scriptNomination papers will be filled for Mayor-Councilor till June 18 | महापौर और पार्षद के लिए आज से 18 जून तक भरे जाएंगे नामांकन पत्र, जानिये चुनाव का अपडेट | Patrika News

महापौर और पार्षद के लिए आज से 18 जून तक भरे जाएंगे नामांकन पत्र, जानिये चुनाव का अपडेट

नगरीय निर्वाचन को लेकर भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पार्टियां ऐसे उम्मीद्वारों को मैदान में उतारने के लिए जुटी है, जो जीत सकें.

भोपाल

Published: June 11, 2022 10:38:54 am

भोपाल. मध्यप्रदेश में महापौर और पार्षद पद के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने की शुरूआत हो चुकी है, 11 जून से 18 जून दोपहर 3 बजे तक उम्मीद्वार नामांकन फार्म दाखिल कर सकेंगे। इसके बाद इसके बाद अगर किसी उम्मीद्वार को अपना नाम वापस लेना है, तो वह पांच दिन के बाद 22 जून दोपहर 3 बजे तक अपना नाम वापस ले सकता है, इसी दिन उम्मीद्वारों को चुनाव चिन्ह आवंटित कर दिए जाएंगे।

महापौर और पार्षद के लिए आज से 18 जून तक भरे जाएंगे नामांकन पत्र, जानिये चुनाव का अपडेट
महापौर और पार्षद के लिए आज से 18 जून तक भरे जाएंगे नामांकन पत्र, जानिये चुनाव का अपडेट

आपको बतादें कि प्रदेश में नगरीय निकायों के चुनावों का आगाज हो गया है, चुनाव तारीखों की घोषणा के साथ ही भाजपा-कांग्रेस सहित अन्य दलों से चुनाव लडऩे के लिए दावेदार सामने आने लगे, हालात यह हो गए कि दोनों प्रमुख पार्टियों में एक एक वार्ड से कई पार्षद खड़े होकर जीत दर्ज कराने का दावा करने लगे, ऐेसे में पार्टियों को उम्मीद्वार तय करने में भी काफी मंथन करना पड़ा, अब जैसे-जैसे पार्टियों उम्मीद्वारों को हरी झंडी देगी, वे अपना नामांकन पत्र दाखिल करने पहुंचेंगे।


पार्टियां जारी करेगी उम्मीद्वारों की लिस्ट
नगरीय निर्वाचन को लेकर भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पार्टियां ऐसे उम्मीद्वारों को मैदान में उतारने के लिए जुटी है, जो जीत सकें, इसलिए दोनों दलों के कार्यकर्ता से लेकर वरिष्ठ नेता तक सभी इस जोड़-तोड़ में लगे हैं कि किस वार्ड से कौन पार्षद और कौन महापौर के लिए सही रहेगा, बताया जा रहा है कि करीब 14 या 15 जून तक दोनों दल अपने अपने तय किए हुए उम्मीद्वारों की सूची जारी कर देगी।

यह भी पढ़ें : 1 आम की कीमत 1500 रुपए, नाम है नूरजहां, खरीदने के लिए टूट पड़े लोग

347 नगरीय निकायों में होगा चुनाव

निर्वाचन 347 नगरीय निकायों में होगा। इनमें नगरपालिक निगम 16, नगर परिषद 76 और 255 नगर परिषद् हैं। आयोग द्वारा 347 नगरीय निकायों के पार्षद और 16 नगरपालिक निगमों के महापौर का निर्वाचन प्रत्यक्ष प्रणाली से कराया जा रहा है। नामांकन फार्म के साथ प्रत्याशी को निक्षेप राशि भी जमा करनी होगी। महापौर के लिए 20 हजार, नगरपालिक निगम के पार्षद के लिए 5 हजार, नगरपालिका परिषद् के लिए 3 हजार और नगर परिषद के पार्षद के लिए एक हजार रूपये की निक्षेप राशि निर्धारित है। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं अन्य पिछडा़ वर्ग एवं महिला अभ्यर्थी के मामले में निर्धारित निक्षेप राशि की आधी राशि जमा करनी होगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Azamgarh Rampur By Election Result : रामपुर में सपा को बढ़त तो आजमगढ़ में फिर धर्मेंद यादव ने 'निरहुआ' को पीछे छोड़ाMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र की सियासी लड़ाई अब तेरे-मेरे बाप पर आई, संजय राउत बोले-बालासाहेब के नाम का इस्तेमाल न करेंबिहार ड्रग इंस्पेक्टर के घर पर छापेमारी, 4 करोड़ कैश और 38 लाख के गहने बरामदअश्विन और कोहली के बाद अब कप्तान रोहित शर्मा हुए कोविड पॉज़िटिव, नहीं खेलेंगे पहला टेस्टमेरे पास ममता बनर्जी को मनाने की ताकत नहीं: अमित शाहMumbai News Live Updates: महाराष्ट्र के सियासी संकट के बीच उद्धव की पत्नी रश्मि ठाकरे ने संभाला मोर्चा, बागी विधायकों की पत्नियों से की बातMaharashtra Political Crisis: वडोदरा में आधी रात को देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हुई थी मुलाकात, सुबह पहुंचे गुवाहाटीMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र का सियासी संकट जल्द खत्म होने के आसार कम! सदस्यता को लेकर बागी विधायक कर सकते है कोर्ट का रुख
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.