मूक-बधिर बच्चों और परिजनों को फोन के माध्यम से गाईड कर रहे वार्डन, ताकि बच्चों में हो सकें बौद्धिक विकास

उचित माध्यम बताकर घर में प्रेक्टिस कराई जा रही जिससे बच्चों में बौद्धिक विकास हो सकें।

By: Amit Mishra

Published: 18 Apr 2020, 12:58 PM IST

भोपाल। कोरोना महामारी के संक्रमण को देखते हुए केंद्र सरकार ने देश में लॉक डाउन लगा दिया है साथ ही छात्रावास में रहकर पढ़ाई कर रहे बच्चों को भी अपने घर जाने के निर्देश दे दिए गए थे,जिससे बच्चों में कोरोना महामारी का संक्रमण न हो। छात्रावास से जाकर बच्चे अपनी पढाई निरंतर आगे करते रहे और इसके लिए CWSN छात्रावास के सहायक वार्डन शिवांसु शुक्ला द्वारा बच्चों और उनके परिजनों को फोन के माध्यम से गाईड किया जा रहा है।

मूक-बधिर बच्चे अपने घर में है
CWSN छात्रावास के सहायक वार्डन शिवांसु शुक्ला बताते है कि बिसनखेड़ी स्थ्ति CWSN छात्रावास में मूक-बधिर बच्चों को पढ़ाया जाता है। कोरोना महामारी के संक्रमण को देखते हुए सभी मूक-बधिर बच्चे अपने घर में है। बच्चों की पढ़ाई निरंतर चलती रहे इसके लिए हमने होम बेस्ड टेलीफोनिक शिक्षा के माध्यम से बच्चों और परिजनों को गाईड कर रहे है साथ ही बच्चों को उचित माध्यम बताकर घर में प्रेक्टिस कराई जा रही जिससे बच्चों में बौद्धिक विकास हो सकें।

 

बच्चों को सिखा रहे है
छात्रावास के सहायक वार्डन शिवांसु शुक्ला ने बताया कि होम बेस्ड टेलीफोनिक शिक्षा के माध्यम सें हम मुख्य रूप से बच्चो को ग्रिपिंग करना ,चित्र को देखकर जानवरों की पहचान करना,किताब पढना आदि बच्चों को सिखा रहे है।

Amit Mishra
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned