़ाई हजार पदों के लिए निकली

ऐसे समझें 400 करोड़ का हिसाब
ऑनलाइन पॉर्टल फीस : ७ करोड़ १४ लाख रु.
फॉर्म ऑनलाइन जमा किए गए इसके लिए ७० रुपए फीस ली गई। इस प्रकार एमपी ऑनलाइन के खाते में फीस गई ७ करोड़ १४ लाख रुपए। थी।

इसके पहले वर्ष २०११ में ४० हजार पदों
परिवहन खर्च : १० करोड़ : ४ लाख लोग दूसरे शहर जाएंगे प्रति अभ्यर्थी औसतन खर्च २५० रुपए ।

फॉर्म भरने की फीस :
३८ करोड़ २५ लाख रुपए
सामान्य वर्ग के लिए ५०० रुपए और आरक्षित वर्ग के लिए २५० रुपए फीस थी। यदि औसत फीस ३७५ है तो पीईबी के पास फीस जमा हुई ३८.25 करोड़ रुपए।

किताबों का खर्च : हर अभ्यर्थी ने कम से कम एक किताब खरीदी। किताब का औसत मूल्य २५० रुपए। इस प्रकार किताबें खरीदी गई २५ करोड़ ५० लाख रुपए।

तैयारी का खर्च :२०० करोड़ : कम से कम २ लाख अभ्यर्थी बड़े शहरों में तैयारी के लिए आए। एक अभ्यर्थी का दो माह रहने और खाने का खर्च 10 हजार रु.। खर्च हुए २०० करोड़।

 

कोचिंग फीस : १२५ करोड़
करीब ५ लाख अभ्यर्थियों ने प्रदेश के अलग-अलग शहरों में कोचिंग की। कोचिंग पर औसतन एक अभ्यर्थी ने २५०० रु. खर्च किए। इस प्रकार कोचिंग पर खर्च हुए १२५ करोड़।

 

परीक्षार्थियों की कलाई पर बंधेगा खास बेंड
मुन्नाभाईयों की धरपकड़ के लिए प्रत्येक परीक्षार्थी की कलाई में बैंड बांधा जाएगा। इसमें परीक्षा केंद्र की डिटेल के साथ पटवारी भर्ती परीक्षा २०१७ लिखा होगा।

परीक्षा के दौरान 3 चैक पाइंट होंगे। आधार वेरीफिकेशन होने पर ही प्रवेश मिलेगा।

१६ शहरों में ८५ परीक्षार्थी केंद्र बनाए हैं। भोपाल में सबसे अधिक २६ परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। हर पाली में २६ हजार छात्र बैठेंगे। पहली पाली सुबह ९ से ११ बजे व दूसरी पाली दोपहर ३ से शाम ५ बजे तक।


बेरोजगारी पर राज्य सरकार का दावा
वाणिज्य, उद्योग एवं रोजगार विभाग के मुताबिक जॉब फेयर योजना के तहत पिछले डेढ़ वर्ष में एक लाख 9 हजार से अधिक युवाओं को रोजगार दिलवाया गया। वर्ष 2016-17 में 71 हजार 973 और वर्ष 2017-18 में सितम्बर-2017 तक 38 हजार 92 युवाओं को रोजगार दिलवाया गया।


सरकार ने हर साल दो लाख लोगों को रोजगार देने का वादा किया था, लेकिन यह वादा सिर्फ कागजी ही रहा। लोगों को रोजगार मिलना तो दूर नौकरी भी छिनने लगी है। सरकारी विभागों में पदों की कटौती बड़ा उदाहरण है।
-अरुण यादव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष


हमारी सरकार ने रोजगार के कई अवसर उपलब्ध कराए हैं। पटवारी भर्ती को लेकर युवाओं में उत्साह है, इसलिए बड़ी संख्या में आवेदन आए हैं। इससे योग्य के चयन का मौका मिलेगा।
-लोकेंद्र पाराशर, मीडिया प्रभारी भाजपा

MP Patwari Recruitment 2017
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned