बच्चों को जरा भी दिक्कत हो तो कराएं जांच, सबसे बड़े अस्पताल में शुरु हुई नई सुविधा

नवजात और गर्भ में पल रहे बच्चे की बीमारियों की जांच हुई आसान

By: deepak deewan

Updated: 14 Sep 2021, 03:47 PM IST

भोपाल. नवजात शिशुओं की देखभाल करना बहुत कठिन होता है. ऐसे में यदि बच्चे बीमार हो जाएं तो माता—पिता की परेशानी बढ जाती है. आमतौर पर बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति हम बेहद संवेदनशील होते हैं और उनको स्वास्थ्य संबंधी जरा भी दिक्कत होते ही सीधे पीडियाट्रिक के पास भागते हैं. हालांकि बच्चों की बीमारी पता करना डाक्टर्स के लिए भी कठिन होता है.

इसी के साथ गर्भ में पल रहे बच्चों के स्वास्थ्य के लिए भी माता—पिता प्राय: चिंतित रहते हैं. गर्भ में पल रहे रहे शिशुओं की जांच के लिए जब—तब डाक्टर्स के पास जाना भी गर्भकाल में संभव नहीं होता है. ऐसे में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स में अब नवजात शिशु एवं गर्भ में पल रहे बच्चों की जांच के लिए एक नई और अत्याधुनिक सुविधा शुरु की गई है.

इससे न केवल भोपाल बल्कि आसपास के कई जिलों के लोगों को लाभ मिल सकेगा. यहां शुरु की गई सुविधा से नवजात शिशु एवं गर्भ में पल रहे बच्चों की जांच आसान हो जाएगी. एम्स में पीडियाट्रिक विभाग के अंतर्गत हीमोग्लोबिन लैब स्थापित की गई है. इस लैब में नवजात शिशु एवं गर्भ में पल रहे बच्चों में खून से जुड़ी कई बीमारियों का पता लगाया जा सकेगा।

child_.jpg

पीडियाट्रिक विभाग के अंतर्गत बनी हीमोग्लोबिन लैब का लोकार्पण निदेशक डॉ. सरमन सिंह ने किया। इस लैब की स्थापना एनएचएम मप्र की ब्लड सेल के सहयोग से की गई है। एम्स से मिली जानकारी के अनुसार इस अत्याधुनिक लैब में थैलीसीमिया, हीमोग्लोबिनोपैथी से जुड़ी जांचें की जाएंगी ताकि नवजात और गर्भस्थ शिशु को गंभीर बीमारियों से बचाया जा सके।

सबसे बड़ा घोटाला- 2 अरब रुपए से ज्यादा की गड़बड़ी

लैब में सभी जांचें विशेषज्ञों की देखरेख में ही की जाएंगी. यहां के टैक्नीशियन 2 से 3 दिन के बच्चे का ब्लड सैंपल लेकर उसकी विस्तार से जांच करेंगे। निदेशक डॉ. सरमन सिंह का कहना है कि इस नई प्रयोगशाला से न सिर्फ भोपाल बल्कि मध्य भारत के लोगों को फायदा होगा। इतना ही नहीं, हीमोग्लोबिन लैब के चालू होने से
पीडियाट्रिक का काम भी कुछ आसान हो जाएगा.

deepak deewan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned