सरकार की बड़ी सौग़ात, चुनाव से पहले इन सरकारी पदों पर होंगी 91 हजार भर्तियां

सरकार की बड़ी सौग़ात, चुनाव से पहले इन सरकारी पदों पर होंगी 91 हजार भर्तियां

By: Faiz

Published: 07 Jun 2018, 11:53 AM IST

भोपालः मध्य प्रदेश में इस साल के अंत तक विधानसभा चुनाव हो जाएंगे और साथ ही तय हो जाएगा कि, आगामी पांच सालों की बगडोर किसे संभालनी है, वैसे अभी स्थितिया काफी असमंजस की हैं। इसे लेकर प्रदेश की शिवराज सरकार अपने पिछले पंद्रह सालों की सत्ता की साख बचाने के लिए हर मुम्किन कोशिश में जुटी हुई है, जिसमें उसकी सबसे बड़ी रणनीति है रूठों को मनाना। सरकार के ऊपर हज़ारों दायित्व होते हैं ऐसे में किसी ना किसी का रूठना स्वभाविक है, हालांकि ये अलग बात है कि, बीजेपी ने लोगों को रूठने का ज़्यादा मौका दिया। फिलहाल, चुनाविक साल है तो सरकार का फोकस है कि, ज़्यादा से ज़्यादा लोगों खुश कर सकें, ताकि आगामी समय में इसका लाभ मिल सके।

सबसे ज्यादा टीचर्स के पद

इसी रणनीति के तहत सरकार ने प्रदेश के किसानो कोकई योजनाओं से जोड़कर उनके ग़म ग़लत करने का प्रयास किया। वहीं दूसरी तरफ एक और मास्टर स्ट्रोक खेलते हुए शिवराज सरकार इसी साल बड़े पैमाने पर सरकारी नौकरियां देने जा रही है। यह नोकरियां प्रदेश के छह विभागों में करीब 90 हजार 650 पदों पर दी जाएंगी, जिसकी सरकार ने युद्ध स्तर पर विभागीय तैयारी शुरू कर दी है। इन भर्तियों में सबसे ज़्यादा टीचर के पद पर भर्ती की जाएगी, जिसमें शिक्षा विभाग में 31 हजार 645 टीचर्स नियुक्त किए जाएंगे। साथ ही, 3500 एसोसिएट प्रोफेसरों के पद पर भी भर्ती की जाएंगे। हालाकि, इनमें अभी 60 हजार पद रिक्त हैं, फिलहाल शासन ने उसकी आधी नियुक्तियों की व्यवस्था बनाई है। साथ ही शासन की ओर से संबंधित सभी विभागों को यह निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं कि, अपने द्वारा सभी आधिकारिक प्रक्रियाओं को जल्द से जल्द पूरा करें, ताकि आने वाले विधानसभा चुनाव की आचार संहिता का असर भर्तियों पर ना पड़े।

नीजी क्षेत्र में भी मिलेंगी एक लाख नोकरियां

एक तरफ सरकार ने सरकारी नौकरियों के लिए एक साथ इतने रास्ते खोल दिए हैं, वहीं दूसरी तरफ सरकार खुद निजी क्षेत्र में भी स्किल्ड मैनपॉवर देने के लिए बड़ी कंपनियों से अनुबंध कर रही है। इस अनुबंध के मुताबिक, अगर सबकुछ अनुकूल रहा तो, इसी साल निजी क्षेत्रों में भी क़रीब एक लाख से ज्यादा लोगों को रोज़गार मिल जाएगा। बता दें कि, प्रदेश के विपक्षी दल कांग्रेस ने जैसे किसान को अपना चुनावी मुद्दा बना रखा है, उसी तरह सरकार को डर है कि, कहीं विपक्ष प्रदेश में बेरोज़गारी के मुद्दे को ना भुनाने लगे और वैसे भी सरकार द्वारा रिटायरमेंट की उम्र 62 साल करने पर कुछ युवा नाराज़ थे, क्यों कि रिटायरमेंट की उम्र बढ़ने पर युवाओं की नियुक्तियां रुक गई थीं।

इन विभागों में होगी भर्तियां

विधानसभा चुनाव से पहले सरकार जिन छह विभागों में युवाओं को भर्तियां देने की तैयारी कर चुकी है, इनमें स्कूल शिक्षा विभाग में सबसे ज़्यादा 31, 645 भर्तियां होंगी। वहीं, राजस्व विभाग में 9500 पटवारी के लिए, 400 नायब तहसीलदार के लिए और 100 अन्य पदों पर भर्ती होगी। साथ ही, उच्च शिक्षा विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर के पद पर 3500 नियुक्तियां होंगी, राजपत्रित अधिकारी (खेल अधिकारी व लाइब्रेरियन) के लिए 650 पद है और एक हजार वर्ग-3 व 4 के पद आउटसोर्सिंग से भरे जाएंगे। स्वास्थ्य निभाग में 1300 डॉक्टर, 700 पैरा मेडिकल स्टॉफ, 1053 स्टाफ नर्स तथा 500 शहरी क्षेत्र में एएनएम की भर्ती होंगी। वहीं, पुलिस विभाग में 8000 आरक्षकों और 4 हजार होमगार्डों की नियुक्ति की जाएगी। इसके अलावा, महिला एवं बाल विकास विभाग में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओँ के पद पर 3300 भर्तियां होंगी और 700 पर्यवेक्षक भी नियुक्त किए जाएंगे।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned