mpbse 12th result 2020: कोरोना काल में 68.81 प्रतिशत स्टूडेंट्स हुए पास, सीएम शिवराज और कमलनाथ ने दी बधाई

12वीं का रिजल्ट घोषितः मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दी बच्चों को बधाई...।

By: Manish Gite

Updated: 27 Jul 2020, 04:04 PM IST

भोपाल। माध्यमिक शिक्षा मंडल की 12वीं (हायर सेकंडरी स्कूल सर्टिफिकेट) की परीक्षा का रिजल्ट घोषित हो गया। इस रिजल्ट में इस बार कोरोना महामारी का भी असर देखने को मिला। परीक्षा में इस साल तीन प्रतिशत कम स्टूडेंट्स पास हुए। इस साल 68.81 प्रतिशत नियमित परीक्षार्थी पास हुए। इनके अलावा 28.70 प्राइवेट परीक्षार्थी पास हुए। रिजल्ट जारी करते हुए स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा है कि इस बार कोरोना काल के कारण रिजल्ट निराशाजनक रहे हैं, पिछले साल से करीब तीन प्रतिशत रिजल्ट कम आया है।

मुख्यमंत्री ने दी सफल छात्रों को बधाई

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इस समय कोरोना संक्रमित होने के कारण अस्पताल में भर्ती हैं, उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा है कि #MPBoard की 12वीं की परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले सभी भांजे-भांजियों को हार्दिक बधाई। मेरे बच्चों तुम्हारी मेहनत का यह सुखद परिणाम है। उज्ज्वल भविष्य के लिए सतत श्रम करते रहो। शिक्षा से ही तुम्हारे सपने साकार होंगे। तुम सफल हो, आगे बढ़ो, मेरी शुभकामनाएं तुम्हारे साथ हैं!

बोर्ड ने बताया कि इस साल 64.66 प्रतिशत नियमित छात्र और 73.40 प्रतिशत नियमित छात्राएं सफल हुई हैं। जबकि शासकीय स्कूलों का प्रतिशत 71.43 प्रतिशत रहा। अशासकीय स्कूलों की बात करें तो उसका रिजल्ट 64.93 प्रतिशत रहा।

 

 

पूर्व मुख्यमंत्री ने भी किया ट्वीट :-:

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने भी ट्वीट कर सभी बच्चों को बधाई है। कमलनाथ ने कहा है कि जो विद्यार्थी सफल नहीं हो पाये हैं, वो निराश ना हो, हार ना माने। ज़िंदगी में कई अवसर आयेंगे। प्रयास करते रहिये, निश्चित सफल होंगे।

 

मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र ने भी किया ट्वीट

स्कूल शिक्षा मंत्री बोले छात्रों को मिलेंगे लैपटाप

इधर, मध्यप्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा है कि इस बार अव्वल छात्रों को लैपटाप दिए जाएंगे। उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा है कि पिछले साल के बच्चों के बारे में फैसला बाद में लिया जाएगा। क्योंकि पिछली सरकार ने यह योजना बंद कर दी थी। इसलिए पिछले साल के बच्चों को लैपटाप नहीं मिल रहे हैं। इस बारे में मुख्यमंत्री के साथ चर्चा के बाद फैसला लिया जाएगा। फिलहाल इस बार अव्वल आने वाले छात्रों को लैपटाप दिए जाएंगे।

टापर्स की लिस्ट :-:

बोर्ड के मुताबिक इस बार कला संकाय में 19 परीक्षार्थी टॉप-10 में आए हैं। वहीं विज्ञान-गणित संकाय में 37 स्टूडेंट्स, विज्ञान संकाय में 19 स्टूडेंट्स, कामर्स में 34 परीक्षार्थी, कृषि संकाय में 07 स्टूडेंट्स, वहीं ललितकला और गृह विज्ञान में 5 परीक्षार्थियों ने प्रदेश की टॉपर लिस्ट में स्थान बनाया है।

 

नीमच जिला टाप पर:-:

मध्यप्रदेश में शासकीय स्कूलों में नीमच जिला सबसे ऊपर रहा। यहां शासकीय स्कूलों का 84 प्रतिशत रिजल्ट रहा। वहीं प्राइवेट स्कूल का रिजल्ट 76.57 प्रतिशत रहा।
-वहीं प्रदेश में रेगुलर और प्राइवेट परीक्षार्थियों की बात करें तो हरदा जिला सबसे ऊपर रहा। यहां 81.97 प्रतिशत रेगुलर स्टूडेंट्स पास हुए हैं, जबकि प्राइवेट परीक्षा देने वाले छात्रों का प्रतिशत 30.50 प्रतिशत रहा।

 

यह हैं नियमित स्टूडेंट्स :-:

659729 नियमित परीक्षार्थियों के परिणाम घोषित किए गए। प्रदेशभर में 277750 परीक्षार्थी प्रथम श्रेणी में पास हुए हैं। 161544 परीक्षार्थी सेकंड डिविजन में पास हुए हैं, वहीं 14704 परीक्षार्थी तृतीय श्रेणी में और 10 परीक्षार्थी उत्तीर्ण श्रेणी में आए हैं।

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में 3657 परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा का आयोजन किया गया था। इससमें 660574 परीक्षार्थी नियमित और 124282 परीक्षार्थी प्राइवेट थे।

 

Kamal Nath
Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned