scriptnakli note: froud news, bhopal news, shatir badmash | nakli note: नकली इतना असली कि मशीन भी नहीं पकड़ सकी, जमा हो गए खाते में, दो गिरफ्तार | Patrika News

nakli note: नकली इतना असली कि मशीन भी नहीं पकड़ सकी, जमा हो गए खाते में, दो गिरफ्तार

दो लाख में खरीदे 6 लाख के नकली नोट, मशीन से अपने खाते में जमा कर चलाने का निकाला था तरीका

- क्राइम ब्रांच नकली नोट के दो सरगना की कर रही तलाश, दोनों अफ्रीकन मूल के

- सरगना ने सोशल मीडिया पर की दोस्ती, बेचे नकली नोट

भोपाल

Updated: May 13, 2022 01:30:24 am

भोपाल. क्राइम ब्रांच ने 500-500 के नकली नोट खपाने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दोनों एक अनाज कंपनी के पूर्व एजेंट हैं। धंधे में हुए घाटे को भरने की लालच में दोनों सलाखों के पीछे पहुंच गए। उन्हें अफ्रीकन मूल के दो सरगनाओं ने भोपाल में दो लाख रुपए के बदले 6 लाख के नकली नोट दिए थे। दोनों ने पैसों को जल्द खपाने के लिए बंच नोट एक्सेप्टर (बीएनए) मशीन से अपने खाते में पैसे जमा किए। नकली नोट भी ऐसा था कि मशीन भी नहीं पकड़ सकी। दोनों को अफ्रीकन मूल के सरगनाओं ने 6 लाख के नकली नोट खपाने के बाद 6 लाख के असली नोट के बदले 12 लाख के डॉलर देने का वादा किया था।
nakli note: नकली इतना असली कि मशीन भी नहीं पकड़ सकी, जमा हो गए खाते में, दो गिरफ्तार
nakli note: नकली इतना असली कि मशीन भी नहीं पकड़ सकी, जमा हो गए खाते में, दो गिरफ्तार
डीसीपी क्राइम ब्रांच अमित कुमार ने बताया कि 11 मई को आईडीबीआई बैंक की टीटी नगर ब्रांच के मैनेजर अतुल मिश्रा ने शिकायत की थी कि किसी ने बीएनए मशीन में 500-500 रुपए के 47 नकली नोट एक खाते में जमा कराए हैं। पुलिस ने मशीन के कैमरे के फुटेज देखे तो पता चला कि टोपी और मास्क लगा एक युवक ने 23500 रुपए जमा किए। हुलिए और खाता नंबर के आधार पर सागर स्टेट अयोध्या नगर के संजय (27) पिता सुंदरलाल राजपूत को हिरासत में लिया। उसके घर से 500-500 के 232 और पवनीश से 472 नकली नोट बरामद किए हैं।
फेसबुक पर दोस्ती के बाद खरीदे नोट

संजय ने पुलिस को बताया, वह ग्वालियर रीजन की एक अनाज कंपनी में यूपी के पवनीशकांत द्विवेदी (42) के साथ एजेंट था। कंपनी वेयर हाउस से अनाज खरीदती थी। इसमें उसे घाटा हुआ। फिर दोनों को फेसबुक पर अफ्रीकन मूल के स्माइल और पाल ने फे्रंड रिक्वेस्ट भेजी और नकली नोट देने की जानकारी दी। 3 माह पहले पवनीश व संजय की लखनऊ जाते समय ट्रेन में स्माइल और पॉल से डील हुई। कुछ दिन पहले दोनों सरगना ने भोपाल में विदेशी महिला के पासपोर्ट पर कमरा बुक किया था। दोनों ने संजय और पवनीश को 1-1 लाख के बदले 3-3 लाख दिए थे।
बैंगलुरू से चलाते थे नेटवर्क

मुख्य सरगना बैंगलोर से नकली नोट सप्लाई करने का नेटवर्क चलाता है। क्राइम ब्रांच ने बैंगलुरू में दबिश दी लेकिन दोनों पहले ही वहां से भाग निकले। उनके वाट्सअप कॉल और मैसेंजर वाले नंबर भी दूसरे व्यक्ति का मिला।
महिलाएं और बच्चे थे सॉफ्ट टारगेट-

संजय और पवनिश नकली नोट खपाने हमेशा बाहरी जगह को चुनते थे।

दुकान में जब काउंटर पर महिला या बच्चा होता तो वे सामान खरीदने जाते।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

आंध्र प्रदेश में जिले का नाम बदलने पर हिंसा, मंत्री का घर जलाया, कई घायलसेना का 'मिनी डिफेंस एक्सपो' कोलकाता में 6 से 9 जुलाई के बीचGujrat कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का विवादित बयान, बोले- मंदिर की ईंटों पर कुत्ते करते हैं पेशाबRajya Sabha Election 2022: राजस्थान से मुस्लिम-आदिवासी नेता को उतार सकती है कांग्रेस'तुम्हारे कदम से मेरी आँखों में आँसू आ गए', सिंगला के खिलाफ भगवंत मान के एक्शन पर बोले केजरीवालसमलैंगिकता पर बोले CM नीतीश कुमार- 'लड़का-लड़का शादी कर लेंगे तो कोई पैदा कैसे होगा'Women's T20 Challenge: वेलोसिटी ने सुपरनोवास को 7 विकेट से हरायानवजोत सिंह सिद्धू को जेल में मिलेगा स्पेशल खाना, कोर्ट ने दी अनुमति
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.