scriptNew wheat arrived in the market 20 days ago, rate also very low | मंडी में 20 दिन पहले ही आ गया 'अन्नपूर्णा' गेंहू , रेट भी बहुत कम | Patrika News

मंडी में 20 दिन पहले ही आ गया 'अन्नपूर्णा' गेंहू , रेट भी बहुत कम

locationभोपालPublished: Feb 01, 2024 09:19:16 am

Submitted by:

Ashtha Awasthi

भोपाल। नए सीजन के गेहूं का भोपाल मंडी में बुधवार को श्रीगणेश हो गया। नया गेहूं अन्नपूर्णा (1544) क्वालिटी का था जिसकी आवक करीब 20 दिन पहले हो गई। व्यापारियों ने अगरबत्ती लगाकर और नारियल फोडकर इस गेहूं की बोली लगाई, जो अधिकतम 2800 रुपए प्रति क्विंटल तक गई। इसे मंडी में रातीबढ़ रोड़ के किसान सुनील कुमार लेकर आए थे, जिसे विक्की ट्रेडर्स ने ख्ररीदा, गेहूं की मात्रा 14 क्विंटल थी।

1.jpg
wheat

मंडी में थोक गेहूं कारोबारी संजीव जैन ने बताया कि नए गेहूं की आवक जल्दी शुरू हो गई। हालांकि नया सीजन आने में अभी करीब 20 दिन बाकी है। उनका कहना है कि अभी गेहूं में 16- 17 प्रतिशत मॉस्चर (नमी) आ रही है, जबकि पूरी तरह से पके गेहूं में नमी की मात्रा 11 प्रतिशत के आसपास होती है।

एमपी में है शरबती किस्म का है बोलबाला

मध्य प्रदेश के सिहोर में शरबती किस्म के गेंहू का बोल-बाला है। यहीं पर गोल्डन ग्रेन की खेती की जाती है, जिसके भाव बाजार में साधारण गेहूं से कहीं अधिक है। इतना ही नहीं, दिल्ली जैसे बड़े-बड़े शहरों में इसका आटा भी महंगा बिकता है, लेकिन तब भी लोग आगे से आगे शरबती गेहूं या इसका आटा खरीदते हैं। शरबती गेहूं की एक क्षेत्रीय किस्म है, जो अशोकनगर और मध्य प्रदेश के कुछ अन्य जिलों में उगाए जाते हैं। गेहूं की इस किस्म की मांग ना सिर्फ भारत में है बल्कि विदेशी बाजारों में भी इस किस्म की मांग काफी ज्यादा है। इसे एमपी गेहूं के नाम से भी जाना जाता है। गेहूं की इस अनूठी किस्म को इसके स्वाद और पोषण के लिए सराहा जाता है।

ये है शरबती गेहूं की खासियत

शरबती गेहूं, वो प्रीमियम वैरायटी है, जो रंग, रूप और गुण में बाकी गेहूं से कहीं ज्यादा बलवान है। शरबती गेहूं में सबसे ज्यादा पोषक तत्व मौजूद होते हैं. हर 30 ग्राम शरबती गेहूं में 113 कैलोरी, 1 ग्राम वसा, आहार फाइबर समेत 21 ग्राम कार्बोहाइड्रेट , 5 ग्राम प्रोटीन, 40 मिलीग्राम कैल्शियम और 0.9 मिलीग्राम आयरन मौजूद होता है. इस गेहूं में मैग्नीशियम, सेलेनियम, कैल्शियम, जिंक और मल्टी विटामिन जैसे पौष्टिक तत्व भी होते हैं, जो किसी साधारण वैरायटी के गेहूं से मिलना मुश्किल है. तभी तो शरबती गेहूं से बनने वाले व्यंजनों का स्वाद भी अलग होता है।

ट्रेंडिंग वीडियो