ज्वाइनिंग करने आए युवक की ऐसे खुल गई पोल,जालसाजी का प्रकरण दर्ज

ज्वाइनिंग करने आए युवक की ऐसे खुल गई पोल,जालसाजी का प्रकरण दर्ज

Deepesh Tiwari | Publish: Feb, 15 2018 07:25:57 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

फिजिकल एग्जाम में पास होने के बाद ज्वाइनिंग के समय बॉयोमैट्रिक से मिलान नहीं...

भोपाल। व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) की पुलिस कम्प्यूटर संवर्ग की भर्ती परीक्षा फर्जी तरीके से पास करने के मामले में पुलिस ने एक अभ्यर्थी के खिलाफ जालसाजी का प्रकरण दर्ज किया है।

आरोपी लिखित और फिजिकल एग्जाम में पास होने के बाद ज्वाइनिंग के समय बॉयोमैट्रिक से मिलान नहीं होने पर पकड़ा गया। पुलिस का कहना है कि जांच के बाद पूरे मामले का खुलासा हो सकेगा।

ये बोली पुलिस...
बिलखिरिया थाना प्रभारी वीबीएस सेंगर के मुताबिक 27 जुलाई 2016 को ट्रिनिटी इंस्ट्टीयूट आॅफ टेक्नोलॉजी में पुलिस कम्प्यूटर संवर्ग की भर्ती परीक्षा हुई थी। इसमें अंगूठे का बॉयोमेट्रिक से वेरिफिकेशन होने के बाद परीक्षार्थियों को शामिल किया गया था। यहां ऋषि कुमार नामक परीक्षार्थी भी परीक्षा में प्रवेश गया।

ऋषि फिजिकल देने मोती लाल नेहरू स्टेडियम में भी प्रवेश कर गया,जहां वह बॉयोमेट्रिक को चकमा देने में कामयाब हो गया और यहां वेरिफिकेशन भी करा लिया।

ऐसे फंसा पेंच...
दोनों जगह ऋषि का सिलेक्शन हुआ था, लेकिन छिंदवाड़ा में ज्वाइनिंग के समय बॉयोमेट्रिक मिलान में उसका वेरिफिकेशन नहीं हो सका। बाद में विभाग ने छिंदवाड़ा में केस दर्ज कराया था। जहां से केस डायरी भोपाल पुलिस को भेज दी। अब आरोपी युवक से पूछताछ के बाद पता चलेगा कि उसके स्थान पर किस व्यक्ति ने परीक्षा दी है। उसके बाद ही पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी।

इधर, इस कारण नहीं जारी हो पा रहा पटवारी परीक्षा का रिजल्ट!:-
मध्यप्रदेश में बीते साल 9 दिसंबर से 29 दिसंबर तक पीईबी ने पटवारी भर्ती patwari resultपरीक्षा आयोजित की थी।इसमें 9 हजार पदों के लिए 12 लाख परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी। परीक्षा को हुए दो महिने patwari exam 2017 हो चुके है, लेकिन परिणाम अभी तक घोषित नही किए गए है। अब सभी को रिजल्ट का इंतजार है।

patwari result 2017

दरअसल, इसमें 9 दिसंबर को पहली पाली की परीक्षा में 8 हजार परीक्षार्थी result of MP patwari परीक्षा देने से वंचित रह गए थे। इन परीक्षार्थियों को तकनीकी खामियों की वजह से परीक्षा से बाहर कर दिया गया था। तकनीकी खामियों की वजह से परीक्षा के पहले ही दिन खूब हंगामा हुआ था। इसके बाद 21 दिसंबर से 29 दिसंबर की परीक्षा तिथि में वंचित रह गए छात्रों को वापस बैठने का मौका दिया गया था।

बोर्ड ने वापस से इन परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्र जारी किए थे, ताकि दिक्कतें नहीं आए।वहीं परीक्षा के दौरान करीब 125 ऐसे परीक्षार्थी result of MP patwari मिले थे, जिन्हें अनुचित साधनों (अनफेयर मीन्स) में शामिल माना गया है। अब इन पर फैसला पीईबी की निराकरण समिति को करना है। इसी के चलते परिणाम फरवरी में नहीं आ पाएगा। अब मार्च के दूसरे सप्ताह में ही परिणाम आने की उम्मीद है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned